top menutop menutop menu

Uttarakhand Coronavirus News Update: दूल्हे के बाद अब दुल्हन और बाराती भी संक्रमित, अस्‍पताल में भर्ती

देहरादून, जेएनएन। Uttarakhand Coronavirus News Update प्रदेश में कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है और सतर्कता नहीं बरतने वाले इसकी चपेट में आ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला दून में सामने आया है। जहां दूल्हे के कोरोना पॉजिटिव आने के पांच दिन बाद अब दुल्हन और 13 बाराती भी संक्रमित मिले हैं। सभी को दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है। 

बीती 29 जून को कांवली रोड इंद्रेशनगर निवासी एक युवक की शादी सीमाद्वार में रहने वाली युवती से हुई थी। प्रशासन के निर्देशों के तहत वर और वधु पक्ष से शादी समारोह में सीमित लोग ही शामिल हुए थे। लेकिन, शादी के कुछ दिन बाद ही युवक में कोरोना के लक्षण दिखाई दिए और उसने एक निजी लैब में अपनी जांच कराई। यह रिपोर्ट पॉजिटिव आई। जिस पर दुल्हन सहित 16 लोगों को ग्राफिक एरा स्थित क्वारंटाइन सेंटर भेजा गया था। साथ ही इन सभी का सैंपल कोरोना जांच के लिए भेजा गया।

रविवार को इनमें 14 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. बीसी रमोला ने बताया कि जांच में युवक के पिता व एक अन्य रिश्तेदार को छोड़ अन्य सभी की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें दुल्हन व ज्यादातर वर पक्ष के लोग शामिल हैं। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद सभी को दून मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय में भर्ती करा दिया गया है। इधर, दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल के डिप्टी एमएस के अनुसार सभी की स्थिति सामान्य है। इनमें अधिकांश लोग एसिम्टोमैटिक हैं। विशेषज्ञ चिकित्सकों की देखरेख में इनका उपचार किया जा रहा है।

वधु पक्ष के 29 लोग क्वारंटाइन किए

दुल्हन और बरातियों के संक्रमित पाए जाने के बाद रविवार देर शाम पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीमों ने वधु पक्ष के 29 लोगों को क्वारंटीन सेंटर भेजा। जिसमें दुल्हन के पिता, मां, अन्य रिश्तेदार और किराएदार भी शामिल हैं। किराएदार अधिकतर बिहार के रहने वाले हैं। सीएमओ ने बताया कि इन सभी के सैंपल कोरोना जांच के लिए भेजे जाएंगे। इसमें एक साल के बच्चे से लेकर बुजुर्ग तक शामिल हैं।

पंडित की भी तलाश

वर-वधु पक्ष के लोगों को क्वारंटाइन सेंटर व अस्पताल भेजने के बाद अब शादी कराने वाले पंडितों की तलाश है। बताया गया कि इस बीच पंडितों ने कहां-कहां धाॢमक अनुष्ठान कराए और किन लोगों से मिले इसका भी पता लगाया जाएगा। साथ ही उनके संपर्क में आए लोगों को भी क्वारंटाइन कर जांच कराई जाएगी।

उत्तराखंड में कोरोना के मामले दिन-ब-दिन बढ़ते जा रहे हैं। रविवार को कोरोना के 120 नए मामले सामने आए हैं, जिनमें सबसे अधिक मामले 40 मामले ऊधमसिंहनगर, 35 देहरादून, 18 हरिद्वार, 13 नैनीताल, छह चंपावत, चार पौड़ी गढ़वाल, दो-दो बागेश्वर और टिहरी गढ़वाल में सामने आए हैं। वहीं, 68 मरीज पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। अब राज्य में संक्रमितों की संख्या 3537 हो गई है, जबकि 2786 पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 674 मामले एक्टिव हैं, जबकि 47 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 30 मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं।   

कोरोना संक्रमित मरीज की मौत

हलद्वानी में गौजाजाली क्षेत्र के एक कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गई है। मरीज टीबी समेत कई बीमारियों से ग्रसित था और उसका उपचार चल रहा था। सुशीला तिवारी अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अरुण जोशी ने बताया कि गौजाजाली क्षेत्र का रहने वाली एक मरीज छह जुलाई का एसटीएच पहुंचा। इससे पहले वो निजी क्लीनिक और फिर टीबी के साथ ही चेस्ट विभाग में भर्ती रहा। उपचार के दौरान जब उसकी कोरोना जांच कराई गई, तो वह पॉजिटिव निकला था। उसे टीबी के अलावा निमोनिया और श्वांस संबंधी दिक्कत थी। रविवार को उसकी मौत हो गई। वहीं, रुद्रपुर निवासी 35 वर्षीय महिला की मौत हुई है। कोरोना जांच के लिए उसका सैंपल भेजा गया है। 

24 घंटे में छह लोगों में कोरोना की पुष्टि 

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान(एम्स) ऋषिकेश में पिछले 24 घंटे में छह लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि मेरठ निवासी एक 21 वर्षीय युवक का 11 जुलाई को ओपीडी में कोरोना सैंपल लिया गया था जो, रविवार को पॉजिटिव आया। यह युवक एम्स में भर्ती अपने पिता का अटेंडेंट है। मरीज को नजदीकी सीसीसी सेंटर में भर्ती करने को कहा गया है। वहीं, श्यामपुर ऋषिकेश निवासी 38 वर्षीय व्यक्ति बीती 11 जुलाई को बुखार की शिकायत के साथ एम्स स्क्रीनिंग ओपीडी में आया था। उसे बीते छह दिनों से बुखार की शिकायत है। उसका सैंपल लिया गया, जो पॉजिटिव आया है। एक अन्य मामले में हरिद्वार निवासी 26 वर्षीय युवक बीते शनिवार को बुखार की शिकायत के साथ एम्स इमरजेंसी में आया था, जिसमें कोरोना की पुष्टि हुई है। गौरतलब है कि युवक के पिता कोरोना संक्रमित हैं, जिनका एम्स में उपचार चल रहा है। 

इधर, वीरपुर खुर्द, वीरभद्र निवासी 34 वर्षीय युवक जो 8 जुलाई को एम्स ओपीडी में आया था उसकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। इस युवक के बेटे, पिता और दादा पहले ही संक्रमित पाए जा चुके हैं। इनका एम्स में इलाज चल रहा है। हरिद्वार निवासी 16 वर्षीय किशोर और 51 वर्षीय व्यक्ति में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। लिहाजा उन्हें नजदीकी सीसीसी सेंटर में भर्ती होने की सलाह दी गई है।

आम हो या खास, कोरोना की चपेट में आने से कोई बच नहीं रहा है। मामूली सी सतर्कता हटने या अनजाने में किसी पॉजीटिव मरीज के संपर्क में आने पर कई व्यक्ति कोरोना संक्रमित हो जा रहे हैं। दूल्हा के कोरोना की चपेट में आने के बाद अब दुल्हन समेत 14 बाराती भी संक्रमित हो गए हैं। राजधानी देहरादून में एक युवक की शादी बीती 29 जून को हुई थी और वह कोरोना संक्रमित मिला था। एहतियात के तौर पर दुल्हन समेत 16 लोगों को क्वारंटाइन कर दिया गया था। रविवार को दुल्हन समेत 14 बाराती संक्रमित आने से हड़कंप मच गया। इन्‍हें अस्‍पताल में भर्ती किया जा रहा है।

टनकपुर में देर रात मिले छह कोरोना संक्रमित

टनकपुर में शनिवार रात कोरोना के छह और नए मामले सामने आए है। स्वास्थ्य विभाग की टीम इन सभी लोगों को आइसोलेट करने की तैयारी कर ही है। हालांकि अब तक इन लोगों की केस हिस्ट्री सामने नहीं आई है। इसके बाद जनपद में कोरोना पॉजिटिव की तादात 71 पहुंच गई है। सीएमओ डॉ. आरपी खंडुरी ने बताया कि दो दिन पूर्व टनकपुर संयुक्त अस्पताल से कई लोगों के सैंपल जांच के लिए एसटीएच लैब भेजे गए थे। शनिवार रात दस लोगों की जांच रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग को मिली है। उनमें से छह लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें एक 40 वर्षीय बुजुर्ग महिला छीनिगोठ, वर्मा लाइन में शिक्षक व खनन कारोबारी समेत दो लोग, शारदा कालोनी निवासी ग्राम विकास अधिकारी, मुख्य बाजार में एक दुकानदार व बिचई निवासी 60 वर्ष का एक काश्तकार शामिल है। सीएमओ ने बताया कि पॉजिटिव आए सभी लोगों को आइसोलेट किया जा रहा है। साथ ही इनके संपर्क में आए लोगों को चिह्नित किया जा रहा है।

शनिवार को भी प्रदेश में 45 और लोग में कोरोना की पुष्टि हुई है। इसके साथ ही रिकवरी दर भी 80 फीसद से खिसककर 79.54 प्रतिशत पर आ गई है। वहीं, नौ दिन पहले पांच सौ से नीचे पहुंची भर्ती मरीजों की संख्या भी अब बढ़कर 623 हो गई है। सुकून बस इस बात का है कि पिछले 11 दिन में संक्रमण दर में करीब 14 फीसद की गिरावट आई है। बीती एक जुलाई को संक्रमण दर 4.71 फीसद थी, जो अब घटकर 4.06 रह गई है। प्रदेश में अब तक कोरोना के 3417 मामले आए हैं। जिनमें 2718 स्वस्थ हो चुके हैं। कोरोना संक्रमित 46 लोग की मौत हो चुकी है, जबकि 30 मरीज राज्य से बाहर जा चुके हैं।

स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार, शनिवार को 2441 सैंपल की जांच रिपोर्ट आई है। जिनमें 2396 की रिपोर्ट निगेटिव व 45 की पॉजिटिव है। देहरादून में सर्वाधिक 21 मामले सामने आए हैं। जिनमें नौ पूर्व में संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आए लोग हैं। साथ ही दो स्वास्थ्य कर्मियों में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। इसके अलावा ऊधमसिंह नगर में भी 14 और लोग की रिपोर्ट पॉजिटिव है। 

इनमें छह पूर्व में संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क में आए लोग हैं। चार की ट्रेवल हिस्ट्री अभी पता नहीं लग पाई है। जबकि दो लोग दिल्ली, एक हिसार व एक मुंबई से लौटे हैं। हरिद्वार में जिन तीन लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, वह सभी पूर्व में संक्रमित पाए गए व्यक्तियों के संपर्क में आए लोग हैं। अल्मोड़ा में भी तीन नए मामले आए हैं। टिहरी में मुंबई व दिल्ली से लौटे दो लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव है।

 वहीं चमोली में संक्रमित मिला एक व्यक्ति दिल्ली से लौटा है। रुद्रप्रयाग में भी सप्ताह बाद फिर कोरोना की वापसी हो गई है। यहां भी दिल्ली से लौटा एक शख्स संक्रमित मिला है। इधर, शनिवार को 12 लोग डिस्चार्ज भी किए गए हैं। इनमें छह देहरादून, तीन चमोली, दो नैनीताल व एक टिहरी से है।

दो साल का बच्चा, सेना का जवान डॉक्टर सहित 21 संक्रमित

दून में कोरोना की रफ्तार नहीं थम रही है। शनिवार को जिले में कोरोना के 21 नए मामले आए हैं। इनमें दो साल का एक बच्चा और एम्स के सीनियर रेजिडेंट समेत दो स्वास्थ्य कर्मी भी शामिल हैं। बता दें, देहरादून जिले में अब तक कोरोना के 836 मामले आ चुके हैं। जिनमें 78 फीसद यानि 654 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 135 मरीज अस्पतालों व कोविड-केयर सेंटर में भर्ती हैं। कोरोना संक्रमित 27 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 20 लोग राज्य से बाहर जा चुके हैं।

मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. बीसी रमोला ने बताया कि सेलाकुई स्थित फार्मा इंडस्ट्री के एक कर्मचारी को कुछ दिन पूर्व बुखार की शिकायत पर काम से वापस लौटाया गया था। यहां मालवीय रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती होने पर उसका सैंपल कोरोना जांच के लिए भेजा गया था। जिसमें उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर उसके संपर्क में आए फैक्ट्री व आसपास के 16 लोग संस्थागत क्वारंटाइन में रखे गए थे। इन सभी के सैंपल भी जांच के लिए भेजे गए थे। जिनमें छह की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इसके अलावा कोरोना पॉजिटिव छह लोगों के सैंपल जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर संक्रीनिंग के दौरान लिए गए थे। 

दून में पहले से भर्ती दो मरीजों की भी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। डॉ. रमोला ने बताया कि एम्स से पांच लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। जिनमें वीरभद्र मार्ग निवासी एक दो वर्षीय बच्चा भी शामिल है। उसके दादा व परदादा की रिपोर्ट पहले ही पॉजिटिव आ चुकी है। बच्चा भी संभवत: उनसे ही संक्रमित हुआ है। एम्स के एक सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर व अस्पताल में भर्ती रुड़की निवासी व्यक्ति में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। जबकि एक अन्य मरीज सहारनपुर निवासी व्यक्ति है, जो पेट दर्द की शिकायत पर एम्स की इमरजेंसी में पहुंचा था। वह अब वापस सहारनपुर जा चुका है। एम्स में भर्ती हरिद्वार निवासी एक मरीज के तीमारदार में भी कोरोना की पुष्टि हुई है। वह फिलहाल अपने घर पर है। इसके अलावा सेना के एक जवान व निजी अस्पताल के स्वास्थ्य कर्मी की भी रिपोर्ट पॉजिटिव है।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: दून अस्पताल में नई दवा मिलेगी कोरोना संक्रमितों को

सेलाकुई स्थित फार्मा कंपनी की एक यूनिट सील

सेलाकुई में एक फार्मा कंपनी में शनिवार को छह कर्मियों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इससे पहले यहां एक अन्य कर्मी में कोरोना का संक्रमण पाया गया था। इसके साथ ही कंपनी की दो यूनिट में से एक को सील कर दिया गया है। यह पहली फैक्ट्री भी है, जिसमें कोरोना संक्रमण के चलते सीलिंग की गई है। जिलाधिकारी डॉ. आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि इस कंपनी में 40 कर्मी कार्यरत हैं। पहले एक कर्मी में कोरोना की पुष्टि होने पर क्लोज कॉन्टेक्ट वाले 17 कर्मियों को क्वारंटाइन कर दिया गया था। इनमें से छह की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। अब सभी कर्मचारियों की कोरोना की जांच कराई जाएगी। सभी की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग भी कराई जा रही है। इसमें आसपास की दुकानों के कारोबारी व अन्य लोग भी शामिल हैं। फिलहाल कंपनी की एक यूनिट अग्रिम आदेश तक सील रहेगी।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: डेढ़ माह बाद भी नहीं आई 150 सैंपलों की रिपोर्ट Haridwar News

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.