उत्‍तराखंड में पहले दिन फीका रहा टीका उत्सव, रविवार को 300 केंद्रों पर हुआ टीकाकरण

रविवार को राजकीय दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में कोरोना रोधी टीका नहीं लगने के चलते सूना पड़ा प्रांगण।

कोरोना की दूसरी लहर के बीच टीका उत्सव का आयोजन किया जा रहा है। जो 11 से 14 अप्रैल तक चलेगा। हालांकि उत्तराखंड में इसकी शुरुआत तब हुई जब राज्य वैक्सीन की कमी का सामना कर रहा है।

Sunil NegiMon, 12 Apr 2021 09:05 AM (IST)

जागरण संवाददाता, देहरादून। कोरोना की दूसरी लहर के बीच टीका उत्सव का आयोजन किया जा रहा है। जो 11 से 14 अप्रैल तक चलेगा। हालांकि, उत्तराखंड में इसकी शुरुआत तब हुई जब राज्य वैक्सीन की कमी का सामना कर रहा है।

रविवार को प्रदेश में 300 केंद्रों पर ही टीकाकरण किया गया, जबकि तीन दिन पहले टीकाकरण केंद्रों की संख्या 718 थी। गुरुवार को प्रदेश में रिकॉर्ड एक लाख से ज्यादा व्यक्तियों का टीकाकरण हुआ था। वहीं रविवार को यह आंकड़ा 29,719 पर आकर सिमट गया। केंद्र से वैक्सीन की 1.38 लाख डोज मिली जरूर है, पर बड़ा सवाल है कि ये स्टॉक भी कितने दिन चलेगा। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार को हरिद्वार में सर्वाधिक 66 केंद्रों पर टीकाकरण किया गया। वहीं ऊधमसिंह नगर में भी 64 केंद्रों पर टीकाकरण हुआ। 

अल्मोड़ा में 26, बागेश्वर में 25, टिहरी व चमोली में 15-15 और चंपावत व देहरादून में 11-11 केंद्रों पर वैक्सीन लगाई गई। नैनीताल में नौ, उत्तरकाशी में छह और रुद्रप्रयाग में चार ही केंद्रों पर टीकाकरण हुआ। जिनका टीकाकरण किया गया उनमें सबसे ज्यादा 45 साल से अधिक उम्र के 28878 व्यक्ति हैं। जबकि 305 स्वास्थ्य कर्मियों व 536 फ्रंटलाइन वर्कर्स को भी टीका लगा है। 

बता दें कि अब तक प्रदेश में एक लाख 81 हजार 150 व्यक्तियों को वैक्सीन की दोनों डोज लग चुकी हैं। जबकि 11 लाख 24 हजार 56 व्यक्तियों को पहली डोज दी जा चुकी है।

जिले में आज 113 केंद्रों पर टीकाकरण

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. अनूप कुमार डिमरी का कहना है कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए टीकाकरण करवाना आवश्यक है। सभी पात्र व्यक्ति अपनी बारी आने पर टीका जरूर लगवाएं। संक्रमण से बचने के लिए मास्क जरूर पहनें और शारीरिक स्वच्छता का ध्यान रखें। उन्होंने बताया कि जनपद में वैक्सीन पर्याप्त मात्र में उपलब्ध है। जनपद देहरादून में टीका उत्सव शुरू हो गया है। 14 अप्रैल तक चलने वाले इस अभियान का उद्देश्य अधिक से अधिक व्यक्तियों का टीकाकरण करना और संक्रमण की रोकथाम के लिए जागरूकता फैलाना है। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. राजीव दीक्षित ने बताया कि केंद्र से कोविड वैक्सीन मिल चुकी है। जनपद के सभी कोल्ड चेन प्वाइंट और टीकाकरण केंद्रों पर वैक्सीन पहुंच गई है। सोमवार को जनपद में 83 सरकारी और 30 निजी केंद्रों पर टीकाकरण किया जाएगा।

उत्तराखंड को मिली वैक्सीन की 1.38 लाख डोज

उत्तराखंड को केंद्र सरकार से भेजी गई कोरोना वैक्सीन की 1.38 लाख डोज प्राप्त हो गई हैं। इन्हें संबंधित जिलों को भेज दिया गया है। इसके साथ ही प्रदेश को अभी तक 14. 62 लाख डोज मिल चुकी हैं। केंद्र से नई डोज मिलने के बाद वैक्सीनेशन अभियान में तेजी आने की संभावनाएं जगने लगी हैं।

उत्तराखंड में कोरोना वैक्सीनेशन की शुरुआत 16 जनवरी से हुई। अभियान की शुरुआत स्वास्थ्य कर्मियों से की गई। अभी तक पंजीकृत 86 प्रतिशत स्वास्थ्य कर्मियों को प्रथम टीका और 75 फीसद को दूसरा टीका लगाया जा चुका है। वहीं, अग्रिम पंक्ति के कार्मिकों का टीकाकरण 13 फरवरी से शुरू किया गया। अभी तक पंजीकृत 83 फीसद अग्रिम पंक्ति के कार्मिकों को प्रथम टीका और 73 फीसद को दूसरा टीका लगाया जा चुका है। राज्य में अभी तक 1244935 को यह टीका लगाया जा चुका है। प्रदेश में शनिवार से वैक्सीन की कमी होने लगी थी। इस कारण कई अस्पतालों से वैक्सीन लगाने आए व्यक्तियों को वापस लौटना पड़ा। अब रविवार को प्रदेश सरकार को वैक्सीन की 1.38 लाख डोज मिल गई है। इससे टीकाकरण रफ्तार में तेजी आने की संभावना है।

यह भी पढ़ें-Uttarakhand Coronavirus Update: उत्तराखंड में दूसरे दिन 1333 कोरोना संक्रमित, आठ की मौत

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.