एनएसए अजीत डोभाल ने पत्नी संग की मां ज्वाल्पा की पूजा-अर्चना, होंगे पैतृक गांव के लिए रवाना

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने शुक्रवार सुबह परमार्थ निकेतन में विश्व शांति के लिए यज्ञ में आहुति डाली।
Publish Date:Fri, 23 Oct 2020 10:29 AM (IST) Author: Sunil Negi

पौड़ी, जेएनएन। देश के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल शुक्रवार को सिद्धपीठ मां ज्वाल्पा देवी मंदिर की पूजा कर पौड़ी पहुंचे। यहां सर्किट हाउस में उन्होने गार्ड ऑफ ऑनर की सलामी ली। शनिवार को एनएसए डोभाल अपने पैतृक गांव घीड़ी जाएंगे, जहां पत्नी अरुणा डोभाल के साथ कुल देवी मां बाल कुंवारी की पूजा करेंगे। 

एनएसए बनने के बाद यह तीसरा मौका है जब वे कुल देवी की पूजा के लिए अपने पैतृक गांव पहुंच रहे हैं। निजी कार्यक्रम के तहत एनएसए अजीत डोभाल शुक्रवार अपराह्नन में पत्नी संग मां ज्वाल्पा देवी मंदिर पहुंचे। यहां मंदिर के मुख्य पुजारी नवीन चंद्र अंथवाल, सुरेंद्र कुकरेती, राजेंद्र प्रसाद अंथवाल ने पूजा संपन्न कराई। इसके बाद उन्होने यहां भगवान शिव और काल भैरव मंदिर में भी शीश नवाए। साथ ही कुछ समय मंदिर के पुजारियों समिति के पदाधिकारियों से बातचीत भी की। 

बताया गया कि पत्नी अरुणा डोभाल ने कुछ समय यहां संस्कृत विद्यालय भी देखा। मंदिर परिसर में करीब 50 मिनट रहने के बाद वे पौड़ी के लिए रवाना हुए। यहां पहुंचने पर सर्किट हाउस में उन्होने गार्ड ऑफ ऑनर की सलामी ली था तथा विश्राम कक्ष में चले गए। जानकारी के मुताबिक शनिवार सुबह वे अपने पैतृक गांव विकासखंड कोट के घीड़ी गांव पहुंचेंगे। यहां एनएसए डोभाल कुल देवी मां बाल कुंवारी की पूजा-अर्चना करेंगे। बताया गया कि पूजा के बाद वे यहीं से दिल्ली के लिए रवाना हो सकते हैं। इस मौके पर जिलाधिकारी धीराज सिंह गर्ब्याल, एसएसपी पी. रेणुका देवी, एसडीएम सदर एसएस राणा, सीओ सदर वंदना वर्मा, जिला पंचायत सदस्य गौरव रावत आदि शामिल थे।

ऋषिकेश में विश्व शांति के लिए यज्ञ में डाली आहुतियां  

एनएसए अजीत डोभाल गुरुवार देर शाम परमार्थ निकेतन पहुंचे थे। रात्रि में भोजन के पश्चात वह गंगा तट पर टहलने गए। शुक्रवार को अल सुबह उठकर वह तैयार हो गए थे। जिसके बाद परमार्थ निकेतन में स्वामी चिदानंद सरस्वती के सानिध्य में वह पत्नी संग यज्ञ में शामिल हुए। उन्होंने विश्व शांति के लिए यज्ञ में आहुतियां डाली। करीब 8:30 बजे एनएसए अजीत डोभाल यहां से पौड़ी के लिए रवाना हो गए। बता दें कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल निजी कार्यक्रम के तहत गुरुवार को परमार्थ निकेतन पहुंचे। उनका यह दौरा निजी है। किसी को भी उनसे मिलने की इजाजत नहीं दी गई। उनके आगमन को लेकर परमार्थ निकेतन में सुबह से सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद की गई थी।

एनएसए अजीत डोभाल देर सायं पौने आठ बजे परमार्थ निकेतन पहुंचे। जहां उन्होंने परमार्थ निकेतन के परमाध्यक्ष स्वामी चिदानंद सरस्वती से उनकी कुटिया में जाकर भेंट की। विश्वव्यापी महामारी कोरोना संक्रमण के चलते परमार्थ निकेतन में करीब सात माह बाद गंगा आरती बुधवार से शुरू हुई है। अभी परमार्थ आश्रम में बाहर से आने वाले आम श्रद्धालुओं के लिए बंद है। आश्रम के दो मुख्य द्वार बंद ही रहे। एनएसए अजीत डोभाल के कार्यक्रम को देखते हुए गुरुवार को गंगा आरती में भी सिर्फ ऋषिकुमार ही मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.