top menutop menutop menu

Uttarakhand Weather Update: बारिश से ऋषिकेश बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग कौड़ियाला के समीप दो स्थानों पर बंद

देहरादून, जेएनएन। Uttarakhand Weather Update रविवार तड़के हुई मूसलाधार बारिश से ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग कौड़ियाला के समीप दो स्थानों पर बंद हो गया। जिससे करीब दो घंटे तक यातायात बाधित रहा। क्षेत्र में रविवार तड़के तीन बजे से जोरदार बारिश शुरू हो गई थी। प्रात: करीब छह बजे ऋषिकेश बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर कौड़ियाला के समीप चट्टान टूटने से मार्ग बाधित हो गया। मौके पर पहुंचे पुलिस में जेसीबी की मदद से मलबा हटाकर यातायात सुचारू कराया। आसपास क्षेत्र में करीब एक अन्य स्थान पर भी मार्ग पर मलवा आ गया था, इससे करीब 2 घंटे तक यातायात बाधित रहा। कौड़ियाला क्षेत्र में अभी भी बारिश जारी है। इस मार्ग पर मुनिकीरेती से मलेथा के बीच सुरक्षा की दृष्टि से प्रशासन ने रात्रि सात बजे से प्रात चार बजे तक यातायात पर रोक लगाई हुई है।

उत्तराखंड में भले ही मौसम ने राहत दी हो, लेकिन दुश्वारियों का दौर बरकरार है। सड़कों पर मलबा आने से आवाजाही चुनौती साबित हो रही है। तीन स्थानों पर मलबा आने से बदरीनाथ हाईवे करीब नौ घंटे बंद रहा, जबकि यमुनोत्री हाईवे पर 18 घंटे बाद यातायात बहाल किया जा सका। वहीं, देहरादून-मसूरी हाईवे पर भी शाम को मलबा आने से आवाजाही प्रभावित रही। आधे घंटे की मशक्कत के बाद मार्ग पर यातायात सुचारू हो सका। वहीं, रविवार को देहरादून में हल्की बारिश का दौर जारी है। बादलों के बीच रिमझिम बारिश से तापमान सामान्य से कम 22 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। मौसम विभाग ने आज देहरादून के अधिकांश इलाकों में मध्यम से भारी बारिश की संभावना जताई है। उधर, सूबे के अन्‍य जिलों में भी बीती रात से बारिश का दौर जारी है।

शनिवार शाम करीब पांच बजे मसूरी-देहरादून हाईवे पर चूना खाल के पास गलोगी पावर हाउस के ऊपर की ओर बोल्डर व मलबा आ गया। जिससे करीब आधा घंटा आवागमन बाधित रहा। इस दौरान सड़क के दोनों ओर वाहनों की कतार लगी रही। लोक निर्माण विभाग के अवर अभियंता संसार सिंह ने बताया कि जेसीबी से मलबा हटाकर याताया सुचारू कर दिया है।

उधर, कुमाऊं के पिथौरागढ़ में भी यही हाल है। चीन सीमा को जोड़ने वाला लिपुलेख मार्ग भी पांचवे दिन खोल दिया गया। दूसरी ओर मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार रविवार को भी भारी बारिश हो सकती है। विशेषकर समूचे कुमाऊं और गढ़वाल के कुछ जिलों में आकाशीय बिजली गिरने की आशंका भी जताई गई है। प्रदेश में मानसून सक्रिय होने के बाद सबसे ज्यादा मार सड़कों पर पड़ी है। मलबा आने के कारण राज्य में 40 से ज्यादा सड़कों पर यातायात बाधित है।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Weather Update: उत्तराखंड में आफत की बारिश, पेड़ गिरने से युवक की मौत; चार घायल

ऋषिकेश में गंगा चेतावनी निशान के पास

ऋषिकेश में गंगा के जलस्तर में वृद्धि हो रही है। शनिवार को जलस्तर चेतावनी निशान के करीब पहुंच गया। त्रिवेणी घाट पर गंगा सीढ़ियों पर पहुंच गई है। शनिवार को गंगा का जलस्तर 338.60 मीटर तक जा पहुंचा। हालांकि शाम को यह 338.27 मीटर पर था। यहां चेतावनी निशान 339.50 मीटर, जबकि खतरे का निशान 340.50 मीटर पर है। कुमाऊं के पिथौरागढ़ जिले के धारचूला में काली नदी भी चेतावनी निशान के करीब बह रही है।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Weather Update: नदी में बहने से एक की मौत, नौ जिलों में बारिश का ऑरेंज अलर्ट

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.