Sawan 2021: भगवान शिव के प्रिय सावन माह का सोमवार, श्रद्धालुओं के जयकारे से गुंजायमान हुई द्रोणनगरी

Sawan 2021 भगवान शिव का प्रिय सावन का महीना शुरू हो चुका है। पूर्णिमा से सावन माह मानने वाले मैदानी क्षेत्रों में पहला जबकि पहाड़ के सावन का आज दूसरा सोमवार होगा। ब्रह्ममुहूर्त में शिवलिंग का रुद्राभिषेक व पूजा के बाद श्रद्धालुओं के लिए मंदिरों के कपाट खोले दिए जाएंगे।

Raksha PanthriMon, 26 Jul 2021 07:49 AM (IST)
शुरू हुआ भगवान शिव का प्रिय सावन का महीना।

जागरण संवादददाता, देहरादून। Sawan 2021 मैदानी क्षेत्र के पहले जबकि पहाड़ क्षेत्र के सावन के दूसरे सोमवार पर शिव मंदिरों में दर्शन व जलाभिषेक को श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। श्रद्धालुओं ने विशेष पूजा अर्चना कर परिवार की खुशहाली की कामना की। मंदिरों में जलाभिषेक करने के साथ ही शिव भक्तों के हर हर महादेव, बम बोले व शिव कृपा बनाए रखना के जयकारे से द्रोणनगरी गुजांयमान हो गई। अधिकांश मंदिर में भीड़ के कारण सेवादार श्रद्धालुओं से शारीरिक दूरी बनाने और मास्क लगाकर प्रवेश की अपील करते दिखे।

सावन माह के सोमवार पर सुबह बारिश के बाद भी शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ पड़ी। शहर के विभिन्न शिवालयों में हर-हर महादेव के जयकारे की गूंज उठे। टपकेश्वर महादेव गढ़ी कैंट, जंगमेश्वर पलटन बाजार, पृथ्वीनाथ महादेव सहारनपुर चौक, प्राचीन शिव मंदिर धर्मपुर, हनुमान मंदिर आराघर चौक, कमलेश्वर महादेव जीएमएस रोड, प्राचीन शिव मंदिर बल्लुपुर चौक, पिपलेश्वर महादेव भंडारी बाग, श्याम सुंदर मंदिर पटेलनगर, आदर्श मंदिर पटेलनगर समेत शहर के विभिन्न शिव मंदिरों में श्रद्धालुओं ने जलाभिषेक, दुग्धाभिषेक, बिल्वपत्र, भांग पत्र चढ़ाकर आशीर्वाद लिया।

टपकेश्वर महादेव मंदिर के दिगंबर भरतगिरी महाराज ने बताया कि ब्रह्ममुहूर्त में रुद्राभिषेक के बाद भक्तों के आने का सिलसिला शुरू हुआ। शाम को छह बजे तक जलाभिषेक, सात बजे आरती और फिर भव्य श्रृंगार किया गया।

हरिद्वार से लाए गंगाजल से किया अभिषेक

सहारनपुर चौक स्थित पृथ्वीनाथ महादेव मंदिर में सावन मास का शिव महोत्सव शुरू ही गया। श्रद्धालुओं ने गंगाजल, दूध, दही, घी, शहद आदि से शिवलिंग का अभिषेक कर आशीर्वाद लिया। यहां हरिद्वार से मंगाया गया गंगाजल से श्रद्धालुओं ने अभिषेक किया। 50 किलो खीर श्रद्धालुओं को प्रसाद के रूप में वितरित किया गया। शाम हरिद्वार व दिल्ली से लाए पुष्पों से महादेव का भव्य श्रृंगार किया। इसके बाद कोरोनाकाल में दिवंगतों की आत्मा की शांति और कोरोना के खात्मे के लिए सामूहिक आरती हुई। इस मौके पर दिगंबर भागवत पुरी, दिगंबर दिनेश पुरी, आचार्य भारत भूषण भट्ट, सेवादार संजय गर्ग, आशीष उनियाल, अनिल गुप्ता, दिलीप सैनी, नवीन गुप्ता, विक्की गोयल, बीनू गोयल तुषार आदि मौजूद रहे।

 हिंदू युवा वाहिनी ने किया सामूहिक जलाभिषेक

श्रावण मास के पहले सोमवार को हिंदू युवा वाहिनी ने टपकेश्वर महादेव मंदिर में सामूहिक जलाभिषेक किया। वाहिनी के प्रदेश महामंत्री जीतू रंधावा के आह्वान पर महानगर इकाई ने विशेष पूजा अर्चना कर भगवान शिव का आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर वाहिनी के महानगर अध्यक्ष मनीष मेहरवाल, महानगर मंत्री छत्रपाल सिंह, महानगर सचिव रविंद्र पाल, नगर अध्यक्ष गौरव राजपूत, महानगर मंत्री राहुल कुमार, महानगर सहसचिव अरुण राजपूत अन्य लोग शामिल रहे।

पहाड़ व मैदान में सावन के व्रत की यह है मान्यता

आचार्य डा. सुशांत राज के अनुसार, पर्वतीय क्षेत्र के लोग संक्रांति से संक्रति तक सावन मनाते हैं। संक्रांति 16 जुलाई से शुरू हो चुकी है, जिसका पहला सोमवार 19 जुलाई, दूसरा 26 जुलाई, तीसरा दो अगस्त, चौथा नौ अगस्त, अंतिम व पांचवां सोमवार 16 अगस्त को होगा। वहीं, मैदानी क्षेत्रों में पूर्णिमा से पूर्णिमा तक सावन मनाया जाता है। 25 जुलाई को पूर्णिमा थी, ऐसे में मैदानी क्षेत्रों में पहला सोमवार 26 जुलाई से शुरू हो गया है। दूसरा दो अगस्त, तीसरा नौ, जबकि चौथा सोमवार 16 अगस्त को होगा।

यह भी पढ़ें- Sawan Kanwar Yatra 2021: सावन के पहले दिन बार्डर से वापस भेजे ढाई हजार से अधिक यात्री

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.