पर्यटन हब के रूप में अब मिलेगी तपोवन को पहचान

ऋषिकेश से सटे ग्राम पंचायत तपोवन और घुघतानी को मंत्रीमंडल की बैठक में नगर पंचायत बनाने का निर्णय लिया है। सरकार के इस कदम से निश्चित रूप से साहसिक पर्यटन और वैलनेस सेंटर के केंद्र के रूप में पहचान रखने वाले इन क्षेत्रों का अब नियोजित विकास होगा।

JagranSat, 25 Sep 2021 03:38 AM (IST)
पर्यटन हब के रूप में अब मिलेगी तपोवन को पहचान

हरीश तिवारी, ऋषिकेश:

ऋषिकेश से सटे ग्राम पंचायत तपोवन और घुघतानी को मंत्रीमंडल की बैठक में नगर पंचायत बनाने का निर्णय लिया है। सरकार के इस कदम से निश्चित रूप से साहसिक पर्यटन और वैलनेस सेंटर के केंद्र के रूप में पहचान रखने वाले इन क्षेत्रों का अब नियोजित विकास होगा। स्थानीय जनता लंबे समय से इसे नगर पंचायत बनाने की मांग कर रही थी। अब यह मुराद पूरी हो गई है। राज्य सरकार की ओर से इसे लेकर शीघ्र अधिसूचना जारी कर दी जाएगी।

ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित जनपद टिहरी गढ़वाल की नरेंद्र नगर तहसील के ग्राम पंचायत तपोवन और घुघतानी क्षेत्र किसी परिचय के मोहताज नहीं है। गंगा तट पर बसे इस क्षेत्र में पूरे वर्ष तीर्थाटन और पर्यटन दोनों के द्वार खुले रहते हैं। यहां साहसिक पर्यटन के साथ-साथ आध्यात्मिक दृष्टिकोण से भी कई मंदिर और मठ स्थित है। ग्राम पंचायत में शामिल होने के कारण इस समूचे क्षेत्र का नियोजित विकास नहीं हो पा रहा था। कोरोना संक्रमण काल को छोड़ दें तो सामान्य दिनों में यहां प्रतिदिन 500 पर्यटक सिर्फ राफ्टिग के लिए आते रहे हैं। सप्ताहांत पर सिर्फ राफ्टिग के लिए ही यहां करीब 1500 पर्यटक आते हैं।

पूरे क्षेत्र में करीब 400 होटल, रिजार्ट और होमस्टे की सुविधा उपलब्ध है। मुनिकीरेती-कौड़ियाला इको टूरिज्म जोन के अंतर्गत यह क्षेत्र आता है। यह क्षेत्र विदेशी पर्यटकों की पसंदीदा जगह रही है। पौराणिक लक्ष्मण झूला पुल स्कंद पुराण के केदारखंड में वर्णित श्री राम के भाई लक्ष्मण के तप स्थल लक्ष्मण मंदिर जहां स्थित है। पौराणिक नीलकंठ मंदिर की यात्रा का रास्ता भी यहीं से होकर जाता है। कांवड़ यात्रा में भी यहां अपार भीड़ उमड़ती है। इन तमाम बातों को ध्यान में रखते हुए इस क्षेत्र के नियोजित विकास को गति मिलना जरूरी हो गया था। स्थानीय जनता लंबे समय से इस क्षेत्र को निकाय बनाने की मांग कर रही थी। मंत्रीमंडल की ओर से शुक्रवार को इस क्षेत्र को नगर पंचायत बनाने की मंजूरी प्रदान कर दी गई।

-----------------------

तपोवन में पर्यटन की संभावनाएं

- आयुर्वेद वैलनेस सेंटर 10

- स्पा सेंटर 22

- योगा सेंटर 30

- राफ्टिग कंपनियां 252

- नीर गड्डू वाटरफाल ट्रैक

- कुंजापुरी और नीलकंठ ट्रैक

- बर्ड वाचिग कि पसंदीदा ट्रेल

- होटल, रिजार्ट, होमस्टे 400

----------------------

जन भावनाओं का हुआ सम्मान

तपोवन और घुघतानी ग्राम पंचायत की कुल 3900 आबादी नगर पंचायत में शामिल की गई है। विभिन्न प्रांतों से प्रतिवर्ष यहां आने वाले पर्यटकों और श्रद्धालुओं की बात करें तो यहां की चलायमान जनसंख्या दो लाख से अधिक होती है। तपोवन और घुघतानी ग्राम पंचायत के पास पर्याप्त संसाधन ना होने के कारण इस क्षेत्र में सफाई व्यवस्था के साथ-साथ अन्य कई समस्याओं हैं। टूरिज्म एंड कल्चर डेवलपमेंट आर्गेनाइजेशन तपोवन से जुड़े शंकर राय, वेद प्रकाश मैठानी, होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष रवि भंडारी, विजेंद्र पंवार, व्यापार मंडल के अध्यक्ष लेखराज भंडारी,अमित भारद्वाज ने सरकार के इस फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि क्षेत्रीय विधायक व कृषि मंत्री सुबोध उनियाल के माध्यम से स्थानीय नागरिक और संगठनों ने इस मांग को लंबे समय से उठाया था। उन्होंने इस मामले में कृषि मंत्री के प्रयासों की भी सराहना की।

-----------------

तपोवन और घुघतानी ग्राम पंचायत की कुल आबादी 3900 है। नगर पंचायत के गठन के लिए निर्धारित मानकों में सरकार ने शिथिलता प्रदान की हैं। हमने जन भावनाओं को मुख्यमंत्री के समक्ष रखा और कैबिनेट ने इस क्षेत्र को नगर पंचायत बनाने की मंजूरी प्रदान की। निश्चित रूप से इस निर्णय से क्षेत्र का अब और अधिक नियोजित विकास होगा।

- सुबोध उनियाल, विधायक नरेंद्रनगर व कृषि मंत्री उत्तराखंड

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.