Dehradun Roads: देहरादून के लाल पुल और कारगी हिचकोला मार्ग पर आपका स्वागत है

देहरादून में वैसे तो सभी सड़कों का हाल एक जैसा है लेकिन लाल पुल से कारगी चौक मार्ग पर तो हालात बेहद खराब है। करीब दो किलोमीटर से ज्‍यादा लंबी इस सड़क पर आपको सड़क कम गड्ढे ज्‍यादा नजर आएंगे। इससे आए दिन हादसे होते रहते हैं।

Sunil NegiSat, 18 Sep 2021 11:23 AM (IST)
कारगी चौक की खस्ताहाल सड़क और फैली बजरी वाहन चालकों के लिए आए दिन बन रही है दुर्घटना का कारण।

जागरण संवाददाता, देहरादून। दून की ज्यादातर सड़कों का इन दिनों बुरा हाल है। कहीं गड्ढे तो कहीं उखड़ी टाइल वाहन सवारों को दर्द दे रही हैं। लाल पुल-कारगी चौक मार्ग पर तो हालात बेहद खराब बने हुए हैं। संकरी सड़क पर जाम की समस्या तो आम है ही, गड्ढों में वाहन सवार हिचकोले खाने को भी मजबूर हैं। करीब 2.4 किलोमीटर लंबी इस रोड पर दर्जनों गड्ढे हैं। जिन पर मरहम लगाने को पैचवर्क किया तो जा रहा है, लेकिन वह दो दिन से अधिक नहीं टिकता। नाली निर्माण न होने से बारिश का पानी भी सड़कों पर ही जमा रहता है।

लाल पुल-कारगी मार्ग अब शहर के व्यस्ततम मार्गों में शुमार हो चुका है। यहां सुबह और शाम के वक्त वाहनों का खासा दबाव रहता है। अक्सर यहां वाहनों को रेंगते हुए पाया जाता है। कारण यह कि न तो फुटपाथ है और न वाहनों के दबाव के अनुसार सड़क की चौड़ाई। ऊपर से चार-चार कदम की दूरी पर सड़क उखड़ी पड़ी है।

कुछ स्थानों पर टाइल बिछाकर सड़क को दुरुस्त करने का प्रयास तो किया गया, लेकिन टाइल भी उखड़ गईं और मार्ग दुपहिया वाहनों के लिए खतरनाक हो गया है। वहीं, डामर से किए गए पैचवर्क की सूरत भी बारिश से बिगड़ गई है। पाम सिटी के पास से लेकर नारायण विहार तक तो बिजली और सीवर की लाइन का भी कार्य चल रहा है। इतना ही नहीं, सड़क के किनारे अव्यवस्थित खड़े बिजली के पोल भी आवाजाही में बाधा बन रहे हैं। सिस्टम की नजरों के सामने ही पूरी सड़क बदहाली का नमूना बनी हुई है।

मरम्मत की जहमत नहीं, चौड़ीकरण की तैयारी

लाल पुल-कारगी मार्ग की मरम्मत पर तो लोक निर्माण विभाग ध्यान नहीं दे पा रहा है, लेकिन अब इस मार्ग के चौड़ीकरण की तैयारी है। उम्मीद है चौड़ीकरण के बाद इस मार्ग पर सफर सुगम हो सकेगा। हालांकि, अभी यह तैयारी सिस्टम की सुस्ती में अटकी हुई है।

चौड़ीकरण का करीब नौ करोड़ रुपये का प्रस्ताव लोनिवि निर्माण खंड ने करीब डेढ़ साल पहले शासन को भेज दिया था। तब से लोनिवि के अधिकारी प्रस्ताव को मंजूरी मिलने के इंतजार में बैठे हैं और सड़क पर साल दर साल गड्ढों की संख्या बढ़ती जा रही है। एकमुश्त नौ करोड़ रुपये की स्वीकृति संभव न देख उच्चाधिकारियों ने तय किया कि कारगी रोड का चौड़ीकरण चरणवार किया जाएगा। पहले फेज में बिजली के खंभों व पेयजल लाइन की शिफ्टिंग का निर्णय लिया गया। लोनिवि निर्माण खंड ने शिफ्टिंग के लिए एक करोड़ रुपये से अधिक का प्रस्ताव तैयार किया है।

यह भी पढ़ें:- हरिद्वार बाईपास रोड को फोर लेन करने उतरी मशीनरी, नौ साल से अधर में लटकी थी परियोजना

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.