पूर्व सैनिक से नाइजीरियन ने फेसबुक पर दोस्‍ती कर ठगे 22.39 लाख रुपये, एसटीएफ ने किया गिरफ्तार

फेसबुक पर दोस्ती कर पूर्व सैनिक से 22 लाख 39 हजार रुपये की ठगी करने वाले नाइजीरियन को एसटीएफ ने मुंबई से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित के गिरोह ने पूर्व सैनिक से मोंगोगो वाइल्ड नट्स सीड का व्यापार करने के नाम पर रकम ठगी थी।

Sumit KumarTue, 27 Jul 2021 06:34 PM (IST)
एसटीएफ ने दे22 लाख 39 हजार रुपये की ठगी करने वाले नाइजीरियन को मुंबई से गिरफ्तार किया है।

जागरण संवाददाता, देहरादून: फेसबुक पर दोस्ती कर पूर्व सैनिक से 22 लाख, 39 हजार रुपये की ठगी करने वाले नाइजीरियन को उत्तराखंड पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने मुंबई से गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित के गिरोह ने पूर्व सैनिक से मोंगोगो वाइल्ड नट्स सीड का व्यापार करने के नाम पर रकम ठगी थी। इस गिरोह के एक सदस्य को पूर्व में गिरफ्तार किया जा चुका है। आरोपित से 15 मोबाइल फोन, तीन लैपटाप, दो टैबलेट और अन्य इलेक्ट्रानिक उपकरण बरामद हुए हैं।

एसटीएफ के एसएसपी अजय सिंह ने बताया कि देहरादून के लक्ष्मीपुरम तुनवाला, रायपुर में रहने वाले राकेश चंद्र बहुगुणा ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि मार्च 2019 में उनकी पहचान फेसबुक के माध्यम से मार्लिन ब्राउन नाम की महिला से हुई। महिला ने उन्हें व्यापार का प्रस्ताव दिया था। जिसमें मुंबई के व्यापारी हर्षवर्धन से मोंगोगो वाइल्ड नट्स सीड खरीदकर यूनाइटेड किंगडम की कंपनी को सप्लाई करना था। मार्लिन ने ही पीडि़त राकेश चंद्र का परिचय हर्षवर्धन से करवाया और कहा कि सीड भेजने पर उन्हें काफी मुनाफा होगा। कंपनी ने पहले पीडि़त को दो पैकेट मोंगोगो वाइल्ड नट्स सीड का आफर दिया और सीड के बदले खाते में तीन लाख, 86 हजार रुपये डलवा दिए। 10 अप्रैल को पीडि़त ने रकम जमा करके दो पैकेट और मंगवा लिए और कंपनी से संपर्क कर अपना प्रतिनिधि दिल्ली के एक होटल में बुलवा लिया। प्रतिनिधि राकेश चंद्र से सीड के पैकेट यह कहकर ले गया कि इसे बेंगलूरु की लैब में चेक किया जाना है।

22 अप्रैल को कंपनी के प्रतिनिधि ने पीडि़त को फोन किया कि सैंपल पास हो गए हैं, इसलिए 10 पैकेट और मंगवा लो। आरोपित हर्षवर्धन ने 10 पैकेट के लिए 10 लाख रुपये एडवांस व 8 लाख, 53 हजार बाद में देने को कहा। छह मई को पीडि़त ने हर्षवर्धन के खाते में 10 लाख रुपये भेज दिए, लेकिन आरोपित अपनी बात से मुकर गया और कहने लगा कि पूरे पैसे देने के बाद ही वह सामान भेजेगा। पीडि़त ने 10 मई को आठ लाख, 53 हजार भी आरोपित के खाते में डाल दिए लेकिन इसके बाद आरोपित ने अपना फोन बंद कर दिया। ठगी का एहसास होने पर उन्होंने इसकी शिकायत साइबर क्राइम पुलिस स्टेशन में की।

एसएसपी ने बताया कि आरोपितों के खातों की जांच की गई और गिरफ्तारी के लिए टीमें मुंबई व दिल्ली भेजी गईं। काफी प्रयास के बाद टीम ने मंगलवार को गिरोह के सरगना नाइजीरियन रुबेन ड्यूजे निवासी लागोस नाइजीरिया, जोकि इन दिनों मुंबई में रह रहा था, को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपित ने बताया कि उनके सहयोगी, जोकि फेसबुक पर विदेशी महिला बनकर पहले दोस्ती करते हैं और उन्हें विदेश में व्यापार कर मुनाफा कमाने का लालच देकर ठगी करते हैं। गिरोह के एक सदस्य को पहले ही गुजरात से गिरफ्तार किया जा चुका है, जोकि देहरादून जेल में है।

यह भी पढ़ें- ऋषिकेश: इंटरनेट मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने पर मुकदमा, पार्षद और महिला के बीच विवाद का मामला

हरिद्वार के अधेड़ का नहीं मिला सुराग

हरिद्वार: घर से गायों को चारा खिलाने के लिए गए अधेड़ का भी एक माह बीतने पर कुछ पता नहीं चल पाया। मायापुर हरिद्वार निवासी विजय बोहना ने 24 जून को उसके पिता विजेंद्र वोहरा पुरानी कचहरी के सामने गायों को चारा खिलाने के लिए गए थे। जिसके बाद वह लौटकर नहीं आए। तलाश के बाद परिवार ने उनकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। विजेंद्र का एक माह बाद भी कुछ पता नहीं चल पाया। पुलिस ने अधेड़ की गुमशुदगी को भी अपहरण में तरमीम कर लिया है।

यह भी पढ़ें- देह व्यापार का गंदा खेल: वेबसाइट से लड़कियों की बुकिंग; फोटो भेज तय होते थे रेट; सात युवतियों समेत 13 गिरफ्तार

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.