उत्तराखंड में इस बार धान की रिकार्ड खरीद, जानिए कितना रखा गया है लक्ष्य

वर्तमान धान खरीद सत्र में 11.63 लाख मीट्रिक टन के लक्ष्य के सापेक्ष अब तक 10.94 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद हो चुकी है। खाद्य मंत्री बंशीधर भगत की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी गई।

Raksha PanthriMon, 06 Dec 2021 02:08 PM (IST)
उत्तराखंड में इस बार धान की रिकार्ड खरीद, जानिए कितना रखा गया है लक्ष्य। फाइल फोटो

राज्य ब्यूरो, देहरादून। उत्तराखंड में वर्तमान धान खरीद सत्र में 11.63 लाख मीट्रिक टन के लक्ष्य के सापेक्ष अब तक 10.94 लाख मीट्रिक टन धान की खरीद हो चुकी है। खाद्य मंत्री बंशीधर भगत की अध्यक्षता में हुई समीक्षा बैठक में यह जानकारी दी गई। बताया गया कि राज्य गठन के बाद से यह अब तक की सर्वाधिक धान खरीद है और अभी खरीद जारी है। पिछले सत्र में राज्यभर में 10.17 मीट्रिक टन धान खरीद की गई थी।

समीक्षा के दौरान अधिकारियों ने विभागीय मंत्री भगत को जानकारी दी कि अब तक लगभग 80 हजार किसानों से उनकी उपज क्रय की गई है। इसके लिए पर्याप्त धनराशि का आवंटन किया गया है। इससे किसानों को तय अवधि में न्यूनतम समर्थन मूल्य का भुगतान किया जा रहा है। सभी भुगतान आनलाइन किए जा रहे हैं। इसके अलावा उपभोक्ताओं के हितों के लिए राज्य और जिला स्तर पर राज्य उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग के सदस्यों की नियुक्ति भी कर ली गई है। इससे उपभोक्ताओं की शिकायतों का स्थानीय स्तर पर त्वरित समाधान हो सकेगा।

बैठक में खाद्य मंत्री भगत ने इस वर्ष राज्य में गेहूं के बाद धान की ऐतिहासिक खरीद के लिए अधिकारियों की पीठ थपथपाई। साथ ही निर्देश दिए कि किसी भी दशा में किसानों का उत्पीड़न न हो। धान के मानकों पर प्राप्त होने की स्थिति में उसकी खरीद कर किसानों को समय पर भुगतान सुनिश्चित किया जाए। बैठक में खाद्य सचिव भूपाल सिंह मनराल, अपर सचिव प्रताप शाह, संभागीय खाद्य नियंत्रक बंशीलाल राणा व हरबीर सिंह समेत अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

ओकीनावा आरोटेक का दून में खुला पहला शोरूम

ओकीनावा आरोटेक ने देहरादून में अपना पहला इलेक्ट्रिक गैलेक्सी स्कूटर शोरूम खोला है। रविवार को कंपनी के नेशनल सेल्स हेड संजय चटर्जी ने जीएमएस रोड पर विनायक ओकीनावा नाम से खुले इस शोरूम का उद्घाटन किया। कंपनी का तर्क है कि देश में डीजल व पेट्रोल के बढ़ रहे दाम आमजन की चिंता का कारण बन रहे हैं। वाहन मालिक परेशान हैं क्योंकि वाहन में प्रयोग होने वाला डीजल एवं पेट्रोल का महीने का बजट पहले के मुकाबले बढ़ गया है। ऐसे में बड़ी संख्या ऐसे नागरिकों की है जो अपने वाहनों को इलेक्ट्रानिक तकनीकी में शिफ्ट करना चाहते हैं। कंपनी के नेशनल सेल्स हेड संजय चटर्जी ने बताया कि हमारी स्कूटी मात्र 20 पैसे प्रति किलोमीटर चल रही है। बताया कि कंपनी के स्टोर में मोटर साइकिल भी हैं। जो मात्र 30 रुपये खर्च पर 289 किलोमीटर तक चल सकती हैं। इस दौरान विनायक ओकीनावा के प्रबंधक साक्षी ने कहा कि सरकार भी इलेक्ट्रानिक वाहनों को बढ़ावा दे रही हैं।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड: सीएम पुष्कर धामी बोले, मैं भी किसान परिवार से; अच्छे से समझता हूं किसानों का दर्द

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.