Uttarakhand Tourism: वीकेंड पर मसूरी और नैनीताल पर्यटकों से गुलजार, होटल व्यवसायी किराये में दे रहे हैं छूट

Uttarakhand Tourism लंबे समय के बाद मसूरी और नैनीताल गुलजार नजर आए। सप्ताहंत पर दोनों शहरों में पर्यटकों के उमड़ने से कारोबारियों के चेहरों पर रौनक है। हालांकि अभी यहां पहुंचने वालों में ज्यादातर लोग आसपास के शहरों से ही हैं। अन्य राज्यों से आने वालों की संख्या कम है।

Sunil NegiSat, 19 Jun 2021 09:16 PM (IST)
Uttarakhand Tourism लंबे समय के बाद मसूरी गुलजार नजर आया।

जागरण टीम, मसूरी। Uttarakhand Tourism लंबे समय के बाद मसूरी और नैनीताल गुलजार नजर आए। सप्ताहंत पर दोनों शहरों में पर्यटकों के उमड़ने से कारोबारियों के चेहरों पर भी रौनक है। हालांकि, अभी यहां पहुंचने वालों में ज्यादातर लोग आसपास के शहरों से ही हैं। अन्य राज्यों से आने वालों की संख्या कम है। सैलानियों को लुभाने के लिए मसूरी में होटल व्यवसायी किराये में 50 फीसद तो नैनीताल में 40 फीसद तक की छूट दे रहे हैं। हालांकि ढाबे, रेस्तरां बंद होने से पर्यटकों को असुविधा भी हो रही है। होटल व्यवसायियों की मांग है कि कोविड गाइड लाइन में पर्यटकों के लिए कुछ और छूट दी जानी चाहिए।

प्रदेश में कोरोना की दूसरी लहर के बाद पर्यटन स्थलों पर सन्नाटा पसरा हुआ था, लेकिन अब संक्रमण के मामलों में आई कमी से सैलानी नैनीताल और मसूरी का रूख करने लगे हैं। शनिवार को करीब 500 पर्यटक वाहनों ने शहर में प्रवेश किया। करीब दो हजार सैलानी नैनीताल पहुंचे। होटल व्यवसायी विशाल खन्ना के अनुसार 22 जून से कफ्र्यू में ढील की उम्मीद पर पर्यटक फोन पर भी पूछताछ कर रहे हैं।

मसूरी होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश नारायण माथुरने बताया कि शहर में करीब 80 फीसद होटल खुल चुके हैं। उन्होंने बताया कि होटलों में अभी 50 से 60 फीसद कमरे ही बुक हैं। माथुर ने बताया कि ऐसे पर्यटकों को कमरा नहीं दिया जा रहा, जिनके पास कोरोना जांच की रिपोर्ट नहीं है। उन्होंने मांग की कि मसूरी में अभी सिर्फ सिविल अस्पताल में ही कोरोना की जांच की जा रही है। शहर के लाइब्रेरी, कुलड़ी तथा किंक्रेग में रैपिड एंटीजन टेस्ट की सुविधा दी जानी चाहिए ताकि पर्यटक आसानी से टेस्ट करा सकें।

पर्यटकों के लिए कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य

उत्तराखंड आने वाले पर्यटकों के लिए कोरोना जांच की निगेटिव रिपोर्ट अनिवार्य है। पर्यटन विभाग के अपर निदेशक विवेक चौहान ने बताया कि पर्यटक आरटीपीसीआर अथवा एंटीजन टेस्ट की निगेटिव रिपोर्ट दिखा सकते हैं। उन्होंने बताया कि होटल संचालकों से कहा गया है कि वे टेस्ट रिपोर्ट देखने के बाद ही उन्हें प्रवेश दें। होटल संचालक कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए पर्यटकों को अपने यहां ठहरा सकते हैं, लेकिन बार और रेस्तरां का संचालन नहीं किया जा सकेगा। पर्यटक भोजन सीधे अपने कमरे में ही मंगा सकते हैं।

यह भी पढ़ें-कोविड कर्फ्यू में ढील से पर्यटन को लगने लगे पंख, मसूरी, धनोल्टी, चकराता व ऋषिकेश का रुख कर रहे पर्यटक

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.