पुलिस में ग्रेड पे बढ़ोतरी की मांग को एससी-एसटी फेडरेशन ने दिया समर्थन

पुलिस कर्मियों के ग्रेड पे में बढ़ोतरी की मांग को जायज ठहराते हुए एससी-एसटी इप्लाइज फेडरेशन ने समर्थन किया है। उन्होंने काबीना मंत्री सुबोध उनियाल को ज्ञापन भेज कार्रवाई की मांग की है। साथ ही आंदोलन को लेकर भी समर्थन दिया है।

Sumit KumarMon, 26 Jul 2021 04:04 PM (IST)
पुलिस कर्मियों के ग्रेड पे में बढ़ोतरी की मांग को जायज ठहराते हुए एससी-एसटी इप्लाइज फेडरेशन ने समर्थन किया है।

जागरण संवाददाता, देहरादून : पुलिस कर्मियों के ग्रेड पे में बढ़ोतरी की मांग को जायज ठहराते हुए एससी-एसटी इप्लाइज फेडरेशन ने समर्थन किया है। उन्होंने काबीना मंत्री सुबोध उनियाल को ज्ञापन भेज कार्रवाई की मांग की है। साथ ही आंदोलन को लेकर भी समर्थन दिया है।

फेडरेशन के प्रांतीय अध्यक्ष करमराम ने कहा कि पुलिस विभाग के संवर्गीय ढांचे में स्वीकृत पदों के तहत पुलिस बल संवर्ग में आरक्षी (कांस्टेबल) ग्रेड वेतन 2000 मुख्य आरक्षी (हेड कांस्टेबल) 2400, उप निरीक्षक ग्रेड वेतन 4600 व निरीक्षक ग्रेड वेतन 4800 के पद विद्यमान हैं। आरक्षी का पद पूर्ण रूप से सीधी भर्ती का पद हैं, जिसके बाद संवर्गीय ढांचे की व्यवस्थानुसार मुख्य आरक्षी, उप निरीक्षक एवं निरीक्षक के पद पदोन्नति के लिए हैं। इसके मध्य में कोई भी पद या वेतनमान पुलिस फोर्स के संवर्ग में उपलब्ध नहीं है। समय-समय पर वेतन आयोग की संस्तुतियों में इस बात की स्पष्ट व्यवस्था है कि प्रत्येक सरकारी काॢमक को पूर्ण सेवाकाल में कम से कम तीन पदोन्नति या उसके सापेक्ष तीन वित्तीय स्तरोन्नयन का लाभ दिया जाए। इसी व्यवस्था के अनुरूप वर्ष 2016 तक सभी पदधारकों को उक्त पदों पर पदोन्नति का लाभ व पदोन्नति का लाभ न मिल पाने की स्थिति में एसीपी का लाभ मिलता आया है।

यह भी पढ़ें- Video: दो साल की बच्ची को आंगन से उठाकर ले जाने वाला गुलदार ढेर, जॉय हुकिल की गोली का हुआ शिकार

एकाएक वर्ष 2017 में ऐसे सभी पदधारकों को अनुमन्य होने वाली एसीपी का निर्धारण वित्त विभाग के वेतनक्रम के अनुसार न्यून ग्रेड वेतन में करने से काॢमकों को वेतन परिलब्धियों में अनावश्यक वित्तीय हानि हो रही है। ऐसी स्थिति में पुलिस विभाग के आरक्षी पदधारकों को नियमानुसार संवर्गीय ढांचे के अग्रेत्तर पदों मुख्य आरक्षी, उपनिरीक्षक एवं निरीक्षक के वेतनमानों के समकक्ष प्रथम, द्वितीय व तृतीय एसीपी के रूप में कमश: ग्रेड वेतन 2400, 4600 व 4800 रुपये की देयता का निर्धारण किया जाए।

यह भी पढ़ें- CBSE के कोर्स तो हो रहे हैं लागू, लेकिन किताबें उपलब्ध नहीं; पढ़िए पूरी खबर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.