Uttarakhand Coronavirus Update: कोरोना से एनआइटी निदेशक समेत छह मरीजों की मौत, प्रदेश में 530 लोगों में हुई कोरोना की पुष्टि

प्रदेश में कोरोना संक्रमित छह मरीजों की मौत हुई है। जिनमें एनआइटी के निदेशक की भी मौत हो गई है।

Uttarakhand Coronavirus Update कोरोना की रफ्तार नहीं थम रही है। शुक्रवार को भी प्रदेश में कोरोना संक्रमित छह मरीजों की मौत हुई है। जिनमें एम्स ऋषिकेश में भर्ती राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआइटी) श्रीनगर के निदेशक प्रो. श्यामलाल सोनी की भी मौत हो गई है।

Publish Date:Fri, 27 Nov 2020 08:19 PM (IST) Author: Sunil Negi

देहरादून, जेएनएन। Uttarakhand Coronavirus Update कोरोना की रफ्तार नहीं थम रही है। न केवल संक्रमित बल्कि मरने वालों की संख्या भी दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। शुक्रवार को भी प्रदेश में कोरोना संक्रमित छह मरीजों की मौत हुई है। जिनमें एम्स ऋषिकेश में भर्ती राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआइटी) श्रीनगर के निदेशक प्रो. श्यामलाल सोनी की भी मौत हो गई है।

उत्तराखंड उन राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों में शामिल है, जहां कोरोना मृत्यु दर सर्वाधिक है। राज्य में अब तक 1202 मरीज कोरोना के कारण दम तोड़ चुके हैं। कोरोना मृत्यु दर फिलवक्त 1.63 फीसद है, जबकि देश में औसत मृत्यु दर डेढ़ फीसद से भी कम है। बीते 24 घंटों के दौरान जिन छह मरीजों की मौत हुई है, उनमें एम्स ऋषिकेश में दो और बेस अस्पताल श्रीनगर, मैक्स अस्पताल देहरादून, जिला अस्पताल पिथौरागढ़ व जिला अस्पताल चंपावत में एक-एक मरीज की मौत कोरोना से हुई है। इनमें 63 वर्षीय प्रो. श्यामलाल ने कुछ दिन पूर्व तबीयत खराब होने पर अपनी जांच कराई थी। जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। कोरोना की पुष्टि होने पर उन्हें एम्स ऋषिकेश में भर्ती कराया गया था। उनके निधन की सूचना से एनआइटी परिवार स्तब्ध है।

डीजी हेल्थ के पति भी कोरोना की चपेट में

स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को निजी व सरकारी लैब में कुल 13022 सैंपल की जांच की गई है। जिनमें 12492 सैंपल की रिपोर्ट निगेटिव आई है। जबकि 530 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। देहरादून जिले में 168 लोग संक्रमित मिले हैं।  स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. अमिता उप्रेती के पति एवं पूर्व स्वास्थ्य निदेशक डॉ. एलएम उप्रेती में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। वह हाल में गांधी शताब्दी चिकित्सालय में वरिष्ठ परामर्शी पैथोलॉजिस्ट के रूप में तैनात हैं। कोरोना की पुष्टि होने पर उन्हें दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में भर्ती किया गया है। उनका सीटी स्कैन, खून की जांचें कराई गई हैं, जो सामान्य हैं।

इसके अलावा नैनीताल में 69, चंपावत में 45, हरिद्वार में 43, पौड़ी गढ़वाल में 40, चमोली में 38, ऊधमसिंहनगर में 33, पिथौरागढ़ में 25, रुद्रप्रयाग में 20, अल्मोड़ा में 22, टिहरी गढ़वाल में 11 व बागेश्वर में 8 लोग संक्रमित मिले हैं। बता दें, अभी तक प्रदेश में 73527 लोग संक्रमित हो चुके हैं। जिनमें 66855 ने कोरोना से जंग जीत ली है। फिलवक्त 4812 एक्टिव केस हैं, जबकि 659 मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं।

391 मरीज स्वस्थ

कोरोना के लिहाज से एक बस रिकवरी दर ही सुकून दे रही है। अच्छी बात ये है कि पिछले काफी वक्त से रिकवरी दर 90 फीसद से ऊपर बनी हुई है। शुक्रवार को भी विभिन्न जनपदों में 391 मरीज स्वस्थ हुए। इनमें 103 देहरादून, 70 नैनीताल, 40 ऊधमसिंहनगर, 37 पिथौरागढ़, 35 हरिद्वार, 28 पौड़ी, 25 रुद्रप्रयाग, 17 टिहरी, 16 चमोली, 12 उत्तरकाशी और 4-4 मरीज बागेश्वर व अल्मोड़ा से हैं। फिलवक्त रिकवरी दर 90.93 फीसद है।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Coronavirus News Update: उत्‍तराखंड में कोरोना से 11 मरीजों की मौत, 355 नए मामले आए

क्लॉज कांटेक्ट पर नजर

गांधी शताब्दी अस्पताल के वरिष्ठ परामर्शी पैथोलॉजिस्ट एवं पूर्व निदेशक डॉ. एलएम उप्रेती के संक्रमित पाए जाने के बाद उनके क्लॉज कांटेक्ट में रहे चिकित्सकों एवं कर्मियों की कोरोना जांच की तैयारी की जा रही है। प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक डॉ. मनोज उप्रेती ने बताया कि सभी के स्वास्थ्य की निगरानी की जा रही है। किसी को कोई लक्षण दिखते है तो जांच कराई जाएगी।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: दूसरे राज्यों से आने वाले 784 व्यक्तियों की बॉर्डर पर जांच, 18 मिले संक्रमित

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.