मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कुंभ के मद्देनजर संतों और श्रद्धालुओं से मांगा सहयोग, की ये अपील

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कुंभ के मद्देनजर संतों और श्रद्धालुओं से मांगा सहयोग।

Haridwar Kumbh Mela 2021 कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री ने कुंभ के मद्देनजर संतों और श्रद्धालुओं से सहयोग मांगा। कुंभ को अब प्रतीकात्मक रखे जाने की पीएम मोदी की अपील के बाद सीएम ने भी सभी से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग की अपील की है।

Raksha PanthriSun, 18 Apr 2021 07:05 AM (IST)

राज्य ब्यूरो, देहरादून। Haridwar Kumbh Mela 2021  उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कुंभ के मद्देनजर संतों और श्रद्धालुओं से सहयोग मांगा है। कुंभ को अब प्रतीकात्मक रखे जाने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की संतों से अपील के बाद मुख्यमंत्री ने भी स्वयं को इससे जोड़ते हुए सभी से कोरोना के खिलाफ लड़ाई में सहयोग की अपील की है।

देश के अन्य हिस्सों की भांति उत्तराखंड में भी पिछले एक पखवाड़े में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़े हैं। वर्तमान में प्रदेश का कोई जिला ऐसा नहीं है, जहां कोरोना के सक्रिय मामले न हों। हरिद्वार, देहरादून व नैनीताल जिले तो हाट स्पाट बनकर उभरे हैं। हरिद्वार में कोरोना के साये में ही अब तक कुंभ के दो शाही स्नान हो चुके हैं। वहां कई संत भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आए हैं। सूरतेहाल चिंता अधिक बढ़ गई है। इसी कड़ी में प्रधानमंत्री ने कुंभ को प्रतीकात्मक रखे जाने की अपील की है।इस सबको देखते हुए अब प्रदेश सरकार सतर्क और सक्रिय हो गई है। 

प्रदेशभर में लागू रात्रि कर्फ्यू की अवधि साढ़े छह घंटे से बढ़ाकर आठ घंटे कर दी गई है। 30 अप्रैल तक रविवार को साप्ताहिक कोविड कर्फ्यू समेत अन्य कई कदम उठाए गए हैं। इसके साथ ही मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने कुंभ के दृष्टिगत संत समाज और श्रद्धालुओं से कोरोना के विरुद्ध लड़ाई में सहयोग का आग्रह किया है। साथ ही उन्होंने कहा कि संत समाज और आमजन की सुरक्षा के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध है।

यह भी पढ़ें- उत्तराखंड में तेजी से बढ़ रहा कोरोना संक्रमण, जानिए कोरोना के मोर्चे पर क्‍या हैं चार बड़ी चुनौती

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों से जुड़ी प्रमुख जानकारियों और आंकड़ों के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.