हरितालिका तीज पर मांगी पति की लंबी आयु

जागरण संवाददाता, विकासनगर: बुधवार को पछवादून में हरितालिका तीज पर गोर्खाली महिलाओं ने दिनभर निर्जला व्रत रखकर सायं को शिव-पार्वती की पूजा-अर्चना की। गोर्खाली महिलाओं ने पति की लंबी आयु की कामना की। तीज को लेकर पूरे पछवादून व जौनसार-बावर में गोर्खाली समुदाय में उल्लास रहा।

गुरुवार को जौनसार-बावर, विकासनगर, बाड़वाला, हरिपुर, डाकपत्थर, हरबर्टपुर, सहसपुर, सेलाकुई, भाऊवाला आदि क्षेत्रों में गोर्खाली महिलाओं ने हरितालिका तीज पर निर्जला व्रत रखा। विकासनगर के तेलपुर गांव में गोर्खाली महिलाओं ने व्रत रख पति की दीर्घायु की कामना की। बालू का शिव¨लग बनाकर बेलपत्र, दूर्वा, दूध, घी, फल-फूल चढ़ाकर भगवान शिव-पार्वती के पूरे परिवार की प्रतिमा मंदिर में स्थापित करके व्रत के नियमों का विधि पूर्वक पालन किया। पूरे दिन निर्जल निराहार रहकर संध्या पूजा में दीप जलाकर आरती की। हरितालिका तीज गोर्खाली महिलाओं का महत्वपूर्ण पर्व है, इस दिन सुहागिन महिलाएं पूर्ण श्रृंगार कर पति की दीर्घायु के लिए व्रत रखती हैं और विधिपूर्वक रेत का शिव¨लग बनाकर मंदिर में स्थापित किया। शिव-पार्वती की प्रतिमा रखकर अखंड जोत प्रज्वलित कर पूजा की। संध्या पूजन के बाद गोर्खाली महिलाओं ने फलाहार से व्रत खोला। रातभर भजन-कीर्तन में नाच गाकर रात्रि जागरण किया। अगले दिन सुबह स्नान करके शिव¨लग को नदी में विसर्जित कर दिया जाता है। तेलपुर मे महिलाओं ने तीज के गीत नेपाल की छोरी हूं मा.., तीज को बेला माईत आयेको., फूलबुट्टे सारी., तीज को रहर आयो बरिलई..गाकर खूब मनोरंजन किया। गोर्खाली सुधार सभा के विकासनगर शाखा अध्यक्ष जोगेंद्र शाह ने व्रत रखने वाली महिलाओं को फलों की टोकरी भेंट की। इस मौके पर लक्ष्मी थापा, लीला थापा, स्वाति थापा, अनुपमा थापा, अनु थापा, शालिनी थापा, भावना राना, सुनीता थापा, अमिता थापा, सोनी गुरुंग, नीरू राना, मीनू शाह, नंदी बिष्ट, वीना खत्री, सोनी गुरूंग, नरेंद्र ¨सह थापा, डा. योगेन्द्र थापा, नीरज थापा, संदीप राना, विपेन्द्र थापा, किरन गुरूंग, दीक्षांत थापा आदि मौजूद रहे।

-----

लक्ष्मणपुर में हरितालिका तीज की धूम

विकासनगर: लक्ष्मणपुर में गोर्खाली समाज की महिलाओं ने पारंपरिक रीति रिवाजों के साथ धूमधाम से हरितालिका तीज मनाई। गोर्खाली समाज में मान्यता है कि माता पार्वती द्वारा वन में हरियाली के बीच कठोर तप कर भगवान शिव को पति परमेश्वर के रूप में प्राप्त किया था। तीज के बाद ही गोर्खाली समाज में बहन, बेटी, भांजियों को दर खिलाने की प्रथा प्रारंभ होती है। लक्ष्मणपुर में तीज उत्सव में शांति गुरुंग, लक्ष्मी क्षेत्री, माला शर्मा, सरस्वती थापा, भारती थापा, ज्योति थापा, मीनू गुरुंग, प्रतिमा क्षेत्री, प्रिया गुरुंग, इना थापा, सुनीता खत्री, किरन थापा, सुरेखा आले, ईशा राणा, पूनम प्रधन, शीतल क्षेत्री, सपना थापा, नीलम क्षेत्री आदि मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.