कारोबारी के परिवार को बंधक बनाकर डकैतों ने उड़ाए गहने और लाखों की नगदी, कुछ दिनों में बेटे और बेटी की होनी है शादी

धनपुरा में बदमाशों ने एक भैंस कारोबारी के परिवार को तमंचे की नोक पर बंधक बनाकर डकैती को अंजाम दे डाला। घर से लाखों के जेवरात और नकदी लेकर बदमाश फरार हो गए। पुलिस और एसओजी की टीमें बदमाशों की तलाश में जुटी है।

Raksha PanthriTue, 07 Dec 2021 10:52 AM (IST)
कारोबारी के परिवार को बंधक बनाकर डकैतों ने उड़ाए गहने और लाखों की नगदी।

जागरण संवाददाता, हरिद्वार। पथरी क्षेत्र के धनपुरा में बदमाशों ने एक भैंस कारोबारी के परिवार को तमंचे की नोक पर बंधक बनाकर डकैती को अंजाम दिया। बदमाश घर से लाखों के जेवरात और तीन लाख की नकदी लेकर फरार हो गए। पीड़ि‍त परिवार का दावा है कि बदमाशों की संख्या 10 से ज्यादा थी और सभी हथियारबंद थे। बावजूद इसके पुलिस घटना को लूट बता रही है, उसने मुकदमा भी डकैती के बजाय लूट की धाराओं में दर्ज किया। पुलिस का दावा है कि उसने तीन संदिग्धों को हिरासत ले लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है।

गांव धनपुरा में लक्सर रोड पर भैंस कारोबारी मासूम का घर है। चंद दिनों बाद ही बेटे शमीम और बेटी नेहा की शादी होनी है। इसलिए शादी की तैयारी को लेकर जेवरात आदि सामान खरीद कर रखा गया था। सोमवार रात मासूम घर के बाहर सोया हुआ था। आधी रात बदमाशों ने तमंचे की नोंक पर मासूम को जगाया और घर का दरवाजा खुलवाकर अंदर घुस गए। इसके बाद बदमाशों ने तमंचे के बल पर मासूम व उसकी पत्नी नसरीन, बेटे शमीम, बेटी नेहा व सबा को बंधक बना लिया। उन्हें रस्सी से बांध दिया। परिवार पुलिस को खबर न कर दे, इसलिए उनके मोबाइल फोन भी अपने कब्जे में ले लिए।

इसके बाद डकैतों ने घर से लाखों के जेवर, तीन लाख की नकदी समेट ली और भाग निकले। डकैतों के जाने के कुछ देर बाद परिवार ने जैसे-तैसे खुद को मुक्त कराते हुए पुलिस को सूचना दी। डकैती की जानकारी मिलने से पुलिस में हड़कंप मच गया। सीओ लक्सर बहादुर सिंह चौहान, पथरी थानाध्यक्ष रविंद्र कुमार, फेरुपुर चौकी प्रभारी चरण सिंह चौहान ने आनन-फानन मौके पर पहुंचकर घटना की जानकारी ली। परिवार ने पुलिस को बताया कि बदमाशों की कुल संख्या 10 से अधिक थी और सभी हथियारबंद थे। कुछ बदमाशों ने घर में घुसकर उन्हें हथियारों के बल पर काबू में किया हुआ था, जबकि बाकी बाहर निगरानी कर रहे थे। इस मामले में पुलिस ने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ लूट का मुकदमा दर्ज कर लिया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डा. योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि बदमाशों की धरपकड़ के लिए टीमें गठित कर दी गई है। जल्दी आरोपितों को गिरफ्तार कर घटना का पर्दाफाश कर लिया जाएगा।

कटारपुर में भी इसी ढंग से हुई थी डकैती

पथरी थानाक्षेत्र में परिवार को बंधक बनाकर डाका डालने की यह दूसरी घटना है। कटारपुर में करीब दो महीने पहले बदमाशों ने इसी स्टाइल में नेवी कर्मचारी के परिवार को बंधक बनाकर डकैती को अंजाम दिया था। ताजा घटना में बदमाशों की संख्या को देखते हुए यह माना जा रहा है कि बदमाश किसी चौपहिया वाहन में सवार होकर आए होंगे। यह भी संभव है कि उन्होंने अपना वाहन कहीं दूर खड़ा किया हो। घटना के पीछे किसी संगठित गिरोह का हाथ माना जा रहा है। लेकिन लोकल अपराधी की संलिप्तता से भी पुलिस इन्कार नहीं कर रही है।

गश्त न होने से ग्रामीण नाराज

ग्रामीणों ने घटना पर नाराजगी जताई है। उनका कहना है कि क्षेत्र में गश्त नहीं हो पा रही है। इसी कारण बदमाश लगातार घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। वहीं पुलिस भी इस सच को कुबूल कर रही है। लेकिन पुलिस का कहना है कि फेरुपुर पुलिस चौकी में स्टाफ की कमी है।

यह भी पढ़ें- हरिद्वार में आंखों में मिर्च झोंक लूट करने वाला आरोपित निकला उक्रांद का जिला महामंत्री

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.