top menutop menutop menu

उत्‍तराखंड में बारिश से सड़कों पर भूस्खलन की मार, तस्वीरों में देखें प्रकृति का कहर

उत्‍तराखंड में बारिश से सड़कों पर भूस्खलन की मार, तस्वीरों में देखें प्रकृति का कहर
Publish Date:Wed, 12 Aug 2020 04:15 PM (IST) Author: Sunil Negi

देहरादून, जेएनएन। उत्‍तराखंड में बारिश के कारण सड़कों पर भूस्खलन की मार जारी है। बुधवार को चमोली में बदरीनाथ हाईवे भूस्‍खलन से कई जगह बंद है, जबकि उत्तरकाशी में गंगोत्री हाईवे भी मलबा आने से बंद है। वहीं, रुद्रप्रयाग में गौरीकुंड हाईवे आज चौथे दिन खुल पाया। पिथौरागढ़ जिले में चीन सीमा को जोड़ने वाले थल-मुनस्यारी, तवाघाट-लिपुलेख मार्ग, नाचनी-बांसबगड़ मार्ग पर भी आवाजाही नहीं हो पा रही है।

प्रदेश में लगातार हो रही बारिश और भूस्खलन से जनजीवन अस्त-व्यस्त है। गढ़वाल और कुमाऊं में 100 से ज्यादा सड़कें मलबा आने से बाधित हैं। उत्तरकाशी जिला मुख्यालय से 45 किलोमीटर दूर थिरांग नामक स्थान पर हुए जबरदस्त भूस्खलन से गंगोत्री हाईवे बाधित हो गया था, जिसे आज खोल दिया गया। 

 

1 गौरीकुंड हाईवे बंद होने से यात्रियों को हुई परेशानी  

रुद्रप्रयाग जिले में गौरीकुंड हाईवे लगातार पहाड़ी से मलबा आने व भूस्‍खलन के चलते बंद था, जिसे आज चौथे दिन खोल दिया गया है। मार्ग अवरुद्ध रहने से लोगों को आवाजाही करने में खासी दिक्कतें झेलनी पड़ी। केदारघाटी में हो रही तेज बारिश के चलते गौरीकुंड हाईवे पर आवाजाही करना खतरनाक हो गया है। विभिन्न स्थानों पर पहाड़ी से मलबा और बोल्डर गिरने का सिलसिला जारी है, जिससे एनएच लोनिवि की मुश्किले बढ़ती ही जा रही है। गौरीकुंड हाईवे बांसवाडा में रविवार को बंद हो गया था। यहां रविवार को कुछ घंटे ही वाहनों की आवाजाही हो सकी है। उसके बाद यहां पर लगातार पत्थर गिरने का सिलसिला बना हुआ है। आज इस मार्ग को  सुचारु कर दिया गया है। 

2 चमोली में बदरीनाथ हाईवे चार जगह अवरुद्ध

चमोली जनपद में भारी बारिश के चलते बदरीनाथ हाईवे पीपलकोटी, भनारपानी, लामबगड़ और पागलनाला में बंद है। हाईवे नहीं खुलने से यात्री पैदल ही आवाजाही कर बदरीनाथ दर्शनों के लिए जा रहे थे। बीती रात्रि को भारी बारिश से बदरीनाथ हाईवे व गोपेश्वर चोपता उखीमठ हाईवे कई जगह बाधित हो गया। जिससे यात्री जगह-जगह फंसे रहे। कर्णप्रयाग-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग मैठाणा, बाजपुर, निर्मल पैलेस के पास, छिनका, क्षेत्रपाल, भनेरपानी, पागलनाला, लामबगड़ में अवरुद्ध हाईवे को खोलने का कार्य जारी है। 

 

3 उत्तरकाशी में भारी भूस्खलन से बंद रहा गंगोत्री हाईवे 

गंगोत्री हाईवे पर उत्तरकाशी जिला मुख्यालय से 45 किलोमीटर गंगोत्री की ओर थिरांग के पास सोमवार की रात को भारी भूस्खलन हुआ। भूस्खलन से बंद गंगोत्री हाईवे मंगलवार पूरे दिन बंद रहा है। यहां तक की भूस्खलन क्षेत्र में पैदल आवाजाही भी पूरी तरह से बंद रही। सीमा सड़क संगठन की टीम ने आज बुधवार को सुचारु कर दिया है, लेकिन अभी केवल छोटे वाहनों का ही संचालन हो रहा है।

 

4 यमुनोत्री धाम के निकट घोड़ा पड़ाव के पास नाले में आया उफान 

उत्तरकाशी जिले में यमुनोत्री धाम के निकट घोड़ा पड़ाव के पास एक नाले में बारिश के कारण उफान आया। उफान के साथ आए मलबे से यमुनोत्री धाम को जोड़ने वाला मार्ग बाधित हुआ। साथ ही घोड़ा पड़ाव व रास्ते को भी नुकसान पहुंचा है। यमुनोत्री धाम जाने वाले यात्रियों को मलबे के ऊपर से जान जोखिम में डालकर आवाजाही करनी पड़ रही है। यमुनोत्री धाम में रह रहे तीर्थ पुरोहित गिरीश उनियाल और अनु उनियाल ने कहा कि रात के समय उफान के समय भारी आवाज आयी। जिससे धाम में भी अफरातफरी का माहौल रहा। मंदिर को जोड़ने वाले मुख्य रास्ते की रेलिंग भी टूटी, साथ ही रास्ता भी टूटा है। जो स्थानीय श्रद्धालु यमुनोत्री धाम पहुंच रहे हैं जान जोखिम में डालकर मलबे को पार करके आवाजाही शुरू कर रहे हैं।

5 ऋषिकेश बदरीनाथ मार्ग पर पहाड़ी से गिरे बोल्‍डर

ऋषिकेश बदरीनाथ मार्ग पर तपोवन से शिवपुरी के बीच मंगलवार रात्रि हुई बारिश के चलते राजमार्ग पर कई जगह बोल्डर आ गए हैं। जिससे मार्ग पूरी तरह से अवरुद्ध हो गया है। यहां एक स्थान पर भारी-भरकम चट्टान टूटने से उसके नीचे एक पोकलैंड मशीन भी दब गई है। हालांकि, इन दिनों ऋषिकेश बदरीनाथ मार्ग पर तोताघाटी में मार्ग टूटा होने के कारण यातायात बंद है, लेकिन ऋषिकेश से कौड़ियाला तक यातायात संचालित हो रहा है। मंगलवार रात्रि हुई बारिश के कारण यहां करीब आधा दर्जन स्थानों पर चट्टाने टूटने से मार्ग बाधित गया है। जिससे तपोवन से शिवपुरी, गूलर, कौड़ियाला और व्यासी के बीच वाहनों का आवागमन ठप हो गया है। थानाध्यक्ष मुनिकीरेती आरके सकलानी ने बताया कि अभी मार्ग को खोलने का काम शुरू कर दिया गया है, चार से 5 घंटे के भीतर मार्क होने की उम्मीद है।

 

6 टिहरी में ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे भूस्‍खलन से रहा बाधित

ऋषिकेश-गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर साबली व धौलाधार के पास मलबा आने से राजमार्ग करीब डेढ़ घंटे तक बाधित रहा, जिस कारण यात्रियों को आवागमन में दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बुधवार को ऋषिकेश-गंगोत्री हाईवे पर साबली गांव के पास सुबह करीब 6.30 बजे मलबा आने से राजमार्ग अवरूद्ध हुआ। मार्ग पर मलबा आने से दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई। इस दौरान यात्रियों को परेशानियों का सामना करना पड़ा। जेसीबी द्वारा मलबा हटाए जाने के बार आठ बजे मार्ग सुचारू हो पाया। इसी हाईवे के धौलाधार में भी सुबह 9.30 बजे मलबा आया। यहां पर भी करीब आधे घंटे तक आवागमन बाधित रहा। वहीं ऋषिकेश-बदरीनाथ हाईवे के शिवपुरी के पास सुबह 8.45 बजे पहाड़ी से मलबा आने से राजमार्ग अवरूद्ध हुआ इस दौरान यात्री परेशानी रहे 11 बजे मलबा हटाने के बाद आवागमन सुचारू हो पाया। 

 

7 मसूरी रोड के ध्वस्त हिस्से पर सुरक्षा दीवार का निर्माण शुरू

दून-मसूरी रोड का 50 मीटर हिस्सा ध्वस्त हो जाने के बाद लोनिवि प्रांतीय खंड ने यहां सुरक्षा दीवार का निर्माण शुरू कर दिया है। इस काम के लिए लोक निर्माण विभाग (लोनिवि) ने 30 श्रमिकों की टीम लगाई है। साथ ही सड़क के ध्वस्त होने के बाद जो एक मीटर का भाग रह गया था, उसकी चौड़ाई नाली पाटकर व कच्चे भाग को समतल कर ढाई मीटर कर दी गई है। यह व्यवस्था छोटे वाहनों के संचालन के लिए की गई है। हालांकि, एहतियात के तौर पर शाम सात से सुबह सात बजे तक यातायात पूरी तरह बंद रखा जा रहा है।

8  पिथौरागढ़ में अस्कोट कर्णप्रयाग मोटर मार्ग में बरड़ के पास हुआ धंसाव

पिथौरागढ़ जिले के अस्कोट कर्णप्रयाग मोटर मार्ग में बेरीनाग से थल के मध्य बरड़ के पास सड़क धंस गई है। हल्द्वानी से सामान ला रहा एक एलपी वाहन सड़क पर पलट गया।थल-पांखू सड़क में सिल्दो के पास हुए भूस्खलन के दौरान एक पिकअप वाहन बह गया। एक मैक्स जीप भी क्षतिग्रस्त हो गई। सड़क यातायात के लिए बंद हो चुकी है। रात्रि दो बजे गोल गाव के लमतोड़ा तोक में लक्ष्मण राम  के मकान के निकट भूस्खलन होने से गोशाला ध्वस्त हो गई। एक घोड़ा मलबे में दब कर मौत हो गई। हीपा गांव में जगत सिंह कार्की के मकान में मलबा घुस गया। घर मे रखा सारा सामान नष्ट हो गया है।

 

9 नैनीताल में मलबा व भूस्खलन की वजह से सड़कों पर यातायात प्रभावित

नैनीताल में जिला मुख्यालय में लगातार बारिश से जनजीवन प्रभावित है, जबकि मलबा व भूस्खलन की वजह से सड़कों पर यातायात प्रभावित है। हल्द्वानी मार्ग पर बलदियाखान के पास मलबा आने से बंद हो गया है। जिससे दोनों तरफ वाहनों को कतार लगी है। एनएच की ओर से मलबा हटाने को जेसीबी भेजी जा चुकी है। जिला कंट्रोल रूम से मिली जानकारी के अनुसार जिले में मलबा आने व भूस्खलन से पांडेगांव-तलिया, गैस गोदाम से जलिया गांजा,  फतेहपुर अनयां, देचौरी देगांव, कांडा-दून परेवा, ओखलढुंगा कुनखेत आदि सड़कों पर फिलहाल यातायात बंद है। 

 यह भी पढ़ें: Uttarakhand Weather News: उत्तराखंड में अगले तीन दिन भारी बारिश का अलर्ट

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Weather VIDEO: देहरादून में टपकेश्वर महादेव मंदिर में वर्षों बाद तमसा नदी अपने पूर्ण वेग में

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.