उत्तराखंड सरकार ने बेरोजगारी के मुद्दे पर आंकड़े जारी कर दिया विपक्ष का जवाब, आप भी जानें कितने पदों पर हुई भर्ती

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का फाइल फोटो।
Publish Date:Tue, 22 Sep 2020 06:45 AM (IST) Author: Raksha Panthari

देहरादून, राज्य ब्यूरो। विधानसभा सत्र में बेरोजगारी के मुद्दे पर विपक्ष के संभावित हमले को देखते हुए सरकार ने पहले ही जवाब दे दिया है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार को प्रदेश में भर्ती प्रक्रिया की समीक्षा की। कांग्रेस के शासनकाल में 2014 से 2017 के बीच उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने 801 पदों पर चयन किया। वहीं 2017 से अब तक यानी त्रिवेंद्र सरकार के साढ़े तीन साल के कार्यकाल में 6000 पदों पर आयोग ने चयन किया। इस अवधि में 10339 पदों पर चयन हुआ है। 

कोरोना महामारी के दौर में प्रदेश में बेरोजगारी बढऩे को लेकर कांग्रेस मुखर है। इसके लिए राष्ट्रीय स्तर पर सांख्यिकी विभाग के आंकड़ों का हवाला दिया जा रहा है। विपक्ष के हमले की धार कुंद करने के लिए सरकार ने कसरत तेज कर दी। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार को वीर चंद्र सिंह गढ़वाल सभागार में भर्ती प्रक्रिया की समीक्षा की। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिए कि कोरोना के कारण भर्ती प्रक्रिया में देरी नहीं होनी चाहिए। न ही किसी स्तर पर शिथिलता बरती जाए। निर्धारित समयसारिणी बनाकर भर्ती प्रक्रिया पूरी की जाए। 

मुख्यमंत्री ने एक जैसी प्रकृति के पदों के लिए एक ही परीक्षा आयोजित करने को कहा है। यह भी निर्देश दिए गए कि राज्य लोक सेवा आयोग से डीपीसी की तिथि निर्धारित होने पर संबंधित अधिकारियों की अनुपलब्धता के कारण इसे स्थगित नहीं किया जाए। अधियाचन पर चयन आयोगों की आपत्तियों का अधिकतम तीन दिनों में जवाब देना होगा। कोरोना के कारण अब तक भर्ती प्रक्रिया में हुई देरी की भरपाई अगले छह माह में करने को कार्ययोजना बनाने के निर्देश दिए गए। शासन चयन आयोगों के साथ लक्ष्य निर्धारित कर भर्ती का कार्य संपन्न कराए। 

9696 पदों पर जारी है भर्ती प्रक्रिया

बैठक में राज्य लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष मेजर जनरल (सेनि) आनंद सिंह रावत ने बताया कि 2017 से वर्तमान तक 3047 पदों पर चयन किया गया। 1145 पदों पर चयन प्रक्रिया चल रही है। इसे चालू वित्तीय वर्ष में पूरा किया जाएगा। आयोग ने इसके लिए समयसारिणी तय कर ली है। इस अवधि में 2647 पदों पर डीपीसी से पदोन्नति हुई, जबकि 219 पदों पर डीपीसी चल रही है। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के अध्यक्ष एस राजू ने बताया कि साढ़े तीन साल में छह हजार पदों पर चयन किया। 7200 पदों पर यह प्रक्रिया चल रही है। इनमें से करीब 2500 पदों पर विज्ञापन प्रकाशित कर आवेदन मांगे जा चुके हैं, जबकि चार हजार पदों पर यह कार्यवाही प्रगति पर है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में PMGSY की सड़कों में ग्रामीणों को मिलेगा रोजगार, निर्माण में आएगी तेजी

चिकित्सा सेवा में 1282 पदों पर हुआ चयन

उत्तराखंड चिकित्सा सेवा चयन बोर्ड के अध्यक्ष डॉ डीएस रावत ने बताया कि 2017 से वर्तमान तक 1282 पदों पर चयन किया। 1351 पदों पर प्रक्रिया गतिमान है। वर्तमान में प्रोफेसर, एसोसिएट प्रोफेसर, असिस्टेंट प्रोफेसर, चिकित्साधिकारी, एक्स-रे टेक्नीशियन, ईसीजी टेक्नीशियन, रेडियोग्राफिक्स, राजकीय मेडिकल कॉलेजों में विभिन्न टेक्नीशियन के पदों सहित कुल 1351 पदों का अधियाचन प्राप्त है। इन पर चयन प्रक्रिया निर्धारित समय पर पूरी की जाएगी। बैठक में मुख्य सचिव ओमप्रकाश, अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी, सचिव अमित नेगी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड सरकार का साढ़े तीन साल का कार्यकाल पूरा, सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गिनाईं उपब्धियां

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.