कूड़ा डंपिंग के खिलाफ स्थानीय नागरिक हुए मुखर, नगर निगम प्रशासन के खिलाफ किया प्रदर्शन

हरिद्वार मार्ग से सटे गोविंदनगर स्थित भूखंड में हो रहे कूड़ा डंपिंग के खिलाफ स्थानीय नागरिक मुखर हो गए हैं।

हरिद्वार मार्ग से सटे गोविंद नगर स्थित भूखंड में हो रहे कूड़ा डंपिंग के खिलाफ स्थानीय नागरिक मुखर हो गए हैं। नागरिकों ने नगर निगम प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए आबादी क्षेत्र के निकट भूखंड में कूड़ा डंपिंग का विरोध किया।

Sunil NegiSat, 17 Apr 2021 11:34 AM (IST)

जागरण संवाददाता, ऋषिकेश।  हरिद्वार मार्ग से सटे गोविंद नगर स्थित भूखंड में हो रहे कूड़ा डंपिंग के खिलाफ स्थानीय नागरिक मुखर हो गए हैं। नागरिकों ने नगर निगम प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए कूड़ा मोबाइल वाहनों का प्रवेश रोकते हुए आबादी क्षेत्र के निकट भूखंड में कूड़ा डंपिंग का विरोध किया। नागरिकों ने गोविंद नगरवासियों के आवास अधिग्रहण कर मुआवजा देकर अन्यत्र बसाने की भी मांग की है।

ऋषिकेश नगर निगम क्षेत्र का कूड़ा लंबे समय से गोविंद नगर के निकट स्थित भूखंड में डंपिंग किया जाता है। इस डंपिंग ग्राउंड में कूड़े का पहाड़ खड़ा हो गया है, जो आसपास के आबादी क्षेत्र के लिए परेशानी का सबब बन गया है। कूड़े के इस पहाड़ में आए दिनों आग लग जाती है। साथ ही कूड़े के ढेर से फैलने वाली बदबू के चलते आसपास के नागरिकों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। नगर निगम को ट्रेचिंग ग्राउंड के लिए लालपानी बीट में भूमि आवंटित हो गई है। मगर, अभी ट्रेंचिंग ग्राउंड की प्रक्रिया पूरी नहीं हो पाई है। 

वहीं, डंपिंग ग्राउंड में भी अभी तक कूड़ा निस्तारण के लिए कोई ठोस प्रबंधन नहीं हो पाया है। कूड़ा डंपिंग ग्राउंड से हो रही परेशानी को लेकर स्थानीय नागरिकों ने शनिवार की सुबह डंपिंग ग्राउंड के मुख्य गेट पर प्रदर्शन किया। उन्होंने नगर निगम के कूड़ा मोबाइल वाहनों को डंपिंग ग्राउंड में प्रवेश नहीं होने दिया। नागरिकों ने नगर निगम के खिलाफ नारेबाजी भी की। गोविंद नगर में आर्यन एकेडमी के प्रधानाचार्य अनुराधा साहनी ने कहा कि सरकार गोविंद नगर स्थित डंपिंग ग्राउंड को लेकर गंभीरता से काम नहीं कर रही है। 

उन्होंने कहा कि यदि सरकार इस कूड़े को नहीं हटा सकती तो गोविंद नगर वासियों के मकानों को अधिग्रहण कर उन्हें उचित मुआवजा दे। ताकि वह किसी अन्य स्थान पर अपना निवास बना सकें। स्थानीय पार्षद अजीत सिंह गोल्डी, विवेक तिवारी, परमजीत सिंह, इकबाल सिंह, जगजीत सिंह आदि ने चेतावनी दी कि यदि जल्द ही डंपिंग ग्राउंड में कूड़ा निस्तारण की ठोस व्यवस्था नहीं की गई तो वह आंदोलन को विवश होंगे। प्रदर्शन करने वालों में अमरीक सिंह, वीरेंद्र सिंह, अमरजीत सिंह, मनप्रीत सिंह, बलवीर सिंह, यशपाल सिंह, अरुण कुमार गुप्ता, बसंती देवी चौहान, दिलप्रीत कौर, परमिंदर कौर, परमजीत कौर आदि शामिल थे।

जल्द होगा कूड़े के पहाड़ का निस्तारण

महापौर शनिवार को क्षेत्रवासियों के विरोध प्रदर्शन के बाद नगर निगम महापौर अनिता ममगाईं, क्षेत्रीय पार्षद अजीत सिंह गोल्डी के साथ मौके पर पहुंची। उन्होंने समस्या का संज्ञान लेते हुए अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। महापौर ने क्षेत्रवासियों को अवगत कराया कि तकरीबन 8.65 करोड़ रुपये की लागत से तैयार कूड़ा निस्तारण योजना के माध्यम से इस खाली भूखंड में लगे कूड़े के पहाड़ से मुक्ति दिलाने के लिए हर आवश्यक कारवाई पूर्ण की जा चुकी है। महापौर ने कहा कि पिछले 30 वर्षों से शहर की सुंदरता पर दाग लगा रहा कूड़े का यह पहाड़ गोविंद नगर और शांति नगर क्षेत्र के हजारों लोगों के लिए जी का जंजाल बन चुका था। मगर, अब बस चंद दिनों के भीतर ही शहर की इस सबसे बड़ी समस्या का निस्तारण करा दिया जायेगा।

यह भी पढ़ें-उपनल कर्मियों को शनिवार तक काम पर लौटने का अल्टीमेटम

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.