पेयजल समस्या के निस्तारण पर क्षेत्रवासियों ने मुख्यमंत्री का किया अभिनंदन

कालोनीवासियों ने पेयजल समस्या के निस्तारण पर महापौर अनीता ममगाईं के नेतृत्व में मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का अभिनंदन किया।

कृष्णानगर पेयजल योजना पर 1.46 करोड़ की लागत से कार्य शुरू हो गया है। वहीं लंबे समय से पेयजल की समस्‍या से जूझ रहे कालोनीवासियों ने पेयजल समस्या के निस्तारण पर महापौर अनीता ममगाईं के नेतृत्व में मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का अभिनंदन किया।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 04:11 PM (IST) Author: Sumit Kumar

जागरण संवाददाता, ऋषिकेश: कृष्णानगर पेयजल योजना पर 1.46 करोड़ की लागत से कार्य शुरू हो गया है। वहीं, लंबे समय से पेयजल की समस्‍या से जूझ रहे कालोनीवासियों ने पेयजल समस्या के निस्तारण पर महापौर अनीता ममगाईं के नेतृत्व में मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का अभिनंदन किया। 

रविवार को कॉलोनी वासियों ने शेरगढ़ लाल तप्पड़ में मुख्यमंत्री के आयोजित कार्यक्रम में पहुंचकर मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को माला पहनाकर स्‍वागत किया। कृष्णा नगर कॉलोनी की वर्षों पुरानी पेयजल समस्या के निस्तारण के बाद द्वितीय चरण का कार्य प्रारंभ होने से उत्साहित क्षेत्रवासियों वासियों ने मुख्‍यमंत्री का आभार जताया। क्षेत्र की पेयजल समस्या के लिए लंबे अरसे तक आंदोलन करने वाले जन कल्याण समिति के संरक्षक डॉ. बीएन तिवारी ने बताया कि विगत वर्ष पेयजल समस्या को लेकर महापौर से गुहार लगाई गई थी। जिसके बाद महापौर ने मुख्यमंत्री से इस समस्या के बारे में वार्ता की।

 

यह भी पढ़ें- Cyber Crime: शिकायतें दर्ज करने पर उत्तराखंड पुलिस ने देश में पाया चौथा स्थान, पहले और दूसरे नंबर पर ये राज्य

मुख्यमंत्री ने तत्काल समस्या का संज्ञान लेते हुए योजना को जल्द से जल्द धरातल पर लाने के लिए आदेश दे दिए थे। महापौर के प्रयासों के चलते द्वितीय चरण में एक करोड़ चालीस लाख रुपये की लागत से योजना का कार्य शुरू हो चुका है। इस दौरान पार्षद कमलेश जैन, अशोक बेलवाल, योगेंद्र सैनी, लतेज कुमार, नीलम तिवारी, रामकेवल गुलाब, पुष्पा बेलवाल, कुशाल सिंह, नवल, आदित्य, लक्ष्मी, ममता, रीना, मनजीत, राधा, प्रिया, निक्की, पवन,सोनी, मोहन, भगवान दास, सपना, सोनी, लक्ष्मी आदि मौजूद रहे। 

यह भी पढ़ें-Coronavirus Vaccination: उत्तराखंड में टीकाकरण के दौरान कुछ तकनीकी दिक्कतें रहीं, कुछ व्यवहारिक

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.