दिल्ली-देहरादून राजमार्ग पर गणेशपुर के पास दो बसों की भिड़ंत, दस यात्री घायल

मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे दिल्ली-देहरादून राजमार्ग पर मोहंड से आगे गणेशपुर के पास उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की दो बसों में भिड़ंत हो गई। इस हादसे में दस यात्री घायल हो गए। सभी घायलों को पुलिस ने अस्‍पताल में भर्ती कराया।

Sunil NegiWed, 15 Sep 2021 01:23 PM (IST)
दिल्ली-देहरादून राजमार्ग पर मोहंड से आगे गणेशपुर के पास उत्तरप्रदेश परिवहन निगम की दो बसों में आमने-सामने टक्कर हो गई।

जागरण संवाददाता, देहरादून। दिल्ली-देहरादून राजमार्ग पर मोहंड से आगे गणेशपुर के पास उत्तर प्रदेश परिवहन निगम की दो बसों में आमने-सामने टक्कर हो गई। इस हादसे में दस लोग घायल हो गए। सभी घायलों को पुलिस ने फतेहपुर स्थित एक अस्पताल भेजा। वहां से सभी घायलों को हालत गंभीर होने के चलते सहारनपुर रेफर कर दिया गया। घायलों में चार लोग देहरादून के भी हैं। वहीं, एक घायल दिल्ली का रहने वाला है। बाकी लोग उत्तर प्रदेश के हैं।

हादसा मंगलवार दोपहर करीब 12 बजे हुआ। मेरठ डिपो की रोडवेज बस देहरादून आ रही थी, जबकि छुटमलपुर डिपो की बस देहरादून से सहारनपुर जा रही थी। गणेशपुर के निकट दोनों बसों में जोरदार भिड़ंत हो गई। इससे यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। राजमार्ग से गुजर रहे व्यक्तियों ने हादसे की सूचना स्थानीय पुलिस को दी। पुलिसकर्मियों ने राहगीरों की मदद से सभी यात्रियों को बसों से निकाला। इसके बाद घायल व्यक्तियों को अस्पताल ले जाया गया। हादसे की वजह से राजमार्ग पर कुछ देर के लिए यातायात भी प्रभावित हुआ। पुलिस ने दोनों बसों को क्रेन की मदद से सड़क के किनारे कराया, तब जाकर यातायात सुचारू हुआ।

हादसे में यह हुए घायल

मुकेश निवासी सेलाकुई, महबूब निवासी तेलीवाला डोईवाला, पंकज निवासी डोईवाला और रिहाना निवासी डोईवाला। इनमें से रिहाना को उनके स्वजन देर शाम जौलीग्रांट अस्पताल ले आए। अन्य लोग सहारनपुर के जिला अस्पताल में भर्ती हैं। इसके अलावा विकास निवासी रमा पार्क उत्तमनगर दिल्ली, आनंदी निवासी सहारनपुर (उप्र), पवन निवासी मुजफ्फरनगर (उप्र), उस्मान निवासी सहारनपुर (उप्र), दीपक निवासी ननौता (उप्र), फजलू निवासी मुजफ्फरनगर (उप्र) भी हादसे में घायल हुए हैं।

------------------- 

बारिश से मसराड़ गांव में मकान की दीवार गिरी

जौनसार-बावर के मसराड़ गांव में बारिश से एक मकान की दीवार धराशाई हो गई। गनीमत रही कि जिस समय हादसा हुआ, उस समय बारिश की वजह से परिवार के सभी सदस्य जाग रहे रहे थे। इसी बीच भरभराकर दीवार गिरने लगी तो सभी बाहर की ओर भागे और अपनी जान बचाई। मकान का एक हिस्सा पूरी तरह गिर जाने के कारण पीड़ि‍त परिवार ने रात पड़ोस के एक मकान में गुजारी।

बारिश की वजह से मसराड़ निवासी कलम दास के परिवार के पांच सदस्य जाग रहे थे। सोमवार की रात में तेज बारिश के चलते अचानक उनको मकान की दीवार बैठने की आवाज आयी। बिना देर किए पांचो सदस्य बाहर की ओर भागे। बाहर की ओर भागते ही कलम दास का मकान पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गया। पूरे परिवार ने गांव में पड़ोस के एक मकान में शरण ली और रात गुजारी।

आर्थिक रूप से बेहद कमजोर कलम दास का कहना था कि किसी तरह से पुराने मकान में अपने परिवार के साथ गुजर बसर कर रहे थे, लेकिन सिर पर छत न रहने से उनकी स्थिति और ज्यादा खराब हो गई है। उधर, क्षेत्रीय राजस्व उपनिरीक्षक प्यारे राम शर्मा का कहना है कि मौके पर जाकर निरीक्षण कर लिया गया है, रिपोर्ट उचित माध्यम से शासन को भेजी जाएगी।

यह भी पढ़ें:- चकराता-कालसी मोटर मार्ग पर साहिया के पास सड़क पर पलटा वाहन, नौ लोग घायल

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.