पूर्व सीएम हरीश रावत ने साधा निशाना, कहा- कांग्रेस ने मलिन बस्तियों को दिया मालिकाना हक, भाजपा ने छीना

हरीश रावत ने गुरुद्वारा साहिब परिसर में कहा कि कांग्रेस सरकार ने वर्ष 2016 में मलिन बस्तियों को मालिकाना हक देने का निर्णय लिया। मलिकाना हक के सैकड़ों प्रमाण पत्र देने की शुरुआत की थी। वर्ष 2017 में भाजपा सरकार आने के बाद हमारे इस निर्णय को निरस्त कर दिया।

Raksha PanthriPublish:Wed, 01 Dec 2021 02:14 PM (IST) Updated:Wed, 01 Dec 2021 02:14 PM (IST)
पूर्व सीएम हरीश रावत ने साधा निशाना, कहा- कांग्रेस ने मलिन बस्तियों को दिया मालिकाना हक, भाजपा ने छीना
पूर्व सीएम हरीश रावत ने साधा निशाना, कहा- कांग्रेस ने मलिन बस्तियों को दिया मालिकाना हक, भाजपा ने छीना

जागरण संवाददाता, देहरादून। कांग्रेस ने मलिन बस्तियों के मालिकाना हक के लिए मलिन बस्ती अधिकार सम्मान यात्रा शुरू कर दी है। यह यात्रा 15 दिसंबर तक आयोजित की जाएगी। मंगलवार को कांवली रोड स्थित पेट्रोल पंप से यात्रा प्रारंभ हुई। यात्रा का नेतृत्व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत, नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह व प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने किया। सम्मान यात्रा का प्रथम चरण कांवली रोड से शिव कालोनी, छबील बाग बस्ती, खुड़बुड़ा होते हुए भाट सिख मोहल्ला गुरुद्वारा साहिब पर पूर्ण हुआ।

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने गुरुद्वारा साहिब परिसर में कहा कि कांग्रेस सरकार ने वर्ष 2016 में मलिन बस्तियों को मालिकाना हक देने का निर्णय लिया। मलिकाना हक के सैकड़ों प्रमाण पत्र देने की शुरुआत कर दी थी। वर्ष 2017 में भाजपा सरकार आने के बाद हमारे इस निर्णय को निरस्त कर दिया। हाई कोर्ट में पीआइएल दाखिल कर मालिन बस्तियों को अतिक्रमण की श्रेणी में दिखाते हुए झूठा हलफनामा दिया। साथ ही इन मलिन बस्तियों को वर्ष 2000 या उसके बाद बसा हुआ बताया। भाजपा की ओर से प्रस्तुत यह तथ्य नितांत असत्य और त्रुटिपूर्ण हैं।

नेता प्रतिपक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि हमने विधानसभा में मलिन बस्तियों को नियमित करने का निर्णय कांग्रेस सरकार में हरीश रावत के नेतृत्व में लिया था। कांग्रेस की सरकार बनने पर मलिन बस्तियों के लिए हर संभव मदद, सहयोग और कार्य करेंगे। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने कहा कि मालिकाना हक देना कांग्रेस की सोच है और मलिन बस्तीवासियों का संवैधानिक अधिकार है। अवसर पर पूर्व विधायक राजकुमार ने कहा कि जो सशक्त संघर्ष हमने बस्तियों को बसाने के लिए किया था, वही सशक्त संघर्ष हम बस्तियों को मालिकाना हक दिलाने के लिए भी करेंगे। इस अवसर पर महानगर कांग्रेस अध्यक्ष लालचंद शर्मा, जगदीश धीमान, राजेश शर्मा आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Elections: चुनाव से पहले भाजपा ने आमजन से संपर्क को बनाई खास रणीनीति, आप भी जानिए