Bharat Bandh: उत्तराखंड में भारत बंद का ऊधमसिंहनगर और हरिद्वार में आंशिक असर

Bharat Bandh तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा ने आज भारत बंद का आह्वान किया है। इसको लेकर उत्‍तराखंड में भी पुलिस प्रशासन अलर्ट है। साथ ही कई जगहों पर पुलिस के अलावा पीएसी फोर्स तैनात की गई है।

Sunil NegiMon, 27 Sep 2021 08:17 AM (IST)
Bharat Bandh तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ संयुक्त किसान मोर्चा ने आज भारत बंद का आह्वान किया है।

जागरण टीम, देहरादून। Bharat Bandh: कृषि कानूनों के विरोध में संयुक्त किसान मोर्चा के आहूत भारत बंद का ऊधमसिंहनगर व हरिद्वार में ही आंशिक असर रहा। देहारदून में धरना प्रदर्शन कर किसानों ने आक्रोश व्यक्त किया। पहाड़ी जिलों में बंद बेअसर रहा।

ऊधमसिंहनगर में बंद का सर्वाधिक असर काशीपुर व बाजपुर में दिखा। काशीपुर में बंद समर्थकों ने चक्का जाम किया। वहीं चढ़ूनी गुट के जिलाध्यक्ष ने आत्मदाह की चेतावनी दी तो पुलिस के हाथ पैर फूल गए। किच्छा में दुकान बंद कराने आए बंद समर्थकों से पूर्व सैनिक की नोकझोंक हो गई। काशीपुर में चक्का जाम की वजह से हरिद्वार-देहरादून रूट पर बसों का संचालन भी प्रभावित रहा। बाजपुर में किसानों ने भगत ङ्क्षसह व रामपुर बार्डर पर प्रदर्शन किया। रुद्रपुर, खटीमा, सितारगंज, किच्छा, गदरपुर, जसपुर व पंतनगर में किसानों के साथ कांग्रेसियों ने धरना दिया। सितारगंज में किसानों ने जुलूस भी निकाला।

हरिद्वार में किसान संयुक्त मोर्चा ने प्रदर्शन किया और जिला प्रशासन के माध्यम से सरकार को ज्ञापन भेजा। देहरादून में बंद का असर नहीं दिखा, लेकिन विभिन्न संगठनों ने अलग-अलग तरीके से विरोध प्रदर्शित किया। विभिन्न किसान संगठनों व कर्मचारी संगठनों ने रैलियां निकाल व गोष्ठी कर विरोध जताया।

हरिद्वार में भारत बंद का आंशिक असर

हरिद्वार में भारत बंद का आंशिक असर नजर आया। शहर और आसपास के क्षेत्रों के व्यापारिक प्रतिष्ठान खुले रहे। हालांकि, उत्तर प्रदेश के कई जिलों में किसानों के प्रदर्शन के चलते रोडवेज बसों के संचालन पर आंशिक असर पड़ा है। ट्रेनों का संचालन सामान्य है। सार्वजनिक परिवहन पूर्व की भांति संचालित किया। उल्लेखनीय है कि कृषि कानून के खिलाफ आंदोलनरत किसानों ने सोमवार को भारत बंद का आह्वान किया था।

शहर व देहात क्षेत्र को सेक्टर व जोन में बांटा गया है। सीओ अपने-अपने क्षेत्र में गश्त करेंगे वहीं एसपी सिटी व देहात लगातार भ्रमण पर रहेंगे। उन्होंने जनता से भी अपील की है कि यदि किसी ने अपना विरोध जताना है तो वह शांतिपूर्ण ढंग से जताए। कोई भी अप्रिय घटना बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने बताया कि जिले में पुलिस के अलावा छह कंपनियां पीएसी तैनात की गई है। इसके अलावा दो कंपनी एटीएस को रिजर्व में रखा गया है, ताकि कहीं से कोई सूचना मिलती है तो तुरंत एटीएस मौके पर पहुंचेगी। सभी थानाध्यक्षों को अपने-अपने क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाने के लिए निर्देशित किया गया है।

रोडवेज बसों का संचालन रहा ठप

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में हाइवे जाम करने के चलते रोडवेज बसों का संचालन ठप हो गया है। रुड़की हरिद्वार के बीच अब रोडवेज बसें नहीं आ पाए रही है रुड़की डिपो से केवल हरिद्वार देहरादून के लिए ही बसों का संचालन किया जा रहा है। फिलहाल दिल्ली जाने वाली बसों को बस अड्डे पर ही रोक दिया गया है। दिल्ली से वापस आने वाली बसें विभिन्न स्थानों पर किसानों की ओर से लगाए गए जाम में फंसी हुई है। वरिष्ठ केंद्र प्रभारी विवेक कपूर ने बताया कि जाम खुलने के बाद ही बसों को रुड़की डिपो से भेजा जाएगा। फिलहाल, रुड़की डिपो की आठ बसें विभिन्न स्थानों पर जाम में फंसी हुई हैं।

जबरन दुकानें बंद कराने वालों से सख्ती से निपटेगी पुलिस

हरिद्वार में संयुक्त किसान मोर्चा की ओर से सोमवार को बुलाए गए भारत बंद को लेकर हरिद्वार की पुलिस ने तैयारियां कर ली हैं। जनपद में शांति और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) डा. योगेंद्र ङ्क्षसह रावत ने जरूरी निर्देश जारी किए हैं। जिले में चार प्लाटून पीएसी के अलावा अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है। एसएसपी ने स्पष्ट किया है कि कोई चाहे तो अपनी मर्जी से अपना प्रतिष्ठान बंद रख सकता है, लेकिन जबरन बंद कराने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी।

एसएसपी डा. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि जिले में थाने कोतवाली में तैनात कर्मचारियों के अलावा चार प्लाटून पीएसी व दफ्तरों से 30 से अधिक दारोगा जिले के थानाक्षेत्रों में तैनात किए गए हैं। जिले भर में राजपत्रित अफसर अपने क्षेत्र में गश्त करेंगे। विशेषकर देहात क्षेत्र में पूरी तरह से चौकस रहने की हिदायत दी गई है। एलआइयू के जवान भी पूरे जिले में अपनी नजर बनाए रखेंगे। वहीं किसान नेता सूबा सिंह ने बताया कि दीनारपुर से एक किसान रैली निकलेगी। रैली एक्कड़, सराय, पुल जटवाडा, आर्यनगर, कनखल, जगजीतपुर, धनपुरा, सुगरासा होते हुए चिट्ठी कोठी पहुंचकर समाप्त होगी।

यह भी पढ़ें:- Bharat Bandh: ऋषिकेश और आसपास के क्षेत्रों में नहीं दिखा भारत बंद का असर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.