उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने फिर खेला इमोशनल कार्ड, जानिए क्या कहा

उत्तराखंड के पूर्व सीएम हरीश रावत ने फिर खेला इमोशनल कार्ड।

कोरोना से जंग जीतकर बीते रोज दिल्ली से दून लौटे पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने सल्ट में पार्टी प्रत्याशी के समर्थन में फिर इमोशनल कार्ड का सहारा लिया। उन्होंने प्रत्याशी के समर्थन में क्षेत्रवासियों के लिए मार्मिक अपील जारी की।

Raksha PanthriTue, 13 Apr 2021 08:33 AM (IST)

राज्य ब्यूरो, देहरादून। कोरोना से जंग जीतकर बीते रोज दिल्ली से दून लौटे पूर्व मुख्यमंत्री व कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने सल्ट में पार्टी प्रत्याशी के समर्थन में फिर इमोशनल कार्ड का सहारा लिया। उन्होंने प्रत्याशी के समर्थन में क्षेत्रवासियों के लिए मार्मिक अपील जारी की। इंटरनेट मीडिया पर जारी वीडियो में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने सल्ट क्षेत्र की जनता के साथ अपने रिश्ते की हवाला दिया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस प्रत्याशी गंगा पंचोली इस क्षेत्र की राजनीति के लिए भविष्य की गंगा साबित होंगी। 

वीडियो में कुमाऊंनी में दिए गए संदेश में हरदा ने 45 साल के राजनीतिक जीवन की तपस्या के बाद उन्हें मिले मुख्यमंत्री पद का हवाला दिया। पर्वतीय क्षेत्रों के लिए किए गए काम उन्होंने गिनाए। जन सहानुभूति पाने के लिए उन्होंने हवाई यात्रा के दौरान गर्दन पर लगे झटके का जिक्र किया। यही नहीं हरदा ने भावनात्मक कार्ड खेलने की कोशिश भी की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को सिर्फ 11 सीट मिलने की पीड़ा उन्हें है। ये सीट अगर 11 से 12 हो जाती हैं तो उनकी पीड़ा कम होगी। खुद को अर्जुन बताते हुए उन्होंने कहा कि वह जगह-जगह बिंध चुके हैं। उन्हें विजय की प्रतीक्षा है।

कौशिक ने की टीएमसी की निंदा

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि बंगाल में ममता बनर्जी की शह पर जिस तरह से अनुसूचित जाति को अपमानित किया जा रहा है, वह निंदनीय और टीएमसी की अनुसूचित जाति विरोधी सोच को उजागर करता है।कौशिक ने कहा कि कांग्रेस का भी यही इतिहास रहा है। कांग्रेस ने अनुसूचित जाति को वोट बैंक के रूप में हमेशा प्रयोग किया, मगर उसे आगे बढऩे का अवसर नहीं दिया। 

उन्होंने कहा कि टीएमसी भी कांग्रेस की कोख से जन्मी है और उसके संस्कार भी कांग्रेसी हैं। उन्होंने कहा कि बंगाल में ममता बनर्जी की अगुआई वाली टीएमसी और देशभर में कांग्रेस तुष्टिकरण की नीति के तहत हिंदू देवी-देवताओं का अपमान करने का पाप करते आए हैं। इन्हें जनता सबक सिखाने जा रही है।

यह भी पढ़ें- गणेश काला बने उक्रांद के पछवादून जिलाध्यक्ष, कहा- मिला है जनता की सेवा का अवसर

 

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.