अस्थायी जेल हरिद्वार से फरार शूटर शुभम सेलाकुई से गिरफ्तार, हत्‍या समेत कई मामले हैं दर्ज

सेलाकुई थाने की पुलिस को शूटर से पूछताछ में कई अन्य मामलों की जानकारी म‍िली है।
Publish Date:Sat, 26 Sep 2020 07:27 PM (IST) Author:

विकासनगर (देहरदून), जेएनएन। हरिद्वार के भिक्षुक गृह में बने अस्थायी जेल से फरार कलीम गैंग के कुख्यात शूटर शुभम पंवार को सेलाकुई थाने की पुलिस ने निगम रोड से शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। सेलाकुई पुलिस  ने शूटर की गिरफ्तारी की सूचना उच्चाधिकारियों के साथ ही हरिद्वार पुलिस को दी। हरिद्वार से पुलिस टीम पहुंची और फरार आरोपित को हिरासत में लेकर न्यायालय में पेश करने के लिए लेकर गई। शूटर से सेलाकुई थाने की पुलिस को गिरफ्तारी के बाद की गई पूछताछ में कई अन्य मामलों की जानकारी म‍िली है। 

सात सितंबर की रात में हरिद्वार जनपद के ज्वालापुर कोतवाली क्षेत्र में बिल्डर मोनू त्यागी के घर के बाहर कलीम गैंग के गुर्गों ने फायरिंग की थी। जिस पर हरिद्वार पुलिस ने पांच शातिरों को गिरफ्तार कर उन्हें हरिद्वार के भिक्षुक गृह की अस्थायी जेल में न्यायिक हिरासत में रखा था। 22 सितंबर की सुबह इन पांच आरोपितों के साथ ही तीन अन्य कैदी जेल की खिड़की तोड़ कर फरार हो गए थे। इस संबंध में थाना सिडकुल में आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था। भिक्षुक गृह से फरार आठ आरोपितों में छह को हरिद्वार पुलिस पूर्व में गिरफ्तार कर चुकी है, जबकि अन्‍यस दो शातिर निपुल उर्फ छोटा व शुभम पंवार की गिरफ्तारी के लिए एसएसपी हरिद्वार ने प्रत्येक पर 2500 रुपये का ईनाम घोषित कर सूचना राज्य के सभी जनपदों को प्रसारित की थी। फरार शुभम पंवार पुत्र विक्रम सिंह पंवार निवासी बहादरपुर सेलाकुई का होने की वजह से डीआइजी अरुण मोहन जोशी ने गिरफ्तारी के लिए थानाध्यक्ष विपिन बहुगुणा को निर्देशित किया। आरोपित के घर परिवार व दोस्तों पर सतर्क निगरानी रखने के भी निर्देश दिए थे।

एसपी देहात पदमेंद्र डोभाल व सीओ डीएस रावत के निर्देशन में थानाध्यक्ष सेलाकुई ने शातिर शुभम पंवार के स्वजनों व दोस्तों पर सतर्क निगरानी रखने के लिए सादे वस्त्रों में पुलिस बल लगाया। शनिवार को शुभम सेलाकुई में घूमकर सुरक्षित ठिकाना ढूंढ रहा था, जिसकी जानकारी लगते ही शुभम पंवार की गिरफ्तारी को पुलिस ने दबिश दी और उसे टिहरी कॉलोनी निगम रोड सेलाकुई से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबि‍क आरोपित के खिलाफ वर्ष 2015 में थाना सहसपुर में हत्या का मुकदमा दर्ज हुआ था। इसके अलावा ज्वालापुर कोतवाली में इसी साल के दो व थाना सिडकुल हरिद्वार में एक मुकदमा दर्ज है।

यह भी पढ़ें: खनन माफिया के खिलाफ पुलिस की बड़ी कार्रवाई, एचएम मशीन समेत दस वाहन पकड़े

लक्सर से ट्रेन में बैठकर दून पहुंचा था शुभम 

सेलाकुई थानाध्यक्ष विपिन बहुगुणा ने जानकारी दी कि आरोपित ने पूछताछ में बताया कि 17 सितंबर को जब वह व उसके अन्य चार साथी गिरफ्तार हुए थे, तभी कारागार से ही उनकी भागने की योजना बन गई थी। 22 सितंबर को मौका पाकर सभी योजना बनाकर जेल से फरार हो गए थे। जेल से फरार होकर सभी आठ कैदी पैदल जंगल के रास्ते होते हुए कलियर पहुंचे, जहां चार कैदी गिरफ्तार कर लिए गए। अन्‍य चार वहां से अलग-अलग दिशाओं की ओर भाग गए। शुभम पंवार पैदल रुड़की से होते हुए लक्सर पहुंचा। लक्सर से अगले दिन ट्रेन में बैठ कर देहरादून आ गया था। देहरादून से एक ट्रक में बैठ कर सभावाला क्षेत्र में आ गया, जहां वह एक गन्ने के खेत में रहा। शनिवार को आसन नदी पार कर टिहरी कॉलोनी सेलाकुई में अपने दोस्त के यहां जा रहा था कि पुलिस ने दबोच लिया। 

 2015 में की थी सेलाकुई में युवक की हत्या 

पुलिस जांच में पाया गया कि कुख्यात शूटर शुभम ने वर्ष 2015 में सेलाकुई क्षेत्र में अपने अन्य साथियों के साथ एक युवक की हत्या कर दी थी। इस मामले में वह अपने साथियों के साथ जेल गया था। हत्या मामले में शुभम को आजीवन कारावास की सजा हुई है, वर्तमान में वह उच्च न्यायालय से जमानत पर है। हत्या मामले में जेल गए शुभम की मुलाकात वाल्मीकि गैंग के कलीम से हुई। कलीम के संपर्क में आने पर शुभम अपराध जगत में आगे बढ़ने लगा। शूटर शुभम पंवार ने कलीम के इशारे पर ही बिल्डर मोनू त्यागी के घर पर फायरिंग की थी। इस समय शुभम को हरिद्वार पुलिस के सुपुर्द किया गया है।

यह भी पढ़ें: देवर ने महिला से दुष्कर्म कर बनाई वीडियो, बेटे को जान से मारने की धमकी; शिकायत पर पति ने दिया तीन तलाक

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.