आसन बैराज के कूड़े से उठ रही दुर्गंध, पर्यटक परेशान

आसन बैराज के कूड़े से उठ रही दुर्गंध, पर्यटक परेशान

विकासनगर आसन बैराज से निकाले गए कूड़े के निस्तारण की व्यवस्था जल विद्युत निगम केंद्र प्रबंधन की ओर से नहीं किया जा रहा है। इन दिनों जमा कूड़े के ढेर से उठ रही दुर्गध परेशानी का कारण बनी हुई है।

JagranWed, 03 Mar 2021 12:07 AM (IST)

संवाद सहयोगी, विकासनगर: आसन बैराज से निकाले गए कूड़े के निस्तारण की व्यवस्था जल विद्युत निगम प्रबंधन केंद्र की ओर से नहीं किया गया है। हालत यह है कि कूड़े के दुर्गध से यहां आने वाले पर्यटक और राहगीर सभी परेशान हैं। राज्य के पहले रामसर साइट आसन नमभूमि में प्रवास पर आए परिदों को देखने आ रहे पर्यटक इससे असहज महसूस कर रहे हैं।

अपनी खूबसूरती के लिए देश विदेश तक प्रसिद्ध आसन नमभूमि पर बैराज से निकला कूड़ा ग्रहण बन रहा है। कुल्हाल जल विद्युत उत्पादन केंद्र को जल आपूर्ति के लिए बैराज पर बने इंटेक से कूड़ा निकाला जाता है। इसे एकत्रित करने और निस्तारण की सही व्यवस्था नहीं होने के चलते सारा कूड़ा बैराज के किनारे पर ही डाल दिया जाता है। यहां इकट्ठा होने वाले कूड़े के सड़ने से क्षेत्र में दुर्गंध व गंदगी का वातावरण बना हुआ है। आसन नमभूमि में बोटिग के लिए आने वाले पर्यटकों की आवाजाही काफी संख्या में रहती है। इसके अतिरिक्त पांवटा-विकासनगर के बीच छोटे वाहनों की आवाजाही भी इसी स्थान से होती है। बैराज के किनारे पर जमा कूड़ा सभी के लिए मुश्किल स्थिति उत्पन्न करता है। उधर, कूड़े से बैराज क्षेत्र में फैल रही गंदगी पर बोलने के लिए जलविद्युत निगम के कोई अधिकारी तैयार नहीं हैं। सहसपुर विधायक सहदेव सिंह पुंडीर का कहना है कि जल विद्युत निगम के महाप्रबंधक यमुना वैली से समस्या के संबंध में बात की जाएगी। उन्होंने कहा कि बैराज क्षेत्र की सुंदरता बनाए रखने की दिशा में सार्थक कदम उठाया जाएगा। कूड़े के निस्तारण की व्यवस्था जल्द की जाए इसके लिए आवश्यकता पड़ी तो शासन स्तर पर भी वार्ता होगी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.