इलेक्ट्रिक फाल्ट के कारण आउटर पर रुकी रही शताब्दी एक्सप्रेस, लिंक एक्सप्रेस भी देरी से हुई रवाना

इलेक्ट्रिक फाल्ट के कारण शताब्दी एक्सप्रेस आउटर पर रुकी हुई है। ट्रेन प्लेटफार्म से करीब आठ सौ मीटर पीछे खड़ी है। ओवर हेड इलेक्ट्रिक में फाल्ट आने के कारण ट्रेन रुक गई थी। रेलवे अधिकारियों को जानकारी मिलते ही टीम ने मौके पर पहुंच फाल्ट को ठीक किया।

Raksha PanthriThu, 05 Aug 2021 02:28 PM (IST)
इलेक्ट्रिक फाल्ट के कारण आउटर पर रुकी रही शताब्दी एक्सप्रेस।

जागरण संवाददाता, देहरादून। डोईवाला से कांसरो के बीच रेल ट्रैक पर ओवरहेड इलेक्ट्रिक (ओएचई) लाइन में फाल्ट आने से तीन ट्रेनें प्रभावित हुईं। इससे यात्रियों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ा। इस तकनीकी खराबी के कारण गोरखपुर से देहरादून आ रही राप्ती गंगा एक्सप्रेस डोईवाला स्टेशन के पास करीब दो घंटा तो नई दिल्ली से देहरादून आ रही शताब्दी एक्सप्रेस देहरादून रेलवे स्टेशन के आउटर पर करीब 45 मिनट तक खड़ी रही। वहीं, प्रयागराज जाने वाली लिंक एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय से 25 मिनट की देरी से रवाना हुई। उधर, डोईवाला के पास राप्ती गंगा एक्सप्रेस के अचानक रुकने से प्रेमनगर बाजार स्थित रेलवे फाटक को बंद करना पड़ा। ऐसे में इस मार्ग से आने-जाने वाले वाहनों को भारी परेशानी उठानी पड़ी। उन्हें अपने गंतव्य तक लंबा चक्कर काट कर जाना पड़ा। यह फाटक करीब सवा घंटा तक बंद रहा।

ओएचई लाइन में फाल्ट गुरुवार को दोपहर करीब पौने एक बजे आया। उस समय नई दिल्ली से देहरादून के बीच चलने वाली शताब्दी एक्सप्रेस देहरादून स्टेशन से कुछ मीटर की दूरी पर थी। अचानक विद्युत आपूर्ति ठप होने से ट्रेन आउटर पर जहां की तहां रुक गई। इसके पीछे डोईवाला स्टेशन के पास गोरखपुर से देहरादून आ रही राप्ती गंगा एक्सप्रेस के पहिये भी थम गए। फाल्ट की सूचना मिलते ही रेलवे की टेक्निकल टीम ने मोर्चा संभाला। पता चला कि फाल्ट डोईवाला से कांसरो के बीच आया है। ऐसे में टीम तत्काल डोईवाला के लिए रवाना हुई।

देहरादून रेलवे स्टेशन के उप स्टेशन अधीक्षक शशांक शर्मा ने बताया कि दोपहर 1:30 बजे फाल्ट ठीक हुआ। इसके बाद ट्रेनें आगे बढ़ पाईं। इस व्यवधान के कारण 12:55 बजे देहरादून पहुंचने वाली शताब्दी एक्सप्रेस 1:40 बजे स्टेशन तक पहुंची। इसी तरह राप्ती गंगा अपने निर्धारित समय 1:50 के बजाय 3:50 बजे पहुंची। दूसरी तरफ, देहरादून से लिंक एक्सप्रेस अपने निर्धारित समय दोपहर 1:20 के बजाय 1:45 बजे रवाना हुई। उनका कहना है कि फाल्ट की वजह पता नहीं चल सकी। वहीं, डोईवाला रेलवे स्टेशन मास्टर प्रवीण कुमार ने पेड़ की टहनी टूटकर गिरने से फाल्ट आने की आशंका जताई है। उनका कहना है कि क्षेत्र में बंदर पेड़ों से इलेक्ट्रिक लाइन तक उछल-कूद करते रहते हैं। ऐसे में संभव है कि पेड़ की कोई टहनी टूटकर लाइन से टकरा गई हो।

परेशान हुए यात्री और उनके स्वजन

शताब्दी एक्सप्रेस और राप्ती गंगा एक्सप्रेस के रास्ते में एकाएक रुक जाने से उनमें सवार यात्रियों के साथ उनके स्वजन व रिश्तेदार परेशान रहे। कई यात्रियों के स्वजन उन्हें लेने के लिए देहरादून रेलवे स्टेशन पहुंचे थे। तय समय पर ट्रेन नहीं पहुंची तो उन्होंने स्वजन को फोन घुमाना शुरू किया। स्टेशन में पूछताछ केंद्र पर भी स्वजन की भीड़ लगी रही। यही हाल ट्रेन में मौजूद यात्रियों का भी था। देहरादून में आउटर पर खड़ी शताब्दी एक्सप्रेस जब काफी देर तक नहीं चली तो कुछ यात्री वहीं उतर गए और रेल ट्रैक के साथ चलते हुए स्टेशन पहुंचे।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Tourist Guidelines: अगर आप ट्रेन से आ रहे हैं उत्तराखंड, कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट जरूर रखें अपने साथ; यहां भी कराना होगा पंजीकरण

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.