हाईटेंशन लाइन पर करंट से झुलसा लाइनमैन

जल विद्युत निगम की लाइन ठीक कर रहा लाइनमैन करंट लगने से झुलस गया।

जल विद्युत निगम की लाइन ठीक कर रहा लाइनमैन करंट लगने से झुलस गया। मौके पर मौजूद श्रमिक भी हादसा देखकर भाग खड़े हुए। कुल्हाल चौकी पुलिस टीम ने झुलसे लाइनमैन को हाईटेंशन लाइन से रस्सी के सहारे नीचे उतारा और उपचार के लिए लेहमन अस्पताल में भर्ती कराया।

Publish Date:Sat, 23 Jan 2021 02:09 AM (IST) Author:

जागरण संवाददाता, विकासनगर: कोतवाली विकासनगर क्षेत्र के मटक माजरी क्षेत्र में रिसोर्ट के पास जल विद्युत निगम की लाइन ठीक कर रहा लाइनमैन करंट लगने से झुलस गया। मौके पर मौजूद श्रमिक भी हादसा देखकर भाग खड़े हुए। कुल्हाल चौकी पुलिस टीम ने झुलसे लाइनमैन को हाईटेंशन लाइन से रस्सी के सहारे नीचे उतारा और उपचार के लिए लेहमन अस्पताल में भर्ती कराया, जहां पर चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार के बाद उसे कोरोनेशन अस्पताल देहरादून के लिए रेफर कर दिया। वहीं, जल विद्युत निगम के महाप्रबंधक यमुना वैली ने मामले की विभागीय जांच के निर्देश दिए हैं। जल विद्युत निगम की दो लाइनों में पिछले आठ दिन से खराबी थी, जिसे ठीक करने के लिए ठेकेदारी पर लाइनमैन व मजदूर काम कर रहे थे। एक लाइन ठीक होने के बाद शटडाउन लेकर दूसरी लाइन पर काम चल रहा था। लाइनमैन धर्म ¨सह पुत्र गुलीराम निवासी जाटोवाला बेहट, सहारनपुर, उत्तर प्रदेश लाइन दुरुस्त कर रहा था कि शाम साढ़े चार बजे उसे तेज करंट लगा। इसकी सूचना तुरंत रीवर व्यू रिसोर्ट संचालक नदीम पुत्र सलीम निवासी कुल्हाल ने चौकी प्रभारी पंकज कुमार को दी। सूचना मिलने पर कोतवाल राजीव रौथाण व चौकी इंचार्ज पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। उन्होंने करंट लगने के बाद बिजली के पोल पर लटके लाइनमैन को उतारने के लिए आपूर्ति ठप कराया। बिजली के पोल पर लटके लाइनमैन को स्थानीय व्यक्तियों की मदद से पुलिस ने नीचे उतारा और निजी वाहन से निगम के कर्मचारियों के साथ उपचार के लिए लेहमन अस्पताल पहुंचाया। कोतवाल राजीव रौथाण के अनुसार झुलसे लाइनमैन को कोरोनेशन अस्पताल रेफर किया गया है।

---------------

लाइन ठीक करने के लिए शटडाउन लिया गया था, जिस पर ठेकेदार की लेबर काम कर रही थी। काम करने के दौरान लाइनमैन को करंट कैसे लगा इसकी विभागीय जांच के निर्देश अधीनस्थों को दिए गए हैं। जांच में जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

विपिन बिहारी सि‍ंघल, महाप्रबंधक यमुना वैली उत्तराखंड जल विद्युत निगम।

---------------

सुरक्षा संसाधनों के अभाव में ¨जदगी से खेल रहे लाइनमैन

संवाद सहयोगी, विकासनगर: कुल्हाल पॉवर हाउस के पास खारा नाइन की 11 हजार केवी लाइन पर हुए हादसे में जल विद्युत निगम पर लापरवाही के आरोप लग रहे हैं। प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो विद्युत लाइन पर काम कर रहे लाइनमैन ने न तो गम बूट पहने थे, न ही उसके हाथों में दस्ताने थे। उधर, कर्मचारी यूनियन ने भी दुर्घटना पर नाराजगी व्यक्त की है। यूनियन के नेताओं का कहना है कि निगम धन बचाने के लालच में खतरनाक काम करवा रहा है। हाईटेंशन लाइन के पोल पर काम कर रहे लाइनमैन धर्मसिंह को करंट लग जाने के बाद मौके पर पहुंचे प्रत्यक्षदर्शियों की माने तो दुर्घटना के दौरान निगम की ओर से बरती गई लापरवाही देखने को मिली है। क्षेत्रवासी दीपक कुमार, तस्सवुर, सुलेमान आदि का कहना है कि लाइन पर काम कर रहे लाइनमैन ने केवल सुरक्षा बेल्ट पहनी थी। इसके अतिरिक्त गम बूट व गलब्स आदि उसके पास नहीं थे। उधर, जल विद्युत निगम की कर्मचारी यूनियन के नेता राकेश शर्मा का कहना है कि निगम के अधिकारी धन बचाने के लालच में खतरे के काम करने वाले कर्मियों की जान से खेल रहे हैं। उनका कहना है निगम की ओर से ठेके पर दिए जाने वाले इस प्रकार के कार्य में सुरक्षा उपकरण के लिए अलग से ठेकेदार को रुपया दिया जाना चाहिए। जिससे वह पूरी सुरक्षा के साथ ऐसे कार्यो को पूरा करें। उन्होंने बताया कि दो वर्ष पहले ढकरानी क्षेत्र में ठेकेदार के एक कर्मी की करंट लगने से मौत हो गई थी। उनका कहना है निगम के अधिकारियों की लापरवाही के चलते इस प्रकार की घटनाएं हो रही हैं।

------------------

पुलिस ने जान पर खेलकर किया रेस्क्यू

विकासनगर: हाईटेंशन लाइन पर काम कर रहे जल विद्युत निगम के ठेकेदार के कर्मी को बचाने के नाम पर निगम के कर्मचारी या ठेकेदार के अन्य मजदूर सामने नहीं आए। ऐसे में कुल्हाल चौकी इंचार्ज पंकज कुमार व सिपाही मंदीप ने अपनी जान पर खेलकर लाइन पर झूल रहे कर्मी को नीचे उतारा। कर्मी को करंट लगने के साथ ही उसके साथ आए अन्य मजदूर व तकनीकी कर्मी हादसा होते ही मौके से भाग खड़े हुए। घटना की सूचना पर जलविद्युत निगम का कोई कर्मचारी अधिकारी भी मौके पर नहीं पहुंचा। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे चौकी इंचार्ज व उनके साथ पुलिसकर्मी ने बिना देर किए पास के एक रिसोर्ट से सीढ़ी मंगवा कर तार पर झूल रहे कर्मी को नीचे उतारा। एसआइ पंकज कुमार ने बताया कि मौके पर जब उन्हें पता चला कि कर्मी अभी जीवित है तो उन्होंने बिना देर किए उसे लाइन से नीचे उतारकर अपनी गाड़ी से हरबर्टपुर के लेहमन मसीही अस्पताल पहुंचाया।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.