top menutop menutop menu

महिला कांग्रेस ने महंगाई पर सरकार को लिया आड़े हाथ Dehradun News

देहरादून, जेएनएन। महंगाई के मुद्दे पर कांग्रेस ने सरकार को आड़े हाथों लिया है। महानगर महिला कांग्रेस ने धरना-प्रदर्शन कर सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इसके साथ ही उन्होंने सरकार की नीतियों को गरीब विरोधी ठहराया है। 

गुरुवार को गांधी पार्क गेट पर महानगर महिला कांग्रेस के सदस्य एकत्रित हुए और महंगाई को लेकर धरने पर बैठ गए। महानगर अध्यक्ष कमलेश रमन ने धरने का नेतृत्व कर सरकार पर निशाना साधा। प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने भी केंद्र और राज्य सरकार की नीतियों पर सवाल उठाए। प्रीतम सिंह ने कहा कि रसोई गैस के दाम लगातार बढ़ाए जा रहे हैं। केंद्र सरकार महंगाई पर लगाम लगाने में पूरी तरह नाकाम है। चुनाव में बड़े-बड़े वादे करने वाले प्रधानमंत्री मोदी अब गरीब जनता का मजाक उड़ा रहे हैं। 

पूर्व काबीना मंत्री दिनेश अग्रवाल ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दामों में कमी होने के बावजूद देश में पेट्रो पदार्थों के दामों में इजाफा हो रहा है, साफ है कि इससे निजी कंपनियों को लाभ पहुंचाया जा रहा है। आम आदमी से केंद्र सरकार को कोई सरोकार नहीं है। गरीबों की स्थिति और बद्तर होती जा रही है। ऐसे में जनता को केंद्र और राज्य से भाजपा को हटाना होगा। कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना, महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा, डॉ. आरपी रतूड़ी आदि ने भी सरकार को घेरा। धरने में विमला मन्हास, मीना रावत, चंद्रकला नेगी, पुष्पा पंवार, अनुराधा तिवारी, डॉ. प्रतिमा सिंह, शांति रावत, रीता पुष्पवाण, हेमा पुरोहित, संतोष सैनी, कविता आदि उपस्थित थे। 

बस्तियों के मालिकाना हक को लेकर डीएम कार्यालय पर प्रदर्शन 

मलिन बस्तियों में रह रहे लोगों के मालिकाना हक को लेकर बड़ी संख्या में लोगों ने जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन किया। लोगों ने सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का समुचित लाभ देने की भी मांग उठाई। गुरुवार को विभिन्न मलिन बस्तियों के लोग कांग्रेस अनुसूचित जाति जनजाति विभाग के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व विधायक राजकुमार के नेतृत्व में जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचे। लोगों ने प्रदर्शन करते हुए कहा कि यदि शीघ्र उन्हें मालिकाना हक नहीं दिया गया तो वे सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करने को बाध्य होंगे। इसके अलावा लोगों ने सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का उचित क्रियान्वयन न करने का भी आरोप लगाया।

यह भी पढ़ें:  विधानसभा चुनाव में सरकार को अपनी ताकत दिखाएंगे कर्मचारी

लोगों ने कहा कि पात्र लोग सरकारी योजनाओं से वंचित किए जा रहे हैं। समाज कल्याण विभाग की पेंशन योजनाओं के शिविर मुख्य स्थानों पर लगाने, छात्रवृत्ति का समय पर वितरण करने, मलिन बस्तियों में सामुदायिक भवन बनाने, स्वरोजगार संबंधी लक्ष्यों को बढ़ाने की भी मांग उठाई गई। प्रदर्शन करने वालों में कांग्रेस के महानगर अध्यक्ष लालचंद शर्मा, नीनू सहगल, डॉ. बिजेंद्र पाल, सोम प्रकाश वाल्मीकि, पार्षद विजेंद्र पाल, टीटू त्यागी, अर्जुन सोनकर आदि शामिल रहे। 

यह भी पढ़ें: आंदोलन के लिए सुस्त रवैये पर शिक्षक संगठन के शीर्ष नेतृत्व नाराज

बिल्डर पर कब्जा करने का आरोप 

सहस्रधारा रोड, तरला नागल, ब्राह्मणवाला आदि क्षेत्र की मलिन बस्ती के लोगों ने भी जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि वह अपने पक्के मकान बनाकर पिछले कई सालों से निवास कर रहे हैं, जब पिछले कुछ दिनों से बिल्डर उनकी भूमि पर कब्जा करने का प्रयास कर रहे हैं।  

यह भी पढ़ें: मुख्यमंत्री आवास कूच कर गरजे जनरल-ओबीसी कर्मचारी, 26 को मशाल जुलूस; दो मार्च से बेमियादी हड़ताल

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.