उत्तराखंड स्टार्टअप कान्क्लेव में उद्योग निदेशक नौटियाल बोले, उद्योग और स्टार्टअप के बीच सहयोग जरूरी

उत्तराखंड में स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के विकास के लिए उद्योग और स्टार्टअप के बीच सहयोग व भागीदारी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। यह बात उद्योग निदेशक सुधीर चंद्र नौटियाल ने भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआइआइ) उत्तराखंड राज्य परिषद के उद्घाटन सत्र में बतौर मुख्य अतिथि कही।

Sumit KumarThu, 02 Dec 2021 04:04 PM (IST)
बुधवार को सीआइआइ के राजपुर रोड स्थित क्षेत्रीय कार्यालय में उत्तराखंड स्टार्टअप कान्क्लेव का आयोजन किया गया।

जागरण संवाददाता, देहरादून : उत्तराखंड में स्टार्टअप पारिस्थितिकी तंत्र के विकास के लिए उद्योग और स्टार्टअप के बीच सहयोग व भागीदारी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी। यह बात उद्योग निदेशक सुधीर चंद्र नौटियाल ने भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआइआइ) उत्तराखंड राज्य परिषद के उद्घाटन सत्र में बतौर मुख्य अतिथि कही।

बुधवार को सीआइआइ के राजपुर रोड स्थित क्षेत्रीय कार्यालय में उत्तराखंड स्टार्टअप कान्क्लेव का आयोजन सीआइआइ व उद्योग विभाग ने संयुक्त रूप से किया।

कार्यक्रम में सीआइआइ स्टार्टअप काउंसिल की अध्यक्ष नलिन कोहली ने अपने विचार साझा किए। उन्होंने राज्य में स्टार्टअप को फलने-फूलने के लिए विकासात्मक संस्थानों का सहयोग व बड़े कारपोरेट्स के साथ बेहतर तालमेल को लाभकारी बताया। उन्होंने कहा कि स्टार्टअप उत्तराखंड को अपनी ताकत का आत्मनिरीक्षण करना चाहिए। साथ ही टी-हब की तर्ज पर एक विश्व स्तरीय स्टार्टअप केंद्र विकसित करने पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए। सीआइआइ उत्तराखंड राज्य परिषद के अध्यक्ष विपुल डावर ने कारपोरेट-स्टर्टअप सहयोग को और सुविधाजनक बनाने पर जोर दिया। कहा कि उद्योग-स्टार्टअप कनेक्ट कार्यक्रम की राष्ट्रव्यापी शुरुआत की गई है। कान्क्लेव में बड़ी कंपनियों के साथ साझेदारी बनाने पर केंद्रित सत्र आयोजित किया गया।

जिसमें सीआइआइ उत्तराखंड परिषद की वाइस चेयरपर्सन सोनिया गर्ग ने कहा कि स्टार्टअप किसी भी देश के पारिस्थितिकी तंत्र के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण हैं। कान्क्लेव में कई प्रतिभागियों ने आनलाइन माध्यम से भी भाग लिया।

यह भी पढ़ें- इंजीनियरिंग के छात्रों को रक्षा तकनीक में बनाएंगे दक्ष, विवि का उद्देश्य है स्टार्टअप और शोध कार्यों को बढ़ावा देना

रेनो क्विड के 400000वें ग्राहक को सौंपी चाबी

रेनो क्विड ने भारत में चार लाख वाहनों की बिक्री का कीर्तिमान हासिल किया है। इसको लेकर देहरादून में भी रेनो परिवार ने जश्न मनाया और 400000वें ग्राहक को रेनो क्विड की चाबी सौंपी गई।

दून में आयोजित कार्यक्रम में रेनो इंडिया के वाइस प्रेसीडेंट (वीपी) सेल्स एंड मार्केटिंग सुधीर मल्होत्रा ने ग्राहक को चमचमाती क्विड की चाबी सौंपी। उन्होंने कहा कि रेनो क्विड छोटी कारों के सेग्मेंट में बड़ा बदलाव लाने में सक्षम रही है। यह कार भारत के मोटर वाहन बाजार में एक सफल पेशकश साबित हुई। एसयूवी से प्रेरित डिजाइन और इस श्रेणी में शानदार फीचर के चलते रेनो क्विड ने बाजार में मजबूत पकड़ बनाई। मल्होत्रा ने कहा कि बेहतरीन वैल्यू पैकेज के चलते क्विड भारत में ही नहीं, बल्कि विदेश में भी ग्राहकों का दिल जीतने में सफल रही।

उन्होंने कहा कि ग्राहकों की तेजी से बदलती प्रकृति के साथ रेनो क्विड को ढाला गया है और इसे अत्याधुनिक बनाने का प्रयास निरंतर जारी है। रेनो क्विड 0.8एल, 1.0एल एससीई पावरट्रेन की दोनों श्रेणी में मैनुअल व आटोमैटिक विकल्पों के साथ विभिन्न वैरिएंट व नौ ट्रिम्स में उपलब्ध है। वर्तमान में रेनो के देशभर में 250 से अधिक वर्कशाप आन व्हील उपलब्ध हैं। साथ ही 500 से अधिक सेल्स व 530 सर्विस टचप्वाइंट मौजूद हैं।

यह भी पढ़ें- Uttarakhand Tourism: उत्तराखंड में अब पर्यटकों को नहीं होगी कोई दिक्कत, सुविधा को जल्द तैयार होगा गाइडेंस

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.