गंगा की लहरों पर पर्यटकों ने किया रोमांच का सफर, आप भी आइए यहां और इस पैकेज पर उठाएं राफ्टिंग का लुत्फ

गंगा की लहरों पर रोमांच का सफर।
Publish Date:Sat, 26 Sep 2020 07:48 PM (IST) Author:

ऋषिकेश, जेएनएन। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण प्रदेश में ठप पड़ी साहसिक गतिविधियां फिर शुरू हो गई है। टिहरी झील में नौका बिहार प्रारंभ होने के बाद शनिवार से निर्धारित गाइडलाइन के साथ गंगा में राफ्टिंग भी शुरू कर दी गई है। ऋषिकेश में मुनिकीरेती कोडियाला ईकोटूरिज्म जोन साहसिक गतिविधियों का प्रमुख केंद्र रहा है। यहां राफ्टिंग, कयाकिंग और सलालम जैसी गतिविधियां देश-विदेश के पर्यटकों को रोमांचित करती रही है।

वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस संक्रमण की दस्तक के बीच 19 मार्च को गंगा में राफ्टिंग बंद हो गई थी। जिससे यहां रजिस्टर्ड 265 कंपनियों से जुड़े संचालक, राफ्टिंग गाइड, चालक परिचालक सभी आर्थिक तंगी से जूझ रहे थे। वर्तमान में यहां करीब 750 राफ्टिंग गाइड कार्यरत हैं, लेकिन अब अनलॉक फोर में सरकार ने गाइडलाइन जारी करके साहसिक पर्यटन में छूट प्रदान की है। गंगा में राफ्टिंग को लेकर जो भी संशय था वह अब दूर हो गया है। जिला पर्यटन विभाग टिहरी गढ़वाल ने गाइडलाइन जारी की है, जिसमें राफ्टिंग कंपनियों को शपथ पत्र देकर शारीरिक दूरी, निर्धारित पर्यटक संख्या, सैनेटाइजर का प्रयोग और अन्य शर्तों का अनुपालन करना जरूरी किया गया है। 
गंगा नदी राफ्टिंग रोटेशन समिति के अंतर्गत संचालित होने वाली कंपनियों ने शनिवार से शपथ पत्र भरने शुरू कर दिए हैं। करीब 50 संचालकों ने अभी शपथ पत्र जमा करा दिए हैं। शनिवार दोपहर दो बजे गंगा में राफ्टिंग शुरू हो गई। अभी यहां दिल्ली और हरियाणा से पर्यटक पहुंचे हैं। सभी बहुत खुश हैं। धीरे-धीरे यहां पर्यटकों की संख्या बढ़ने की उम्मीद है। गंगा नदी राफ्टिंग रोटेशन समिति के दिनेश भट्ट ने बताया कि पहले दिन करीब 200 पर्यटकों ने राफ्टिंग का लुत्फ उठाया। यह सत्र 30 जून 2021 तक जारी रहेगा। शासन और पर्यटन विभाग की गाइडलाइन और शर्तों के अनुसार राफ्टिंग का संचालन शुरू किया गया है। आठ सीटर राफ्ट में चार पर्यटक और दो गाइड बिठाए जा रहे हैं। अभी दरों में कोई वृद्धि नहीं की गई है। हमारी कोशिश राफ्टिंग व्यवसाय को पटरी पर लाना है। 
वहीं, टिहरी जिला पर्यटन विकास अधिकारी एसएस राणा का कहना है कि पर्यटन राफ्टिंग कंपनी संचालकों के लिए शपथ पत्र देना आवश्यक होगा, जिसमें कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम से संबंधित गाइडलाइन का पालन करना सुनिश्चित किया गया है। शनिवार से राफ्टिंग शुरू हो गई है। धीरे-धीरे सभी व्यवसाई शपथ पत्र जमा करा देंगे।
हरियाणा के सिरसा से आईं बैंक कर्मी आयुषी कहती हैं कि हम पिछले लंबे समय से राफ्टिंग का प्लान बना रहे थे। अब हमें यह मौका मिला है। पिछले छह माह में हम सभी काफी तनाव में थे। यहां आकर अपने को हल्का महसूस कर रहे हैं। मैं और मेरे सभी साथी बहुत खुश हैं। वहीं, तपोवन मुनिकीरेती के राफ्टिंग व्यवसायी भीम सिंह राणा बताते हैं कि यहां के काफी स्थानीय युवाओं ने राफ्टिंग को स्वरोजगार के रूप में अपनाया है। पिछले छह माह से कोरोना संक्रमण के कारण सब कुछ ठप था। व्यवसायी और कर्मचारी आर्थिक तंगी झेल रहे थे। अब धीरे-धीरे सब ठीक हो जाएगा।
यह भी पढ़ें: Unlock 4.0: रोमांच के हैं शौकीन तो चले आइए यहां, हटी सारी पाबंदियां; बस जान लें पूरी Guideline  
राफ्टिंग टूर दूरी और दर 
-कोडियाला से नीम बीच 35 किलोमीटर 2500 रुपये 
-कोडियाला से शिवपुरी 20 किलोमीटर 1500 रुपये 
-ब्यासी से शिवपुरी 10 किलोमीटर 600 रुपये 
-ब्यासी से नीम बीच 25 किलोमीटर 1500 रुपये
-शिवपुरी से नीम बीच 15 किलोमीटर 1000 रुपये 
-मरीन ड्राइव से नीम बीच 09 किलोमीटर 600 रुपये 
-क्लब हाउस से नीम बीच 09 किलोमीटर 600 रुपये
यह भी पढ़ें: Unlock 4.0: टिहरी झील में फिर शुरू हुआ रोमांच का सफर, आप भी यहां आइये और उठाइए लुत्फ; तस्वीरें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.