दिल्ली

उत्तर प्रदेश

पंजाब

बिहार

उत्तराखंड

हरियाणा

झारखण्ड

राजस्थान

जम्मू-कश्मीर

हिमाचल प्रदेश

पश्चिम बंगाल

ओडिशा

महाराष्ट्र

गुजरात

ग्रामीणों के लिए मुसीबत बन रहा पालिका का ट्रंचिंग ग्राउंड

ग्रामीणों के लिए मुसीबत बन रहा पालिका का ट्रंचिंग ग्राउंड

विकासनगर नगर पालिका विकासनगर का कूड़ा यमुना नदी के किनारे बने ट्रंचिंग ग्राउंड से परेशानी हो रही है। इससे फैल रहा कूड़ा जहां यमुना नदी में जा रहा है वहीं कूड़े से उठती दुर्गध से वातावरण भी प्रदूषित हो रहा है।

JagranWed, 19 May 2021 12:05 AM (IST)

संवाद सहयोगी, विकासनगर: नगर पालिका विकासनगर का कूड़ा यमुना नदी के किनारे बने ट्रंचिंग ग्राउंड में जमा किया जा रहा है, जो ग्रामीणों के लिए मुसीबत बन गया है। एक तरफ कूड़े से उठती दुर्गंध से परेशानी हो रही है वहीं यह कूड़ा नदी में भी जा रहा है। हालत यह है कि वातावरण तो प्रदूषित हो रहा है, इसके साथ नदी के पानी में भी जहर जहर घोला जा रहा। उधर, नगर पालिका परिषद इस गंभीर समस्या को लेकर पूरी तरह लापरवाह बनी हुई है।

नगर पालिका के कूड़े को एकत्रित करने के लिए डाकपत्थर ग्राम पंचायत की नवाबगढ़ गांव से लगी सीमा पर यमुना नदी के खादर में ट्रंचिंग ग्राउंड बनाया गया है। इसी ग्राउंड में कूड़े से छंटाई की जाती है। वेस्ट कूड़े को शीशमबाड़ा स्थित कूड़ा निस्तारण केंद्र को भेज दिया जाता है। नगर पालिका प्रशासन की लापरवाही के चलते अभी तक ग्राउंड की चहारदीवारी तक नहीं की गई है। इससे ग्राउंड में डाला जाने वाला कूड़ा उड़कर आसपास के क्षेत्र में फैल रहा है। वहीं गंदगी यमुना नदी में भी जा रही है। नवाबगढ़ ग्रामसभा की प्रधान शबाना मलिक, सदस्य विनय जायसवाल, विवेक बिष्ट, संजय शर्मा, विमल चौधरी, पूरण सिंह का कहना है कि गंदगी की समस्या को नियंत्रित करने के लिए क्षेत्र में दवाई का छिड़काव भी पालिका नियमित रूप से नहीं कराती है। इधर-उधर फैल रहा कूड़ा यमुना नदी में जाकर नदी के पानी को भी प्रदूषित कर रहा है। उनका कहना है यदि समस्या का समाधान नहीं किया गया तो कोविड की समस्या के बाद ग्रामीण आंदोलन करेंगे।

---------------

ट्रंचिग ग्राउंड मामले में पालिका प्रशासन की लापरवाही साफ दिखाई देती है। पिछले कार्यकाल के दौरान उनके स्तर से ग्राउंड की चहारदीवारी और इससे संबंधित कार्य की डीपीआर बनाकर शासन को भेज दी गई थी, लेकिन पालिका प्रशासन ने कई साल बीतने के बाद भी इस संबंध में वर्तमान में पालिका प्रशासन ने कोई कदम नहीं उठाया। खामियाजा नवाबगढ़ और डाकपत्थर ग्राम सभाओं के निवासियों और उसके आसपास खेती करने वाले किसानों को भुगतना पड़ रहा है। पालिका प्रशासन को ग्रामीणों की परेशानी को समझते हुए तुरंत कदम उठाना चाहिए।

नीरज अग्रवाल, पूर्व चेयरमैन नगर पालिका विकासनगर।

--------------------

ट्रंचिग ग्राउंड की चहारदीवारी और यहां लगने वाला कूड़ा प्रोसेसिग प्लांट के लिए पालिका ने तीन करोड़ 45 लाख रुपये की लागत से होने वाले कार्य की डीपीआर बनाकर शासन को भेजी हुई है। इस पर अंतिम दौर की कार्रवाई चल रही है, लेकिन इसके पहले ग्रामीणों की समस्या को देखते हुए टिन की चादरों से ग्राउंड को कवर करने की तैयारी चल रही है। शीघ्र ही समस्या का समाधान करा दिया जाएगा। बीएल आर्य, अधिशासी अधिकारी नगर पालिका विकासनगर।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.