संजय झील के निर्माण को शीघ्र तैयार करें कार्य योजना

जागरण संवाददाता, ऋषिकेश : ऋषिकेश-हरिद्वार मार्ग पर काले की ढाल के समीप प्रस्तावित संजय झील के सौंदर्यकरण को लेकर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने वन विभाग, जल संस्थान व नमामि गंगे के अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने अधिकारियों को झील विकसित करने हेतु शीघ्र कार्ययोजना तैयार कर कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए।

मंगलवार को विधानसभा अध्यक्ष ने कैंप कार्यालय में आयोजित बैठक में कहा कि संजय झील में साहसिक खेल, पेडल बोट्स आदि वाटर स्पो‌र्ट्स शुरू किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि संजय झील बनने से स्थानीय लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे व क्षेत्र में पर्यटन बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि संजय झील प्राकृतिक रूप से अत्यंत सुंदर है, वह शहर के बीच में इस प्रकार के स्थान को विकसित करने से तीर्थाटन एवं पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा। साथ ही अध्यात्म के साथ-साथ पर्यटक भी इस स्थान का लुफ्त उठा सकेंगे। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि संजय झील के संबंध में वह पर्यटन मंत्री से भी बात करेंगे एवं उन्होंने वन अधिकारियों को संजय झील व तीन पानी स्थान की स्थलीय निरीक्षण करने का निर्देश दिए। वन विभाग के डीएफओ राजीव धीमान ने बताया कि संजय झील के विस्तारीकरण एवं सौंदर्यीकरण के लिए आर्किटेक्ट के द्वारा डिजाइनिग की जाएगी, उसके बाद कार्य में व्यय होने वाली धनराशि का आकलन किया जाएगा। उन्होंने ने बताया कि संजय झील के निर्माण में नमामि गंगे एवं इको टूरिज्म के मदद से निर्माण कार्य किया जाना है। साथ ही संजय झील में ड्रेगिग, ट्रैक रूट, सोलर लाइट, अस्थायी शौचालय पार्किंग की व्यवस्था, पैराफिट रेलिग एवं अन्य निर्माण कार्य किए जाने हैं। इस मौके पर नमामि गंगे के मुख्य वन संरक्षक भुवन चंद व जल संस्थान के अधिशासी अभियंता नमित रमोला आदि उपस्थित रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
Next Story