उत्तराखंड: छह दिन बाद छह आइएफएस के तबादलों में संशोधन, फेरबदल को लेकर उठ रहे थे सवाल

वन विभाग में 25 नवंबर को हुए फेरबदल को लेकर उठ रहे सवालों के बाद शासन ने बुधवार को छह आइएफएस अधिकारियों के तबादलों में संशोधन कर दिया है। भारतीय वन सेवा अधिकारी संघ ने भी तबादलों को विसंगतिपूर्ण बताते हुए मुख्यमंत्री से इसका संज्ञान लेने का आग्रह किया था।

Raksha PanthriThu, 02 Dec 2021 11:38 AM (IST)
उत्तराखंड: छह दिन बाद छह आइएफएस के तबादलों में संशोधन।

राज्य ब्यूरो, देहरादून। उत्तराखंड वन विभाग में 25 नवंबर को हुए फेरबदल को लेकर उठ रहे सवालों के बाद शासन ने बुधवार को छह आइएफएस अधिकारियों के तबादलों में संशोधन कर दिया है। भारतीय वन सेवा अधिकारी संघ ने भी तबादलों को विसंगतिपूर्ण बताते हुए मुख्यमंत्री से इसका संज्ञान लेने का आग्रह किया था।

कार्बेट टाइगर रिजर्व के अंतर्गत कालागढ़ टाइगर रिजर्व वन प्रभाग में अवैध निर्माण व पेड़ कटान प्रकरण के बाद शासन ने 25 नवंबर को विभाग के मुखिया समेत चार उच्चाधिकारियों से जिम्मेदारी वापस ले ली थी। साथ ही 30 वनाधिकारियों के तबादले कर दिए थे। तबादला सूची जारी होने के बाद से ही इसे लेकर सवाल उठने लगे थे। इसमें कुछेक अधिकारी ऐसे भी थे, जो पूर्व में विवादों में रहे थे और उन्हें महत्वपूर्ण पदों व प्रभागों में तैनाती दे दी गई थी।

भारतीय वन सेवा अधिकारी संघ ने बड़े पैमाने पर हुए तबादलों पर आपत्ति जताई थी। संघ का कहना था कि शासन ने प्रांतीय वन सेवा के अधिकारियों को प्रभारी डीएफओ (प्रभागीय वनाधिकारी) के पदों पर तैनाती दी है, जबकि भारतीय वन सेवा (आइएफएस) के कई अधिकारी लंबे समय से तैनाती का इंतजार कर रहे हैं। संघ ने वनाधिकारियों को वन प्रभागों से हटाकर भूमि संरक्षण वन प्रभाग में भेजने पर भी आपत्ति जताई।

इस सबको देखते हुए शासन ने बुधवार को छह आइएफएस के तबादलों में संशोधन के आदेश जारी कर दिए। पूर्व में कुमाऊं मंडल में हुए गुलिया-छिलका प्रकरण में चर्चित रहे अशोक कुमार गुप्ता को अब भूमि संरक्षण निदेशालय में वन संरक्षक के पद पर तैनाती दी गई है। प्रमुख मुख्य वन संरक्षक के कार्यालय से संबद्ध गुप्ता को 25 नवंबर को वन संरक्षक शिवालिक के पद पर तैनाती दी गई थी। इसी तरह उत्तराखंड वन विकास निगम में प्रतिनियुक्ति पर कार्यरत डी थिरूज्ञानसंबंदम को डीएफओ हरिद्वार के पद पर तैनाती का आदेश निरस्त किया गया है। वह भी पूर्व में हरिद्वार में तैनाती के दौरान विवादों में रहे थे।

इसके अलावा राजाजी टाइगर रिजर्व के निदेशक धर्मेश कुमार सिंह को अब वन संरक्षक शिवालिक के पद पर तैनाती दी गई है। पहले उन्हें अपर निदेशक उत्तराखंड वानिकी प्रशिक्षण अकादमी के पद पर भेजने के आदेश हुए थे। नरेंद्र नगर के डीएफओ रहे धर्म सिंह मीणा को संयुक्त निदेशक राज्य पर्यावरण संरक्षण एवं जलवायु परिवर्तन निदेशालय में भेजने का आदेश निरस्त कर अब उन्हें डीएफओ हरिद्वार के पद पर भेजा गया है। भूमि संरक्षण वन प्रभाग नैनीताल के डीएफओ दिनकर तिवारी अपने पद पर बने रहेंगे। पहले उनका तबादला बागेश्वर करने के आदेश हुए थे। इसी तरह बागेश्वर के डीएफओ हिमांशु बागड़ी को इसी पद पर बरकरार रखा गया है। पहले उनका स्थानांतरण जलागम निदेशालय में करने के आदेश हुए थे।

यह भी पढें- उत्तराखंड: वन विभाग में मुखिया समेत कई अफसरों की कुर्सी हिली, 28 वनाधिकारियों को किया इधर से उधर

 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.