सुनवाई के दौरान जज की टेबल पर गिरा छत का पलस्तर, बाल-बाल बचे जज साहब

सुनवाई के दौरान जज की टेबल पर अचानक छत का पलस्तर गिरने से अफरा-तफरी मच गई।
Publish Date:Mon, 28 Sep 2020 02:20 PM (IST) Author: Sunil Negi

डोईवाला (देहरादून), जेएनएन। सुनवाई के दौरान जज की टेबल पर अचानक छत का पलस्तर गिरने से अफरा-तफरी मच गई। इस दौरान जज बाल-बाल बच गईं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, सिविल जज जूनियर डिविजन/ न्यायिक मजिस्ट्रेट डोईवाला निशा देवी रविवार दोपहर को छुट्टी के दिन एक रिमांड मामले की सुनवाई कर रही थी। इस दौरान वह कोर्ट के अंदर चार मुजरिमों की जमानत के कागजात चेक कर रही थीं। तभी अचानक कोर्ट की छत से पलास्तर भरभराकर गिर गया। छत से गिरे मलबे की आवाज इतनी जोर से हुई कि वहां पर वह बाहर मौजूद व्यक्तियों में भी हड़कंप मच गया। शुक्र रहा कि इस दौरान कोई बड़ी अनहोनी होने बच गई। वाद लिपिक सोनम खम्पा ने बताया कि यह घटना करीब डेढ बजे के आसपास की है। विदित हो कि वर्तमान में जिस बिल्डिंग में कोर्ट चल रही है वह डोईवाला ब्लॉक की पुरानी बिल्डिंग है, इसका पूर्व में जीर्णोद्धार किया गया है। एडवोकेट भव्य चमोला ने बताया कि एक बड़ी अनहोनी घटना घटने से बच गई।

दून बार एसोसिएशन के अध्यक्ष सड़क हादसे में घायल

देहरादून बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मनमोहन कंडवाल रविवार को सड़क हादसे में गंभीर रूप से घायल हो गए। उनके सिर में चोट आई है। उन्हें सिनर्जी अस्पताल के आइसीयू में रखा गया। हादसा पटेलनगर थाना क्षेत्र के हरिद्वार बाईपास रोड से आईएसबीटी फ्लाईओवर पर स्कूटी से चढऩे के दौरान हुआ। हादसे का कारण स्कूटी का अनियंत्रित होना बताया जा रहा है। घटना की खबर सुन सचिव अनिल शर्मा समेत बड़ी संख्या में अधिवक्ता सिनर्जी अस्पताल पहुंच गए। 

बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मनमोहन कंडवाल रविवार सुबह एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष प्रेम चंद्र शर्मा की माता के स्वर्गवास पर शोक संवेदना अर्पित करने उनके घर गए। इसके बाद वह आशारोड़ी के लिए स्कूटी से अकेले रवाना हुए। सचिव अनिल शर्मा ने बताया कि कंडवाल हाईकोर्ट के आदेश पर कोविड-19 के लिए गठित मानिटरिंग कमेटी में भी शामिल हैं। सदस्य होने के नाते आशारोड़ी चेकपोस्ट पर बने सैम्पलिंग सेंटर की व्यवस्था देखने जा रहे थे।

दोपहर करीब एक बजे हरिद्वार बाईपास से वह आईएसबीटी फ्लाइओवर पर स्कूटी से चढ़े। इसी दौरान वह हादसे का शिकार हो गए। बताया गया कि उनका सिर डिवाइडर पर लगा। हादसे का कारण क्या रहा, इसकी जांच के लिए पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी कैमरों को भी खंगाला। प्रथम दृष्टया माना जा रहा है कि स्कूटी अनियंत्रित होकर गिर गई थी। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.