उत्तराखंड में मौसम के तेवर तल्ख, कुमाऊं में हो सकती है भारी बारिश

देहरादून, [जेएनएन]: उत्तराखंड मौसम के मिजाज बुधवार को नरम रहे, लेकिन मुसीबत की मार जारी है। भूस्खलन से सड़कें क्षतिग्रस्त हैं तो दरकते पहाड़ जिंदगी पर भारी पड़ रहे हैं। पौड़ी जिले के यमकेश्वर ब्लाक में एक कार पर पत्थर गिरने से उसमें सवार तीन लोग बाल-बाल बच गए। हालांकि उन्हें चोटें आई हैं। प्रदेश में 50 से ज्यादा संपर्क मार्गों पर मलबा आने से वाहनों की आवाजाही बाधित है। मौसम विभाग के अनुसार गुरुवार को भी मौसम तल्ख रह सकता है। विशेषकर कुमाऊं क्षेत्र में भारी बारिश की आशंका बरकरार है।

बुधवार को पौड़ी जिले के यमकेश्वर ब्लाक में कार से बच्चे को टीका लगवाने के लिए स्थानीय अस्पताल जा रहा एक परिवार बड़े हादसे का शिकार होने से बाल-बाल बचा। सिलोगी मोटर मार्ग पर मोहनचट्टी के पास अचानक चलती कार पर एक बड़ा बोल्डर आकर गिरा। हादसे में पति, पत्नी और बच्चे को हल्की चोटें आई हैं।

उन्हें प्राथमिक उपचार के बाद छुट्टी दे दी गई। दूसरी ओर चार धाम मार्गों पर भी बार-बार मलबा आने से यातायात बाधित होता रहा। सीमा सड़क संगठन के जवान मलबे को हटाकर आवाजाही सुचारु करते रहे।

बारिश से शहर हुआ पानी-पानी, लोगों में दहशत 

इससे पहले दून में मंगलवार को हुई मूसलाधार बारिश से पूरा शहर पानी-पानी हो गया। कई इलाकों में बादल फटने जैसी बारिश ने लोगों को दहशत में डाल दिया। बारिश का पानी सड़कों और गलियों पर बाढ़ की तरह दिखाई दिया। जलभराव की जद में आने वाली कॉलोनियों में अफरा-तफरी की स्थिति रही। घर और दुकानों के अंदर तक पानी घुसने से लोगों को नुकसान भी हुआ।

मंगलवार को सुबह रिमझिम बारिश के बीच कई बार धूप भी खिलती रही। मगर, शाम को हुई मूसलाधार बारिश शहर पर आफत बनकर बरसी। बारिश से शहर की मुख्य सड़कों से लेकर लिंक मार्ग और गलियां तक तालाब में तब्दील हो गईं। गंदा पानी लोगों के घरों और दुकानों में घुस गया। उधर, रिस्पना, बिंदाल नदी में उफान के कारण किनारों पर रहने वाले लोग दहशत में आ गए। 

इन इलाकों में घरों में घुसा पानी 

इंडियन एकेडमी के पास गढ़वाली कॉलोनी, छह नंबर पुलिया से लगा आबादी क्षेत्र, डोभालवाला चौक के पास, तेग बहादुर रोड, बलवीर रोड, नेशविला रोड, नालापानी रोड, घोसी गली, पलटन बाजार, कांवली रोड, ब्राह्मणवाला, राजीव जुयाल मार्ग, पटेलनगर, चमन बिहार, चंद्रबनी, बंजारावाला, आदर्शनगर कॉलोनी, विष्णुपुरम कॉलोनी, मार्डन कॉलोनी, धर्मपुर, सुमन नगर कॉलोनी, आर्यनगर, राजपुर रोड आदि कॉलोनी में बारिश का पानी घरों में घुस गया। 

शहर में यहां बने तालाब 

राजपुर रोड यूकेलिप्टस चौराहा, एस्लेहॉल, कनकचौक, घंटाघर, इंद्रमणि बड़ोनी की मूर्ति के सामने, दर्शनलाल चौक, बुद्धा चौक, तहसील चौक, प्रिंस चौक, कांवली रोड, हरिद्वार रोड, जीएमएस रोड, निरंजपुर मंडी, आइएसबीटी, मोहकमपुर, रिस्पना, नेहरू कॉलोनी, रेसकोर्स में सड़कें पानी भरने से तालाब में तब्दील हो गई। 

बारिश में फंसी रही आपदा टीम 

घर और दुकानों में पानी भरने की सूचना पर लोगों ने आपदा कंट्रोल रूम को सूचना दी। आपदा प्रबंधन दल, नगर निगम और फायर सर्विस की टीमें भेजी गईं, लेकिन सड़कें जलमग्न होने से टीमें घंटों फंसी रहीं। बंजारावाला और पटेलनगर तक पहुंचने में टीम को पौन घंटे से एक घंटे का समय लगा। 

पूर्व विधायक भी फंसे 

डालनवाला क्षेत्र में बारिश से अधिकांश सड़कें जलमग्न हो गई। यहां पूर्व विधायक राजकुमार लोगों की मदद करने के लिए निकले। मगर, उनका वाहन भी फंस गया। 

जिलाधिकारी एसए मुरूगेशन ने बताया कि मौसम विभाग ने बारिश को लेकर कोई अलर्ट नहीं दिया था। अचानक हुई बारिश से शहर का अधिकांश हिस्सा जलमग्न हो गया। बारिश से बड़े नुकसान की जानकारी नहीं है। जलभराव वाले इलाकों से पानी की निकासी कराई जा रही है। 

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में राहत नहीं दे रहा मौसम, ऋषिकेश में नाले का पानी स्कूल और घरों में घुसा

यह भी पढ़ें: उत्‍तराखंड में भारी बारिश के आसार, जिलाधिकारियों को जारी किया अलर्ट

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.