विधायक जोशी ने पेयजल सचिव से की मुलाकात, योजना के लिए धनराशि जारी करने की मांग

विधायक जोशी ने पेयजल सचिव से की मुलाकात।

मसूरी विधायक गणेश जोशी ने सचिवालय में पेयजल सचिव नितेश झा से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री की घोषणा के तहत कुठालगांव पेयजल योजना के लिए धनराशि जारी करने का आग्रह किया। उन्होंने विभाग के वाट्सएप ग्रुप में सरकार के खिलाफ पोस्ट डालने के मामले की भी शिकायत की।

Raksha PanthriWed, 24 Feb 2021 11:45 AM (IST)

जागरण संवाददाता, देहरादून। मसूरी विधायक गणेश जोशी ने सचिवालय में पेयजल सचिव नितेश झा से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने मुख्यमंत्री की घोषणा के तहत कुठालगांव पेयजल योजना के लिए धनराशि जारी करने का आग्रह किया। साथ ही हाल ही में पेयजल निगम के एक अधिकारी की ओर से विभाग के वाट्सएप ग्रुप में सरकार के खिलाफ पोस्ट डालने के मामले की भी शिकायत की।

विधायक जोशी ने कहा कि मसूरी विधानसभा क्षेत्र के वार्ड-एक कुठाल गांव पेयजल योजना के सुदृढ़ीकरण के लिए जल संस्थान (उत्तर) की ओर से 171.23 लाख रुपये की धनराशि का आगणन शासन को भेजा गया है। कुठालगांव क्षेत्र में पेयजल की किल्लत है और क्षेत्रवासियों की ओर से बार-बार पेयजल की समस्या के समाधान के लिए अनुरोध किया जा रहा है। साथ ही विधायक जोशी ने पेयजल निगम के वरिष्ठ अभियंता के विभाग के वाट्सएप ग्रुप में प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ पोस्ट करने की शिकायत की। 

प्रधानमंत्री की ओर से जल जीवन मिशन के अंतर्गत हर घर तक नल से जल पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। यह कृत्य वर्तमान में प्रभारी महाप्रबंधक (जल जीवन मिशन) का कार्य देख रहे अधिकारी की ओर से किया गया है। एक सरकारी सेवक का प्रधानमंत्री के खिलाफ ऐसी अमर्यादित पोस्ट करना कर्मचारी आचरण नियमावली का उल्लंघन और दंडनीय कृत्य है। विधायक ने पेयजल सचिव से अधिकारी को तत्काल निलंबित कर दुर्गम में स्थानांतरण करने का आग्रह किया।

नलकूपों के लिए जनरेटर की व्यवस्था की मांग

प्रेमनगर और आसपास के क्षेत्रों में बिजली गुल होने के कारण पेयजल आपूर्ति बाधित न हो, इसके लिए नलकूपों पर जनरेटर लगाने की मांग की गई। क्षेत्रवासियों ने पेयजल निगम के महाप्रबंधक को पत्र लिख समस्या से अवगत कराया है। प्रेमनगर-आरकेडिया क्षेत्र में अक्सर बिजली गुल होने के कारण नलकूप ठप पड़ जाते हैं। जिससे कि ओवरहेड टैंक नहीं भरते हैं। साथ ही पेयजल आपूर्ति बाधित हो जाती है। क्षेत्रवासियों को हर साल गर्मियों में ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ता है।

क्षेत्र के सामाजिक कार्यकर्ता वीरू बिष्ट की ओर से पेयजल निगम के महाप्रबंधक को पत्र लिखा गया है, जिसमें उन्होंने कहा कि अप्रैल से गर्मी के कारण पानी की खपत बढ़ जाती है और बिजली कटौती व लो वोल्टज की समस्या बनी रहती है। ऐसे में अक्सर पानी की आपूर्ति प्रभावित होती है। उन्होंने मांग की है कि पेयजल आपूर्ति सुचारू रखने के लिए समय रहते उचित कदम उठाए जाएं।

क्षेत्र के नलकूपों के लिए जनरेटर की व्यवस्था की जाए। ताकि बिजली गुल होने पर जनरेटर के जरिये नलकूप चलाए जा सकें और पानी का संकट न हो। गोरखपुर व राघव विहार स्थित नलकूप लो वोल्टेज के कारण भी नहीं चल पाता। साथ ही कई बार नलकूप की मोटर भी अधिक लोड के कारण फुंक जाती है। कहा कि मेहूंवाला क्लस्टर योजना के कार्य के चलते क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति व्यवस्था का जिम्मा जल संस्थान से पेयजल निगम को हस्तांतरित किया गया है।

यह भी पढ़ें- जल्द दूर होगी रेसकोर्स क्षेत्र की पेयजल समस्या, बहुआयामी पेयजल योजना का शिलान्यास

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.