पारंपरिक वाद्य यंत्रों में छिपी प्रतिभा को मिलेगी पहचान, 23 अक्‍टूबर को रेंजर्स मैदान में दी जाएगी प्रस्‍तुति

उत्तरांचल प्रेस क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता में डा. जोशी ने बताया कि प्रदेश के प्रत्येक जिले से प्रतिभाओं को चिह्नित किया गया है। ये प्रतिभागी किसी विशिष्ट कला जैसे परंपरागत वाद्य यंत्रों संगीत सांस्कृतिक परंपरा शिल्प व कारीगरी से जुड़े होंगे।

Sumit KumarSun, 26 Sep 2021 08:44 PM (IST)
पारंपरिक वाद्य यंत्रों में छिपी प्रतिभा को पहचान दिलाने का बीड़ा प्रख्यात फिजीशियन डा. केपी जोशी ने उठाया है।

जागरण संवाददाता, देहरादून: उत्तराखंड में पारंपरिक वाद्य यंत्रों में छिपी प्रतिभा को पहचान दिलाने का बीड़ा दून के प्रख्यात फिजीशियन डा. केपी जोशी ने उठाया है। उनकी इस मुहिम को सरकार का भी सहयोग मिल गया है। इसी क्रम में आगामी 23 अक्टूबर को रेंजर्स मैदान में वाद्य यंत्र से जुड़े कलाकारों का प्रस्तुतिकरण होगा। इसके बाद 24 अक्टूबर को नगर निगम सभागार में मुख्यमंत्री के समक्ष बेहतर प्रदर्शन करने वालों का प्रस्तुतीकरण होगा।

रविवार को उत्तरांचल प्रेस क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता में डा. जोशी ने बताया कि प्रदेश के प्रत्येक जिले से प्रतिभाओं को चिह्नित किया गया है। मुख्य रूप से दूरदराज के क्षेत्रों से प्रतिभाओं को ढूंढकर लाया गया है। जिन्हेंं अभी तक राज्य या राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन का अवसर नहीं मिला है। ये प्रतिभागी किसी विशिष्ट कला जैसे परंपरागत वाद्य यंत्रों, संगीत, सांस्कृतिक परंपरा, शिल्प व कारीगरी से जुड़े होंगे। साथ ही रिंगाल, लकड़ी, ऊन, नेचुरल फाइबर, ताम्र आदि का काम करते हों। उन्होंने बताया कि जिला स्तर पर समिति बनी है, जो प्रतिभाओं का चयन कर रही है। 23 अक्टूबर को आयोजित होने वाले कार्यक्रम में लोकगायक नरेंद्र सिंह नेगी और प्रीतम भरतवाण सहित चार व्यक्तियों का निर्णायक मंडल होगा।

बेहतर प्रदर्शन करने वाले अगले दिन नगर निगम सभागार में प्रस्तुति देंगे। डा. जोशी ने बताया कि पहाड़ से आए सभी कलाकारों का खर्च उनकी ओर से वहन किया जाएगा। सभी को मानदेय भी दिया जाएगा। इसका उद्देश्य यह है कि उत्तराखंड की जो कला लुप्त हो रही है, उसे आगे बढ़ाया जाए। इस दौरान उद्योग विभाग के निदेशक सुधीर नौटियाल भी मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें- युवा कांग्रेस ने किया प्रदर्शन, कहा- लोक कलाकारों को बढ़े मानदेय के साथ मिले सम्मान

 

नंदन सिंह बने अध्यक्ष, हरीश सचिव चुने गए

देहरादून: कूर्मांचल सांस्कृतिक एवं कल्याण परिषद, शिवालिक, इंदिरा नगर शाखा की कार्यकारिणी का चुनाव रविवार को संपन्न हुआ। इसमें सर्व सहमति से नंदन सिंह बिष्ट अध्यक्ष, हरीश सनवाल सचिव, प्रताप सिंह बिष्ट कार्यकारी अध्यक्ष, गोविंद शर्मा वरिष्ठ उपाध्यक्ष, गजेंद्र सिंह सलाल व माधवी बोर उपाध्यक्ष, पूजा बिष्ट सह सचिव, जीवन चंद्र चंदोला कोषाध्यक्ष, गिरीश सनवाल, हेमा ध्यानी व सुनीता भंडारी संगठन सचिव, गगन वर्मा व शांति चंदोला सचिव प्रचार एवं प्रसार, दिनेश पांडे, भावना जोशी, शांति पंत सांस्कृतिक सचिव चुने गए। चुनाव अधिकारी प्रेम सिंह रावत, गोविंद पांडे, केंद्रीय पर्यवेक्षक डीएस पपोला, बबिता लोहानी की मौजूदगी में चुनाव प्रक्रिया संपन्न हुई।

यह भी पढ़ें- Smart City Project: डीएम राजेश कुमार ने दिए निर्देश, स्मार्ट सिटी के कार्यों से हो रही परेशानी करें दूर

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.