top menutop menutop menu

उत्तराखंड में सीधी भर्ती का रोस्टर बदलने का विरोध करेगा उक्रांद

विकासनगर(देहरादून), जेएनएन। उत्तराखंड में सीधी भर्ती का रोस्टर बदलने के सरकारी फरमान का उत्तराखंड क्रांति दल ने विरोध किया है। जिलाध्यक्ष दिगंबर भंडारी ने विरोध करते हुए कहा कि दल जनरल और ओबीसी कर्मचारियों के मंगलवार से होने वाले आंदोलन के साथ खड़ा होगा।

उक्रांद जिलाध्यक्ष ने कहा कि जिस तरीके से अब राज्य में सीधी भर्ती की सरकारी नौकरियों में पहला, छठा, 11 वां, 16 वां व 21 वां पद एससी वर्ग के लिए आरक्षित किया गया है। उसका उक्रांद कड़े शब्दों में ङ्क्षनदा करता है। नए रोस्टर के अनुसार राज्य में सीधी भर्ती वाली सरकारी नौकरियों में पहला पद अब एससी वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए आरक्षित होगा, जो कि प्रतिभावान अभ्यर्थियों का मजाक उड़ाने के समान है। उक्रांद जिलाध्यक्ष भंडारी ने कहा कि जब पूर्व में भी पहला पद एससी वर्ग के लिए आरक्षित था तो नया रोस्टर लाकर सामान्य और ओबीसी वर्ग को सपने क्यों दिखाए गए। अब पुन: उस रोस्टर को बदलने का आदेश जारी करना सामान्य व ओबीसी वर्ग के लोगों के साथ छलावा है।

भाजपा नेता ने गांव में पहुंचकर लिया जायजा

भाजपा के वरिष्ठ नेता प्रताप रावत ने कालसी और सहिया पहुंचकर कर प्रतिनिधियों व कार्यकर्ताओं से मुलाकात कर क्वारंटाइन किए जा रहे लोगों के बारे में जानकारी हासिल की। उन्होंने कहा कि गांवो में स्कूलों में क्वारंटाइन किए गए लोगों की मदद ग्राम पंचायतों के प्रधान या अन्य प्रतिनिधि की मदद उत्तराखंड सरकार करेगी।

रविवार को उत्तर प्रदेश व हिमाचल बार्डर से होकर राज्य में प्रवेश करने वालों की धर्मावाला में उप जिला चिकित्सालय के चिकित्सकों ने रेंडम सैंपलिंग की। वहीं कालसी व साहिया में भाजपा नेता प्रताप रावत ने कहा कि जो प्रवासी मजदूर दूसरे राज्यों से जौनसार बाबर के गांवों में आ रहे है, उनको स्कूलों में क्वारंटाइन कराया जाए। इस संबध में एसडीएम से भी वार्ता की जा चुकी है, जिससे जौनसार बावर के गांव करोना संक्रमण से बच सके। उन्होंने कहा कि कुछ दिनों से क्षेत्र में भय का माहौल बना हुआ है, लेकिन किसी को डरने की कोई जरूरत नहीं है, जो प्रवासी आ रहे उनके परीक्षण के बाद ही भेजा जा रहा है। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में अफसरशाही का कमाल, घोटाले के आरोपित को किया बहाल

इस अवसर पर पूर्व प्रमुख कालसी अर्जुन सिंह, मंडल महामंत्री भाजपा साहिया प्रशांत भसीन, ग्राम पंचायत रानी गांव प्रधान नेपाल सिंह, अमर सिंह तोमर, बारु चौहान, बहादुर सिंह रावत आदि मौजूद थे। वहीं रविवार को धर्मावाला चौक पर चिकित्सकों ने हिमाचल व उत्तर प्रदेश बार्डर पार कर आने वालों की जांच कर कुल 16 लोगों की रेंडम सैंपलिंग भी की।

यह भी पढ़ें: व्यक्ति पूजा और प्रशस्ति भाजपा की कार्य संस्कृति नहीं: अजेंद्र अजय

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.