मालदेवता के प्रभावित ग्रामीणों को मंत्री ने दिए 11-11 हजार

मालदेवता के निकट ग्राम पंचायत सेरकी के झोल में प्रभावित ग्रामीणों को काबीना मंत्री गणेश जोशी ने व्यक्तिगत स्तर पर 11-11 हजार रुपये के चेक प्रदान किए। साथ ही घटना स्थल पर मलबा हटाने के कार्य सुरक्षा वायरक्रेट कार्य की प्रगति का स्थलीय निरीक्षण भी किया।

Sumit KumarSun, 13 Jun 2021 12:05 PM (IST)
भावित ग्रामीणों को काबीना मंत्री गणेश जोशी ने व्यक्तिगत स्तर पर 11-11 हजार रुपये के चेक प्रदान किए।

जागरण संवाददाता, देहरादून : मालदेवता के निकट ग्राम पंचायत सेरकी के झोल में प्रभावित ग्रामीणों को काबीना मंत्री गणेश जोशी ने व्यक्तिगत स्तर पर 11-11 हजार रुपये के चेक प्रदान किए। साथ ही घटना स्थल पर मलबा हटाने के कार्य, सुरक्षा वायरक्रेट कार्य की प्रगति का स्थलीय निरीक्षण भी किया।

बीते गुरुवार को भारी बारिश के कारण भू-स्खलन से मलबा प्रमिला पयाल, मीरा देवी, धनदेई, लीला देवी, बाला देवी व रेशमा के घर में घुस गया था, जिससे उनका सामान भी बर्बाद हो गया था। काबीना मंत्री ने कहा कि सरकार प्रभावितों को हर संभव मदद कर रही है। त्वरित राहत के तौर पर प्रभावित परिवारों के लिए राशन आदि की व्यवस्था पहले ही की जा चुकी है। उन्होंने मौके पर उपस्थित पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता संजय सिंह को वायरक्रेटिंग का काम कर रहे ठेकेदार को सुरक्षा दीवार के काम में तेजी लाने के निर्देश दिए। पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता ने बताया कि मालदेवता सेरकी-सिल्ला से भैसवाड़ा तक निमार्णाधीन मोटर मार्ग पर सड़क कटान के मलबे को रोकने के लिए तकरीबन 250 नए वायरक्रेट व तकरीबन 150 मीटर के डबल वायरक्रेट लगाए जा रहे हैं। मलबा हटाने के काम में 10 डंपर, दो पोकलैंड मशीनें, तीन जेसीबी मशीनें व 60 मजदूर लगाए गए हैं। इस अवसर पर जिलाधिकारी डा. आशीष कुमार श्रीवास्तव, भाजपा जिलाध्यक्ष शमशेर सिंह पुंडीर, जिला पंचायत सदस्य वीर सिंह चौहान, एडीएम गिरीश गुणवंत, एसडीएम गोपाल राम बिनवाल, तहसीलदार दयाराम, बीडीसी बालम सिंह, ग्राम प्रधान दिनेश आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें- सुशीला तिवारी अस्पताल में व्यसन निवारण वार्ड शुरू करने को छह सदस्यीय कमेटी गठित

परिवर्तन यात्रा का किया स्वागत

 चिह्नित राज्य आंदोलनकारी संयुक्त समिति के केंद्रीय मुख्य संरक्षक धीरेंद्र प्रताप ने कांग्रेस की खटीमा से लेकर मसूरी तक आयोजित परिवर्तन यात्रा का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि राज्य आंदोलनकारियों के सपनों के अनुरूप गैरसैंण को स्थायी राजधानी बनाने, उत्तराखंड को एक आदर्श राज्य बनाने के लिए खटीमा से मसूरी तक राज्य आंदोलन में शामिल शहीदों की याद में ऐतिहासिक परिवर्तन यात्रा का कांग्रेस ने सही फैसला लिया है।

यह भी पढ़ें-Corona Curfew: कोरोना कर्फ्यू का सदुपयोग कर बढ़ा रहे कुकिंग स्किल, पढ़िए पूरी खबर

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.