28 लाख की ठगी में आरटीओ का दलाल गिरफ्तार, कारोबारी दोस्‍त के खाते से पैसे निकालकर हो गया था फरार

पुलिस ने आरोपित को कोर्ट में पेश कर अस्थाई जेल भेज दिया गया है।
Publish Date:Mon, 28 Sep 2020 06:00 AM (IST) Author: Sumit Kumar

देहरादून, जेएनएन। अपने कारोबारी दोस्त का विश्वास जीतकर आरटीओ के एक दलाल ने उनके खाते से करीब 28 लाख रुपये निकाल लिए और फरार हो गया। जाते-जाते वह अपने मालिक की गाड़ी भी लेकर चला गया। कारोबारी को इस बात की जानकारी दिसंबर 2019 में हुई। तब उन्होंने आरोपित को फोन किया तो धमकी देने लगा। इसके बाद उन्होंने पटेलनगर कोतवाली में उसके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस तभी से आरोपित की तलाश कर रही थी। लेकिन वह इधर-उधर छिपता घूम रहा था। आखिरकार रविवार को उसे रायवाला के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश कर दिया, जहां से उसे अस्थाई जेल भेज दिया गया है।

पुलिस के अनुसार आरोपित ललित कुमार वर्मा पुत्र राधेश्याम वर्मा निवासी मकान नंबर 78 अशरताला काशीनगर हरदोई उत्तर प्रदेश देहरादून में रहकर आरटीओ में दलाली किया करता था। इस दौरान उसकी कारोबारी योगेश जैन निवासी सेवला कला से दोस्ती हो गई। आना-जाना बढ़ा तो कारोबारी ने अपने बैंक आदि का काम ललित से ही कराना शुरू कर दिया। आरोप है कि इसके बाद उसकी नीयत में खोट आ गया और वह योगेश जैन के तीन बैंक अकॉउंट में अपना मोबाइल नंबर लिंक करा दिया। इसके बाद उन खातों से 27 लाख 96 हजार एक सौ रुपये निकाल लिया। इतना ही नही योगेश जैन की कार भी उसनेअपने पास रख ली। खाते से रकम निकलने की जानकारी योगेश को 31 दिसंबर 2019 को हुई। बैंक से डिटेल लेने पर पता चला कि यह धोखाधड़ी ललित ने की है। जब उन्होंने ललित को फोन किया तो वह धमकी देने लगा। कहा कि पैसे भूल जाये, नही तो गाड़ी भी उसके हाथ से निकल जाएगी।

यह भी पढ़ें: अस्थायी जेल हरिद्वार से फरार शूटर शुभम सेलाकुई से गिरफ्तार, हत्‍या समेत कई मामले हैं दर्ज

मामले में योगेश ने बीते 11 जनवरी को पटेलनगर कोतवाली में ललित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस तभी से उसकी तलाश कर रही थी। एसएसआइ पटेलनगर भुवन पुजारी ने बताया कि ललित लगातार अपने ठिकाने बदल -बदल कर रह रहा था। एक सप्ताह से अधिक कोई सिम नही इस्तेमाल करता था। उसके पास से विभिन्न बैंकों के नौ एटीएम कार्ड व आठ चेकबुक, पांच आईडी कार्ड, दो स्मार्टफोन, दो नंबर प्लेट अलग-अलग नंबर की व एक बिना नम्बर की व एक लैपटॉप बरामद किया गया है।

यह भी पढ़ें: देहरादून के सभी थाने सूद पर पैसा देने वालों की सूची जल्द करेंगे तैयार, बाल आयोग ने दिए आदेश

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.