चमोली आपदा का शिकार कर्मियों के पीएफ का भुगतान शुरू

आश्रितों को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने पीएफ की राशि का भुगतान शुरू कर दिया है।

ऋषिगंगा क्षेत्र से निकली जलप्रलय में तपोवन विष्णुगाड बिजली परियोजना के जिन कर्मचारियों की अकाल मृत्यु हुई है उनके आश्रितों को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने पीएफ की राशि का भुगतान शुरू कर दिया है ताकि संकट की इस घड़ी में उन्हें आर्थिक रूप भी संबल मिल सके।

Sumit KumarThu, 04 Mar 2021 03:58 PM (IST)

जागरण संवाददाता, देहरादून: ऋषिगंगा क्षेत्र से निकली जलप्रलय में तपोवन विष्णुगाड बिजली परियोजना के जिन कर्मचारियों की अकाल मृत्यु हुई है, उनके आश्रितों को कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईपीएफओ) ने पीएफ की राशि का भुगतान शुरू कर दिया है, ताकि संकट की इस घड़ी में उन्हें आर्थिक रूप भी संबल मिल सके। बुधवार को ईपीएफओ ने चार मृतक कर्मचारियों की पीएफ अंशदान की राशि उनके स्वजनों के सुपुर्द कर दी।

ईपीएफओ के क्षेत्रीय आयुक्त मनोज कुमार यादव के मुताबिक, दो प्रवर्तन अधिकारियों को तपोवन विष्णुगाड परियोजना स्थल पर भेजा गया था, ताकि वहां एनटीपीसी के विभिन्न ठेकेदारों के माध्यम से काम कर रहे कर्मचारियों की स्थिति स्पष्ट की जा सके। प्रवर्तन अधिकारियों ने आपदा का शिकार बने कर्मचारियों के पीएफ दावे की औपचारिकताएं पूरी कराईं। क्षेत्रीय आयुक्त के मुताबिक, अभी करीब 140 कर्मचारियों के मामले में दावे की कार्रवाई पूरी की जानी है। संबंधित ठेकेदारों को सभी औपचारिकताएं शीघ्र पूरी कर दावे प्रस्तुत करने को कहा गया है। इसके अलावा मृतक कर्मचारियों के आश्रितों को छह लाख रुपये तक का बीमा क्लेम भी दिया जाएगा। नियमों के तहत मृतक कर्मचारी की पत्नी व 24 वर्ष तक की उम्र के दो बच्चों को पेंशन दिए जाने का भी प्रविधान है। पात्रता के अनुसार मासिक पेंशन जारी करने की कार्रवाई भी शीघ्र पूरी की जाएगी। ईपीएफओ ने अंशदान राशि या बीमा व पेंशन में आने वाली किसी भी अड़चन को दूर करने के लिए मोबाइल नंबर 8920985969 भी जारी किया गया।यह भी पढ़ें- चमोली की ऋषिगंगा झील से पानी निकालने का साइफोनिक एक्शन सुरक्षित तरीका, आइआइटी रुड़की के वैज्ञ‍ानिकों ने भेज रिपोर्ट

केंद्रीय भविष्य निधि के आयुक्त सुनील बड़थ्वाल का कहना है कि  ऋषि गंगा की आपदा में जिन कर्मचारियों की मृत्य हुई है, उनके आश्रितों को पीएफ संबंधी सभी अनुमन्य लाभ जल्द से जल्द देने के प्रयास किए जा रहे हैं। इस कार्य की निरंतर मॉनीटरिंग भी की जा रही है। 

इन आश्रितों को मिली राशि

जितेंद्र कुमार मिश्रा, 1,30,00 सरिता थापा, 1,84,07 सरोजनी देवी, 1,75,40 विमला देवी, 1,17,357 

यह भी पढ़ें- पीडब्‍ल्‍यूडी अब काठगोदाम टू गौलापार खेड़ा की सड़क की मरम्मत नहीं करवाएगा

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.