जैविक संसाधन की दक्षता बढ़ानी होगी, आइआइपी में अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में बोले निदेशक डा. अंजन रे

भारतीय पेट्रोलियम संस्थान (आइआइपी) में संसाधन दक्षता ऊर्जा पर्यावरण रसायन व स्वास्थ्य पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया। सम्मेलन को संबोधित करते हुए आइआइपी के निदेशक डा. अंजन रे ने कहा कि ऊर्जा स्वास्थ्य व रासायनिक मांग को पूरा करने के लिए जैविक संसाधन की दक्षता बढ़ानी होगी।

Sumit KumarSun, 05 Dec 2021 04:24 PM (IST)
भारतीय पेट्रोलियम संस्थान (आइआइपी) में संसाधन दक्षता, ऊर्जा, पर्यावरण, रसायन व स्वास्थ्य पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया।

जागरण संवाददाता, देहरादून: भारतीय पेट्रोलियम संस्थान (आइआइपी) में संसाधन दक्षता, ऊर्जा, पर्यावरण, रसायन व स्वास्थ्य पर अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन का आयोजन किया गया। शनिवार को आयोजित सम्मेलन को संबोधित करते हुए आइआइपी के निदेशक डा. अंजन रे ने कहा कि ऊर्जा, स्वास्थ्य व रासायनिक मांग को पूरा करने के लिए जैविक संसाधन की दक्षता बढ़ानी होगी।

उन्होंने अपेक्षा की कि बायोटेक रिसर्च सोसायटी इंडिया इस दिशा में पूर्व की तरह बेहतर काम करती रहेगी। वहीं, कार्यक्रम में बायोटेक रिसर्च सोसायटी के 18वें सम्मेलन के वार्षिक पुरस्कार भी बांटे गए।

एक सप्ताह में जारी कर दिया बीएड परीक्षा का रिजल्ट

श्रीदेव सुमन विवि ने बीएड प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट घोषित कर दिया है। 26 नवंबर को प्रवेश परीक्षा संपन्न हुई थी। एक सप्ताह में ही विवि ने परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया है।

शनिवार को श्रीदेव सुमन विवि के कुलपति डा. पीपी ध्यानी और कुलसचिव डा. मोहन सिंह पंवार ने संयुक्त रूप से बीएड प्रवेश परीक्षा परिणाम घोषित किया। कुलसचिव डा. मोहन सिंह पंवार ने बताया कि कुल 5456 परीक्षाथियों ने परीक्षा दी। इनमें से 2950 सीटों पर विद्याथियों को प्रवेश दिया जाएगा। जल्द ही प्रवेश के लिए काउंसलिंग शुरू की जाएगी। कुलसचिव डा. मोहन सिंह पंवार ने जल्द परिणाम घोषित करने पर विवि की पूरी टीम को शुभकामनाएं दी हैं।

यह भी पढ़ें- देहरादून में सीबीएसई बोर्ड और समूह ग भर्ती परीक्षार्थियों पर भारी पड़ा जीरो जोन

खिड़की और मंगलू नाटक का मंचन

नन्हीं दुनिया स्कूल में दो दिवसीय नाटक का मंचन किया गया। इस दौरान दर्शकों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। शनिवार को एकलव्य सांस्कृतिक समिति की ओर से नन्हीं दुनिया स्कूल में टीवी एवं फिल्म कलाकार अखिलेश नारायण के नेतृत्व में खिड़की और मंगलू नाटक का मंचन किया गया। समिति के अध्यक्ष महेश नारायण ने बताया इस नाट्य समारोह का उद्देश्य राज्य में शिथिल पड़ी नाट्य गतिविधियों में एक अलख जगाने का है। इस अवसर पर सात्विका, जागृति कोठारी आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- उत्‍तराखंड में कोरोना से सात माह पहले हुई मौत अब की गई रिपोर्ट

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.