Uttarakhand Chunav: भाजपा प्रभारी दुष्यंत बोले, जिताऊ चेहरा होगा टिकट का पैमाना; जानें और क्या कहा

Uttarakhand Chunav भाजपा के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम ने हाल में कहा था कि पार्टी टिकट का एकमात्र पैमाना जिताऊ चेहरा होगा। अब पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि पार्टी के हित में जो फार्मेट सही होगा हाईकमान उसी के अनुरूप निर्णय लेगा।

Raksha PanthriTue, 21 Sep 2021 01:59 PM (IST)
भाजपा प्रभारी दुष्यंत बोले, जिताऊ चेहरा होगा टिकट का पैमाना; जानें और क्या कहा।

राज्य ब्यूरो, देहरादून। Uttarakhand Chunav उत्तराखंड में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव का वक्त करीब आने के साथ ही भाजपा में भी टिकट वितरण को लेकर चर्चा होने लगी है। भाजपा के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम ने हाल में कहा था कि पार्टी टिकट का एकमात्र पैमाना जिताऊ चेहरा होगा। अब पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि पार्टी के हित में जो फार्मेट सही होगा, हाईकमान उसी के अनुरूप सोच-समझकर निर्णय लेगा।

भाजपा के बीच से पूर्व में ये बात भी उठी थी कि विधायकों की परफार्मेंस के आधार पर उन्हें टिकट दिए जाएंगे। साथ ही जिताऊ चेहरों पर दांव लगाया जाएगा। ये बात भी आई कि पार्टी विधायकों की परफार्मेंस के साथ ही अन्य चेहरों का आकलन करने के लिए सर्वे करा रही है। ये माना जा रहा था कि इस मर्तबा सिटिंग-गेटिंग नहीं, बल्कि सर्वे में सामने आए तथ्य और दावेदारों की जमीनी पकड़ आधार बनेगी।

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने मीडिया से बातचीत में कहा कि पार्टी वक्त की नजाकत को समझती है। जनता क्या सोच रही है, उसके मद्देनजर निरंतर फीडबैक लेती रहती है। उन्होंने यह भी कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव में भी भाजपा मिथक तोड़ेगी। पार्टी ने वर्ष 2019 में भी राज्य में लोकसभा चुनाव, फिर निकाय व पंचायत चुनावों में भी मिथक तोड़ा था। अब भाजपा आगे भी मिथक तोड़ेगी।

छलिया हैं केजरीवाल, गिरगिट की तरह बदलते हैं रंग

पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र ने दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल द्वारा की गई घोषणाओं पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि केजरीवाल पहले ये बताएं कि दिल्ली में कितने व्यक्तियों को रोजगार दिया गया।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड की पूर्व राज्यपाल मौर्य की सक्रिय राजनीति में वापसी, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का मिला जिम्मा

वे अपना प्लान बताएं कि एक लाख नौकरियां और पांच हजार रुपये प्रतिमाह बेरोजगारी भत्ता देने के मद्देनजर राजस्व का स्रोत क्या होगा। केजरीवाल के पास खोने के लिए कुछ नहीं है और इसीलिए वे बेसिर-पैर की घोषणाएं कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि केजरीवाल छलिया हैं, जो गिरगिट की तरह रंग बदलते हैं। उनकी घोषणाओं पर उत्तराखंड की जनता भरोसा नहीं करती।

यह भी पढ़ें- भाजपा सरकार और संगठन का केजरीवाल पर किया पलटवार, कहा- उत्तराखंड का नौजवान राष्ट्रवादी है और किसी के बहकावे में नहीं आएगा

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.