International Apple Festival : उत्‍तराखंड में सेब उत्पादन बढ़ाने को दोगुना किया मिशन एप्पल बजट

दून के रेंजर्स मैदान में उद्यान विभाग की ओर से तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सेब महोत्सव के शुभारंभ पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि मिशन एप्पल का बजट भी दोगुना किया जाएगा। साथ ही उद्यान को बढ़ावा देने के लिए नवीनतम तकनीकों पर जोर दिया जा रहा है।

Sunil NegiSat, 25 Sep 2021 09:20 AM (IST)
रेंजर्स मैदान में आयोजित अंतरराष्ट्रीय सेब महोत्सव पर सेबों की लगी प्रदर्शनी में सेबों को देखते मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी।

जागरण संवाददाता, देहरादून। International Apple Festival उत्तराखंड को जम्मू-कश्मीर और हिमाचल की तर्ज पर सेब उत्पादन में नई पहचान दिलाने को सरकार प्रयास कर रही है। इस दिशा में चलाए जा रहे मिशन एप्पल का बजट भी दोगुना किया जाएगा। साथ ही नवीनतम तकनीकों से प्रदेश में उद्यान को बढ़ावा देने पर जोर दिया जा रहा है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यह बातें अंतरराष्ट्रीय सेब महोत्सव के उद्घाटन पर कहीं।

शुक्रवार को दून के रेंजर्स मैदान में उद्यान विभाग की ओर से तीन दिवसीय अंतरराष्ट्रीय सेब महोत्सव की शुरुआत की गई। जिसमें बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए मुख्य अतिथि पुष्कर सिंह धामी ने सेब प्रदर्शनी का अवलोकन किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि सरकार कृषि और बागवानी को बढ़ावा देने के लिए लगातार प्रयासरत है। उन्होंने उत्तराखंड को उद्यान प्रदेश बनाने के लिए नई तकनीकों और अनुसंधान के जरिये नए विकल्प तलाशने को प्रेरित किया।

उन्होंने घोषणा की कि मिशन एप्पल का बजट दोगुना किया जाएगा। साथ ही कोरोना महामारी से प्रभावित औद्यानिकी विकास से जुड़े कार्मिकों को प्रोत्साहन राशि प्रदान की जाएगी। साथ ही उद्यान विभाग के कार्मिकों को कोरोना वारियर घोषित किया जाएगा। इस दौरान मुख्यमंत्री ने विभागीय अधिकारियों को नए उद्यानों की स्थापना और बेहतर प्रबंधन पर जोर देने के निर्देश दिए।

कृषि एवं उद्यान मंत्री सुबोध उनियाल ने कहा कि प्रदेश में सेब महोत्सव प्रदेश में बागवानी विकास के लिए मील का पत्थर साबित होगा। मिशन एप्पल के साथ अधिक से अधिक काश्तकारों को जोड़ा जाएगा। जम्मू-कश्मीर और हिमाचल के साथ उत्तराखंड के सेब की भी देश-विदेश में पहचान बने इसके लिए गुणवत्ता और पैकिंग पर विशेष ध्यान दिया जाएगा।

उद्यान निदेशक डा. एचएस बावेजा ने बताया कि उत्तराखंड को उद्यान प्रदेश बनाने के लिए कार्ययोजना तैयार की गई है। इसके लिए 1690 करोड़ रुपये का प्रस्ताव तैयार कर लिया गया है। काश्तकारों को आधुनिक तकनीक का इस्तेमाल करने में विभाग सहयोग कर रहा है।

इस दौरान काबीना मंत्री धन सिंह रावत, विधायक महेश नेगी, पूर्व दर्जाधारी नारायण सिंह राणा, अपर सचिव राम विलास यादव, औद्यानिकी एवं वानिकी विश्वविद्यालय के कुलपति डा. अजय कुमार कर्नाटक, बागवानी मिशन निदेशक संजय श्रीवास्तव, कृषि निदेशक गौरी शंकर आदि उपस्थित थे।

निदेशक के कथन का किया विरोध

कार्यक्रम के दौरान उद्यान निदेशक मुख्यमंत्री के पहुंचने से पहले संबोधित कर रहे थे। वे विभाग की उपलब्धियां व योजनाओं की जानकारी दे रहे थे, तभी कार्यक्रम में उपस्थित पूर्व दर्जाधारी नारायण सिंह राणा ने उनकी बात का विरोध कर दिया। राणा का कहना था कि वे जो योजनाएं बता रहे हैं उनका लाभ पात्रों को नहीं मिल रहा है और विभाग उनकी भी नहीं सुन रहा है।

यह भी पढ़ें:-14 हजार फीट की ऊंचाई पर छह साल बाद खिला दुर्लभ नीलकमल, जानिए इसकी खासियत

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.