त्योहारी सीजन पर ट्रेन और बसें फुल, यात्रियों को झेलनी पड़ रही परेशानी Dehradun News

देहरादून, जेएनएन। अगर आप दीपावली की छुट्टियां मनाने घर जा रहे हैं और आपने ट्रेन का रिजर्वेशन नहीं कराया या बस में सीट बुक नहीं कराई तो आपको परेशानी झेलनी पड़ेगी। दरअसल, ट्रेनों में रिजर्वेशन की वेटिंग 400 पार है और बसों में ऑनलाइन टिकट बुकिंग फुल हो चुकी है। ट्रेनों में सारा लोड जनरल टिकट बोगी व बसों में साधारण श्रेणी पर रहेगा। स्थिति को देखकर रोडवेज ने 200 अतिरिक्त बसों को चलाने की तैयारी की है। वहीं, ट्रेनों में अतिरिक्त कोच लगाने के लिए रेलवे मुख्यालय को अर्जी दे दी गई है। 

दीपावली पर घर जाने वालों की भीड़ शुक्रवार से बढ़ेगी, ऐसे में सीटों को लेकर इस बार भी हालात खराब हो सकते हैं। दीपावली पर इस बार सीधे तीन दिन की छुट्टी मिल रही है। ऐसे में अपने घर जाने वालों ने ट्रेनों में कई माह पहले रिजर्वेशन करा लिया था। वहीं, रोडवेज की वाल्वो और हाईटेक बसों में माहभर पहले ऑनलाइन टिकट बुकिंग करा ली थी। 

इस पर रोडवेज ने साधारण बसों के टिकट ऑनलाइन बुक करने शुरू कर दिए, लेकिन यह टिकट भी फुल हो गए। यहां से रवाना हुई सभी ट्रेनों की वेटिंग लंबी होती जा रही है। रेल प्रबंधन की ओर से जनरल टिकटों के लिए स्टेशन पर अतिरिक्त काउंटर लगाए गए हैं। ट्रेनों की संख्या कम है एवं रवाना होने वाले यात्रियों की संख्या हजारों में। 

वेटिंग लिस्ट देख कोच बढ़ाने की मांग

त्योहारी सीजन में लंबी दूरी की ट्रेनों खासकर पूर्वांचल जाने वाली सभी ट्रेनों में रिजर्वेशन के लिए मारामारी मची हुई है। स्थिति यह है कि दीपावली और छठ पूजा तक के लिए वेटिंग का आंकड़ा चार सौ से ऊपर चल रहा है। यात्रियों की भीड़ को देखते हुए स्टेशन प्रशासन ने सभी गाड़ियों में अतिरिक्त कोच की डिमांड मंडल स्तर पर भेजी है।

उपासना व राप्ती गंगा पैक

दीपावली व छठ पूजा से पहले दून से जाने वाली दो ट्रेनों उपासना एक्सप्रेस व राप्ती गंगा एक्सप्रेस में तो वेटिंग का आंकड़ा 400 के पार पहुंच गया है। 26 अक्टूबर को जहां उपासना एक्सप्रेस में स्लीपर क्लास में 380, थर्ड एसी में 153 और सेकेंड एसी में 57 वेटिंग है। वहीं, 24 अक्टूबर को राप्ती गंगा एक्सप्रेस में स्लीपर में 428 वेटिंग चल रही है।

अतिरिक्त कोच बढ़ाने की भेजी डिमांड 

रेलवे के मुख्य आरक्षण पर्यवेक्षक संजय अमन के अनुसार, पूर्वांचल जाने वाली सभी गाडिय़ों में वेटिंग का आंकड़ा 300 के पार है। हालांकि, दिल्ली व दक्षिण जाने वाली ट्रेनों में स्थित सामान्य है। यात्रियों की भीड़ को देखते हुए ट्रेनों में अतिरिक्त कोच बढ़ाने की डिमांड मंडल स्तर पर भेजी गई है। 

नौ नवंबर तक सुचारु रहेगा ट्रेनों का संचालन

देहरादून स्टेशन से ट्रेनों का संचालन आज से शुरू हो गया। 13 से 22 अक्टूबर के बीच हरिद्वार-लक्सर दोहरीकरण कार्य के चलते ट्रेनों का संचालन रद कर दिया गया था। इस दौरान यात्रियों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। अब यह कार्य पूरा हो चुका है। हालांकि दस नवंबर से फिर से ट्रेनें रद रहेंगी।

उत्तर रेलवे ने हरिद्वार-लक्सर के बीच दोहरीकरण कार्य को 13 से 22 अक्टूबर तक पूरा करने की स्वीकृति दी थी, जिसके चलते देहरादून से चलने वाली ट्रेनें प्रभावित हुई। कुछ ट्रेनें रद रहीं, तो कुछ ने अन्य स्टेशनों से आना-जाना किया। अब ब्लॉक का समय पूरा होने के बाद 23 अक्टूबर से देहरादून स्टेशन से सभी ट्रेनों का संचालन जारी रहेगा। इसमें देहरादून-बांद्रा एक्सप्रेस गुरुवार से चलेगी।

हालांकि यह संचालन सिर्फ 18 दिन तक जारी रहेगा। इसके बाद फिर 10 नवंबर 2019 से सात फरवरी 2020 तक हरिद्वार-देहरादून सेक्शन पर देहरादून यार्ड रिमॉडलिंग कार्य के चलते देहरादून स्टेशन से सभी ट्रेनों के संचालन पर पाबंदी है। इसमें कुछ ट्रेनें रद रहेंगी, जबकि अन्य ट्रेनें दूसरे स्टेशनों से आना-जाना करेंगी। रेलवे बोर्ड ने इसके लिए मेगा ब्लॉक कार्यक्रम भी जारी कर दिया है।

पांच नवंबर तक नहीं चलेगी देहरादून-सहारनपुर पैसेंजर

उत्तर रेलवे ने देहरादून-सहारनपुर पैसेंजर ट्रेन को पांच नवंबर तक रद किया हुआ है। जिसके चलते यह ट्रेन 23 अक्टूबर से न चलकर पांच नवंबर के बाद चलेगी।

यह भी पढ़ें: यात्रीगण कृपया ध्यान दें, 90 दिनों तक देहरादून नहीं आएंगी ट्रेनें; जानिए वजह

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.