ऋषिकेश में नगर व्यापार महासंघ का गठन, बनाई गई 11 सदस्यीय संचालन समिति

नगर उद्योग व्यापार मंडल व नगर व्यापार संघ ने संयुक्त रूप से नगर व्यापार महासंघ का गठन किया है।

ऋषिकेश क्षेत्र में सक्रिय अलग-अलग व्यापारिक संगठनों को एकीकृत करने के प्रयास रंग लाने लगे हैं। नगर उद्योग व्यापार मंडल व नगर व्यापार संघ ने संयुक्त रूप से नगर व्यापार महासंघ का गठन किया है। यह महासंघ प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल से संबद्ध रहेगा।

Sunil NegiSat, 27 Feb 2021 02:05 PM (IST)

जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। ऋषिकेश क्षेत्र में सक्रिय अलग-अलग व्यापारिक संगठनों को एकीकृत करने के प्रयास रंग लाने लगे हैं। नगर उद्योग व्यापार मंडल व नगर व्यापार संघ ने संयुक्त रूप से नगर व्यापार महासंघ का गठन किया है। यह महासंघ प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल से संबद्ध रहेगा। महासंघ के चुनाव तथा संगठन का स्वरूप तय करने के लिए 11 सदस्यीय संचालन समिति का गठन किया गया है।

शनिवार को हरिद्वार मार्ग स्थित होटल में नगर उद्योग व्यापार महासंघ की प्रेस वार्ता आयोजित की गई। प्रेस वार्ता में प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष नरेश गोयल ने बताया कि ऋषिकेश के व्यापारिक संगठनों ने एकीकरण की एक बड़ी पहल की है। उन्होंने बताया कि ऋषिकेश में व्यापारियों के चार संगठन सक्रिय हैं, जिनमें से दो संगठन एक मंच पर आ गए हैं। शेष संगठनों को भी एकीकृत करने के लिए प्रयास जारी हैं। उन्होंने बताया नगर उद्योग व्यापार महासंघ के चुनाव तथा संगठन का स्वरूप तय करने के लिए 11 सदस्य संचालन समिति गठित की गई है। यह समिति शीघ्र ही संगठन का बायलॉज तथा चुनाव संबंधित मानक तय करेगी। प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के जिला अध्यक्ष नरेश अग्रवाल ने कहा कि व्यापारियों में सभी व्यापारिक संगठन के व्यापारियों की समस्या तथा व्यापारिक हितों के लिए संघर्षरत हैं। सभी संगठनों को एक मंच पर लाने का भी यही मकसद है कि व्यापारियों की समस्याओं का एकजुट होकर निदान किया जा सके। उन्होंने बताया कि संगठन अब तक 1450 नए सदस्य भी जोड़ चुका है। उन्होंने कहा कि संगठन का प्रयास रहेगा कि व्यापारी हितों के लिए एक मजबुत कोष का गठन किया जाए। ताकि समय पड़ने पर व्यापारियों को आर्थिक मदद भी दी जा सके। इस अवसर पर भाई तो धारी कृष्ण कुमार सिंघल जयेंद्र रमोला, विनोद शर्मा, हितेंद्र पवार, सुभाष कोहली, हरगोपाल अग्रवाल, नवल कपूर, सूरज गुलाटी, अजय गर्ग, विवेक वर्मा, दीपक तायल, प्रतीक कालिया, अंशुल अरोड़ा आदि मौजूद थे।

यह भी पढ़ें-मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा-भ्रष्टाचार न हो तो गुणवत्तापरक होते हैं कार्य

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.