उत्‍तराखंड एसटीएफ ने IPL में चेन्नई और बैंगलुरू के मैच में सट्टा लगवाते चार बुकी पकड़े

उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने आइपीएल में चेन्नई और बैंगलुरू के मैच में सट्टा लगवाते चार बुकी को दबोचा है। एसटीएफ को आरोपितों के पास से मोबाइल फोन लैपटाप केलकुलेटर और एक लाख से ज्‍यादा की नकदी बरामद की है।

Sunil NegiSat, 25 Sep 2021 08:44 AM (IST)
उत्‍तराखंड एसटीएफ ने IPL में चेन्नई और बैंगलुरू के मैच में सट्टा लगवाते चार बुकी पकड़े।

जागरण संवाददाता, देहरादून। इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) में सट्टेबाजी पर उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) का शिकंजा कसना जारी है। शनिवार को लगातार दूसरे दिन कार्रवाई करते हुए एसटीएफ ने आइटी पार्क से चार बुकी गिरफ्तार किए। उनके पास से नकदी, लैपटाप व सट्टेबाजी से संबंधित दस्तावेज बरामद किए गए हैं। आरोपितों को शनिवार को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया है। इससे पहले गुरुवार को भी एसटीएफ ने देहरादून व ऋषिकेश से तीन बुकी दबोचे थे। इनको भी जेल भेजा जा चुका है।

एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि आइपीएल में शुक्रवार रात बेंगलुरु और चेन्नई की टीम के बीच मैच चल रहा था। इसी दौरान उन्हें सहस्रधारा रोड पर आइटी पार्क के पास राजेश्वरनगर फेस वन में मैच में आनलाइन सट्टा लगवाने की सूचना मिली। इस पर एसटीएफ की एक टीम ने वहां छापेमारी कर चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपित अपने लैपटाप और आइपैड में डाउनलोड किए गए मैजिक एप और ताज 777 एप के माध्यम से आनलाइन सट्टा लगवा रहे थे। उनकी पहचान नितिन कुमार निवासी गांधी कालोनी मुजफ्फरनगर (उत्तर प्रदेश), अंकित कुमार निवासी मुजफ्फरनगर (उत्तर प्रदेश), उदित कुमार निवासी सिद्धार्थ विहार कैनाल रोड, देहरादून और विनीत अरोड़ा निवासी मोहिनी रोड, डालनवाला के रूप में हुई है। चारों यहां किराये पर कमरा लेकर रह रहे थे। उनके पास 12 मोबाइल फोन, एक वाईफाई डिवाइस, एक लैपटाप, एक टैब और एक लाख 29 हजार रुपये मिले हैं।

रजिस्टर खोलेंगे और सट्टेबाजों के राज

एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि आरोपितों के पास दो रजिस्टर मिले हैं, जिनमें प्रतिदिन नामवार लगाई गई सट्टे की धनराशि का विवरण है। दोनों रजिस्टर में जिन व्यक्तियों के नाम अंकित हैं। उनके बारे में जानकारी जुटाई जा रही है।

पहले फर्जी काल सेंटर चलाते थे

एसएसपी ने बताया कि चारों सट्टेबाज पहले फर्जी काल सेंटर चलाते थे, लेकिन उसमें कमाई अच्छी नहीं होने और पकड़े जाने के डर से काल सेंटर बंद कर दिया। इसके बाद आइपीएल शुरू होने पर आनलाइन सट्टेबाजी शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें:- IPL में मुंबई व कोलकाता के बीच सट्टा लगवा रहा सट्टेबाज देहरादून से गिरफ्तार

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.