Uttarakhand Weather Update: उत्‍तराखंड में जारी रहेगा बारिश और अंधड़ का सिलसिला

Uttarakhand Weather Update मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक अगले कुछ दिन प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में गरज के साथ तीव्र बौछारों का सिलसिला जारी रहेगा। मैदानों में तेज हवाएं भी परेशानी बढ़ा सकती हैं। बारिश और अंधड़ को लेकर अगले तीन दिन के लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है।

Sunil NegiMon, 14 Jun 2021 09:17 AM (IST)
मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में गरज के साथ तीव्र बौछारों का सिलसिला जारी रहेगा।

जागरण संवाददाता, देहरादून। Uttarakhand Weather Update मौसम विज्ञान केंद्र के मुताबिक अगले कुछ दिन प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में गरज के साथ तीव्र बौछारों का सिलसिला जारी रहेगा। मैदानों में तेज हवाएं भी परेशानी बढ़ा सकती हैं। बारिश और अंधड़ को लेकर अगले तीन दिन के लिए यलो अलर्ट जारी किया गया है।

मलबा आने से बदरीनाथ हाईवे नरकोटा में दस घंटे बाधित रहा

बारिश और अंधड़ के चलते बनी दुश्वारियां अब भी बरकरार हैं। हालांकि, मैदानों में मौसम ने कुछ राहत दी, लेकिन पर्वतीय क्षेत्रों में अब भी जनजीवन प्रभावित है। मलबा आने से बदरीनाथ हाईवे करीब 10 घंटे बाधित रहा। वहीं अन्य कई मार्गो पर भी जगह-जगह भूस्खलन के कारण मलबा आता रहा। जिसे दिनभर श्रमिकों व जेसीबी के जरिये हटाने का काम किया गया। उधर, बदरीनाथ हाईवे पर मलबा हटाने के दौरान चालक जेसीबी समेत खाई में गिरकर घायल हो गया।

उत्तराखंड में पिछले तीन दिन से मौसम का मिजाज बदला हुआ है। मैदानों में अंधड़ के साथ बौछारें और पहाड़ों में झमाझम बारिश का दौर चल रहा है। हालांकि, रविवार को ज्यादातर इलाकों में मौसम साफ रहा और तेज धूप खिली। जिससे राहत कार्यों में तेजी आई। उधर, नरकोटा के पास स्लाइडिंग जोन पर लगातार मलबा आने से बदरीनाथ हाईवे लगभग दस घंटे अवरुद्ध रहा। यहां पर मार्ग लगातार बाधित होने से आमजन को आवाजाही में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

वहीं, शनिवार देर रात बदरीनाथ हाईवे पर सम्राट होटल के पास मलबा साफ कर रहा चालक जेसीबी समेत खाई में गिरने से गंभीर घायल हो गया। सूचना मिलने पर आपदा प्रबंधन की संयुक्त टीमों ने रेस्क्यू कर चालक को खाई से बाहर निकालकर उपचार के लिए बेस चिकित्सालय श्रीनगर भेजा।

बदरीनाथ हाईवे पर सम्राट होटल के पास जेसीबी मशीन से मलबा हटाने का कार्य चल रहा था। इसी दौरान अचानक पहाड़ी से भारी मात्र में बोल्डर व मलबा आने से जेसीबी आपरेटर अजय कुमार निवासी पंजाब जेसीबी सहित 80 मीटर नीचे खाई में जा गिरा। उधर, गंगोत्री राजमार्ग धरासू के पास चार घंटे बंद रहा। जबकि, यमुनोत्री हाईवे डाबरकोट के पास करीब दो घंटे बंद रहा। डाबरकोट में गढ़वाल मंडल आयुक्त रविनाथ रमन को डेढ़ घंटे तक राजमार्ग सुचारू होने का इंतजार करना पड़ा। फिर आयुक्त व जिलाधिकारी को बोलेरो से भूस्खलन जोन पार करना पड़ा।

यह भी पढ़ें-अंधड़ और बारिश बनी आफत, पेड़ और विद्युत पोल धराशायी

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.