भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय महामंत्री दीप्ति बोलीं, कांग्रेस के लिए महिलाएं सिर्फ वोट बैंक; दोहरा चरित्र आया सामने

Uttarakhand Assembly Elections 2022 दीप्ति रावत ने आगामी विधानसभा चुनाव में महिलाओं को प्रतिनिधित्व के सवाल को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा। प्रदेश भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि कांग्रेस की कथनी और करनी में भारी अंतर है।

Raksha PanthriMon, 29 Nov 2021 10:31 AM (IST)
भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय महामंत्री दीप्ति बोलीं, कांग्रेस के लिए महिलाएं सिर्फ वोट बैंक।

राज्य ब्यूरो, देहरादून। Uttarakhand Assembly Elections 2022 भाजपा महिला मोर्चा की राष्ट्रीय महामंत्री दीप्ति रावत ने आगामी विधानसभा चुनाव में महिलाओं को प्रतिनिधित्व के सवाल को लेकर कांग्रेस पर निशाना साधा। प्रदेश भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि कांग्रेस की कथनी और करनी में भारी अंतर है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल कहते हैं कि चुनाव में महिला न युवा, सिर्फ जिताऊ प्रत्याशी को ही टिकट देंगे, जबकि पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय सभी 70 सीटों पर महिलाओं को टिकट देने की पैरवी करते हैं। इससे कांग्रेस का दोहरा चरित्र सामने आ गया है।

महिला मोर्चा की राष्ट्रीय महामंत्री दीप्ति ने कहा कि कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी उत्तर प्रदेश में 40 प्रतिशत टिकट महिलाओं को देने की बात कर रही हैं, वह भी उस राज्य में जहां कांग्रेस का खाता तक नहीं खुलने वाला। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड के परिप्रेक्ष्य में कांग्रेस क्यों कुछ नहीं बोल रही। कांग्रेस को इस बारे में स्थिति स्पष्ट करनी चाहिए। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि कांग्रेस ने महिलाओं को सिर्फ वोट बैंक समझा हुआ है। अब वह महिलाओं को भ्रमित करने का प्रयास कर रही है, लेकिन महिलाएं कांग्रेस और उसकी कुटिल चालों को बखूबी समझती है।

उन्होंने कहा कि भाजपा जो कहती है, वह करती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुआई में केंद्र और भाजपा शासित राज्यों की सरकारें जिस प्रकार से महिला सशक्तीकरण की योजनाएं लेकर आई हैं, उससे साफ है कि भाजपा को महिलाओं की चिंता है। महिला केंद्रित कार्यक्रमों व योजनाओं की बदौलत ही महिलाएं खुद को इनसे जुड़ा हुआ महसूस करती हैं। कांग्रेस को यही बात खलती है कि महिलाएं खुद को प्रधानमंत्री मोदी से जुड़ा हुआ क्यों समझती हैं। असल में पिछले 70 वर्षों में कांग्रेस ने महिलाओं को मूलभूत सुविधाएं तक मुहैया नहीं कराईं। महिलाओं को शौचालय जैसी मूलभूत सुविधा की जरूरत थी और इस बारे में अगर किसी को याद आया तो वह प्रधानमंत्री मोदी ही थे। उन्होंने केंद्र की महिला उत्थान से जुड़ी कई योजनाओं का जिक्र भी किया।

दीप्ति ने कहा कि भाजपा सरकार और संगठन की हमेशा महिला नेतृत्व को आगे बढ़ाने की कोशिश रही है। इसी कड़ी में पंचायतों में महिलाओं के लिए आरक्षण बढ़ाया गया। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में आगामी विधानसभा चुनाव में जहां भी महिलाएं सशक्त होंगी, पार्टी उन्हें टिकट देगी। पार्टी का प्रयास रहेगा कि चुनाव में ज्यादा से ज्यादा महिलाओं को टिकट दिए जाएं। कांग्रेस की ओर से महंगाई को मुद्दा बनाने संबंधी प्रश्न पर उन्होंने चुटकी ली कि पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस नेता हरीश रावत न जाने कहां से खाद्य सामग्री खरीदते हैं।

यह भी पढें- Uttarakhand Election: उत्तराखंड बसपा की चुनाव रणनीति को बहनजी पर नजर, आंकड़ों पर भी करें गौर

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.