देहरादून में आठ दिन में 51 फीसद बढ़ा संक्रमण, एक मई को कोरोना के 2266 मामले किए गए थे दर्ज

कोरोना की मार सबसे अधिक दून में पड़ती दिख रही है।

कोरोना की मार सबसे अधिक दून में पड़ती दिख रही है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम को रात्रि कफ्र्यू से लेकर साप्ताहिक कफ्र्यू कुछ ढील के साथ पूर्ण कफ्र्यू भी लागू कर दिया गया है। हालांकि इन सबके बाद भी कोरोना संक्रमण की रफ्तार थम नहीं पा रही है।

Sumit KumarSun, 09 May 2021 09:10 AM (IST)

जागरण संवाददाता, देहरादून: कोरोना की मार सबसे अधिक दून में पड़ती दिख रही है। कोरोना संक्रमण की रोकथाम को रात्रि कफ्र्यू से लेकर साप्ताहिक कफ्र्यू, कुछ ढील के साथ पूर्ण कफ्र्यू भी लागू कर दिया गया है। हालांकि, इन सबके बाद भी कोरोना संक्रमण की रफ्तार थम नहीं पा रही है। एक मई के बाद से तो कोरोना बेहद तेजी से बढ़ा है। इन आठ दिनों में कोरोना संक्रमण में 51.36 फीसद का इजाफा हुआ है, जो कि हालात बयां करने के लिए काफी है।

एक मई को दून में कोरोना के 2266 मामले दर्ज किए गए थे। इसके बाद से कोरोना की रफ्तार बेहद तेजी से बढ़ रही है। सात मई की बात करें तो एक मई के मुकाबले यह बढ़त रिकॉर्ड 75.95 फीसद की रही है। संक्रमण की बढ़ती दर बता रही है कि रोकथाम के मौजूदा प्रयास नाकाफी हैं। इस बड़ी वजह यह भी है कि कोरोना कफ्र्यू लागू तो किया गया है, मगर इसमें दी गई छूट सभी कवायद पर पानी फेर रही है। यदि दून में आने वाले दिनों में हालात नियंत्रण में करने हैं तो कोरोना कफ्र्यू में कड़े प्रविधान करने होंगे और उनका सख्ती से पालन भी कराना होगा।

दून में इस तरह बढ़ा संक्रमण

01 मई---------------- 2266

02 मईई---------------- 2580

03 मईई---------------- 2080

04 मईई---------------- 2779

05 मईई---------------- 2771

06 मईई---------------- 3132

07 मईई---------------- 3979

08 मईई---------------- 3430

 

संक्रमण दर की स्थिति (फीसद में)

01 मई---------------- 21.1 02 मई---------------- 27.7 03 मई---------------- 26.3 04 मई---------------- 29.1 05 मई---------------- 28.8 06 मई---------------- 31.4 07 मई----------------, 34 08 मई---------------- 31.93

यह भी पढ़ें- नित बिगड़ रहे देहरादून के हालात, व्यवस्था भगवान के हाथ; यहां सिर्फ दिखावा बना कोविड कर्फ्यू

28 फीसद से अधिक बढ़ा मौत का आंकड़ा

दून में कोरोना संक्रमण के मुकाबले मौत का आंकड़ा कम है, मगर मौत का जो कुल आंकड़ा भी एक फीसद से कम होना चाहिए, उसके मुकाबले यह काफी अधिक है। दून में अब तक कोरोना संक्रमण के कुल 85 हजार 20 मामले दर्ज किए जा चुके हैं। इसके सापेक्ष 1997 व्यक्तियों की मौत हो चुकी है। इस तरह देखें तो मौत का आंकड़ा 2.34 फीसद हो चुके है। राज्य के औसत से भी यह काफी अधिक है। हालांकि, दून में यह आंकड़ा इसलिए भी अधिक है, क्योंकि यहां प्रदेशभर से लेकर अन्य प्रदेशों के भी गंभीर मरीज भर्ती किए जा रहे हैं। बड़ी संख्या में वह मरीज भी भर्ती किए जा रहे हैं, जिनकी हालत पहले ही बहुत खराब हो चुकी होती है।

इस तरह बढ़ रहे मौत के आंकड़े

01 मई तक--------------- 1549 02 मई तक---------------  1587 03 मई तक---------------  1666 04 मई तक---------------  1705 05 मई तक---------------  1774 06 मई तक--------------- , 1877 07 मई तक---------------  1957 08 मई तक---------------  1997 

यह भी पढ़ें- उत्‍तराखंड में 100 कंपनियां कर रहीं मास्क और पीपीई किट का उत्पादन, पढ़ि‍ए पूरी खबर

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.